Advertisement

bbc news

  • Mar 9 2018 7:23AM

कौन हैं बांग्लादेश के ख़िलाफ जीत के हीरो विजय शंकर

कौन हैं बांग्लादेश के ख़िलाफ जीत के हीरो विजय शंकर

विजय शंकर

AFP/Getty Images

शिखर धवन गुरुवार को जब कोलंबो में बांग्लादेश के गेंदबाज़ों की ख़बर ले रहे थे तो स्टैंड्स में मौजूद भारतीय समर्थक लगातार उछल रहे थे.

उन्होंने 43 गेंदों में 55 रन की पारी खेली.

धवन ने पांच चौके और दो छक्कों से सजी अपनी पारी के जरिए उस कसक को दूर कर दिया जो श्रीलंका के ख़िलाफ मिली हार की वजह से दिल में थी. धवन ने श्रीलंका के ख़िलाफ 90 रन बनाए थे.

भारत की जीत में धवन ने बल्ले से सबसे अहम भूमिका निभाई लेकिन उन्हें जीत का सबसे बड़ा नायक यानी मैन ऑफ द मैच नहीं चुना गया.

बांग्लादेश की पारी में सबसे ज़्यादा तीन विकेट लेने वाले जयदेव उनदकट भी मैन ऑफ द मैच चुनने वाली ज्यूरी को मैच के सबसे बड़े खिलाड़ी नहीं लगे.

बांग्लादेश के ख़िलाफ मैन ऑफ द मैच चुने गए महज दूसरा अंतरराष्ट्रीय ट्वेंटी-20 मुक़ाबला खेल रहे विजय शंकर.

धवन की धमक बरकरार, भारत ने बांग्लादेश को हराया

विजय शंकर
AFP/Getty Images

गेंद से कमाल

बतौर ऑल राउंडर टीम में खेलने वाले विजय शंकर ने अपनी गेंदबाज़ी से प्रभावित किया.

उन्होंने चार ओवरों में 32 रन देकर दो विकेट हासिल किए. इनमें बांग्लादेश के कप्तान महमुदुल्लाह का विकेट शामिल है.

भारतीय टीम में जगह बनाने को बड़ी बात मानने वाले विजय शंकर ने मैच के बाद कहा, "हर क्रिकेटर इस टीम का हिस्सा बनने का ख्वाब देखता है. मेरे लिए ये गर्व का पल है. "

श्रीलंका के ख़िलाफ मंगलवार को हुए ट्वेंटी-20 मैच से विजय ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी लेकिन उस मैच में उन्हें सिर्फ दो ओवर गेंदबाज़ी करने का मौका मिला. श्रीलंका के ख़िलाफ उन्होंने 15 रन खर्च किए और कोई विकेट नहीं ले सके.

बांग्लादेश के ख़िलाफ गुरुवार के मैच में कप्तान रोहित शर्मा ने उन्हें सातवें ओवर में गेंद थमाई. इस ओवर में विजय शंकर की गेंद पर सुरेश रैना और वाशिंगटन सुंदर ने लितन दास को दो बार जीवनदान दिया और लगा कि किस्मत गेंदबाज़ के साथ नहीं है.

लेकिन, अगले दो ओवरों में दो विकेट लेकर विजय शंकर ने ज़ोरदार वापसी की.

विजय शंकर
AFP/Getty Images

ऑलराउंडर हैं विजय शंकर

तमिलनाडु और इंडिया ए टीमों का हिस्सा रहे 27 बरस के विजय शंकर ऑलराउंडर हैं. प्रथम श्रेणी मुक़ाबलों में पांच शतकों की मदद से वो 1671 रन बना चुके हैं. उन्होंने प्रथम श्रेणी मुक़ाबलों में 27 विकेट भी लिए हैं.

विजय ने शुरुआत ऑफ स्पिनर के तौर पर की थी लेकिन तमिलनाडु की टीम में कई स्पिनर होने की वजह से बाद में वो मध्यम तेज़ गेंदबाज़ी करने लगे.

बांग्लादेश के ख़िलाफ मैच के बाद विजय ने कहा कि वो अपनी गेंदबाज़ी पर ख़ास ध्यान देते हैं.

उन्होंने कहा, "बीते कुछ साल से मैं गेंदबाज़ी पर मेहनत कर रहा हूं. बॉलिंग से मुझे अपने खेल का दायरा बढ़ाने में मदद मिलती है."

हार्दिक पांड्या को आराम देकर टीम में लाए गए विजय शंकर आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद टीमों का हिस्सा रहे हैं.

गेंदबाज़ी में असर छोड़ने वाले विजय शंकर को अभी टीम इंडिया के लिए बल्लेबाज़ी का मौका नहीं मिला है.

कितनी होती है भारतीय क्रिकेटर्स की कमाई?

शिखर धवन और जसप्रीत बुमराह होंगे मालामाल, सालाना कांट्रैक्ट से शमी-युवी बाहर

कोलंबो में भारत पर लंका का डंका

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

]]>

Advertisement

Comments

Advertisement