Advertisement

Delhi

  • Jul 20 2019 4:20PM
Advertisement

दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी और राहुल गांधी ने जताया शोक

दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी और राहुल गांधी ने जताया शोक

नयी दिल्ली : कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का आज दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है. उनके निधन की सूचना दोपहर बाद लगभग चार बजे आयी, वे 81 वर्ष की थीं. पिछले कुछ दिनों से शीला दीक्षित बीमार चल रही थीं और सुबह ही अस्पताल में भरती हुईं थीं.

कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने बताया कि एक से डेढ़ घंटे में उनके पार्थिव शरीर को घर पहुंचाया जायेगा. उसके बाद कल सुबह यह तय किया जायेगा कि पार्थिव शरीर को कांग्रेस हेडक्वार्टर में कब रखा जायेगा और कितने बजे निगम बोध घाट के लिए अंतिम यात्रा शुरू की जायेगी.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर ट्‌वीट करके शोक जताया है. पीएम मोदी ने शीला दीक्षित के साथ अपनी तसवीर ट्‌वीट की है. कांग्रेस के अधिकारिक ट्‌विटर हैंडिल से भी उनके निधन पर शोक जताया गया है. कांग्रेस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हम शीला दीक्षित के निधन पर शोक व्यक्त करते हैं , वे आजीवन कांग्रेस की सदस्य और तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं. उन्होंने दिल्ली के चेहरे को बदलकर रख दिया. हम इस दुख की घड़ी में उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं. उम्मीद है वे इस दुख की घड़ी में हिम्मत से काम लेंगे.



 
 

राहुल गांधी ने भी शीला दीक्षित के निधन पर ट्‌वीट करके शोक जताया है. राहुल गांधी ने लिखा मैं शीला दीक्षित के निधन से दुखी हूं, वे कांग्रेस पार्टी की प्रिय बेटी थीं और मेरे उनके साथ व्यक्तिगत संबंध थे. मैं दुख की इस घड़ी में उनके परिवार और दिल्लीवासियों के प्रति संवेदना जताती हूं. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी शीला दीक्षित के निधन पर शोक जताया है, वे अभी उत्तर प्रदेश में हैं. प्रियंका ने कहा वे हमसे बहुत प्यार से मिलती थीं, हमें गले लगाती थीं, यह सब हमेशा याद रहेगा. 


 

तीन बार रहीं थीं दिल्ली की मुख्यमंत्री 

दीक्षित 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं थीं और वे एक तेज तर्रार नेता मानी जाती थीं. उन्होंने 1998 से 2013 तक दिल्ली के मुख्यमंत्री का पद संभाला. वे वर्ष 2014 में केरल की राज्यपाल भी रहीं थीं.  31 मार्च 1938 में पंजाब के कपूरथला में जन्मी शीला दीक्षित की स्कूली शिक्षा दिल्ली में हुई थी. उन्होंने दिल्ली के मिरांडा हाउस से इतिहास में एमए किया था. शीला दीक्षित की शादी उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हुई थी. इनके ससुर उमाशंकर दीक्षित स्वतंत्रता सेनानी तथा बंगाल के राज्यपाल भी रहे थे. शीला दीक्षित के पति विनोद दीक्षित भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी थे.  इनकी दो संतानें हैं, एक पुत्र संदीप दीक्षित व एक पुत्री हैं.
 
यह भी पढ़ें- 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement