1. home Hindi News
  2. national
  3. vidhansabha elections 2021 bhartiya kisan union balbir s rajewal says we send teams to poll bound states west bengal and kerala against bjp candidates smb

चुनावी राज्यों में किसान बढ़ायेंगे भाजपा की मुश्किलें, जानें क्या है मास्टर प्लान

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bhartiya Kisan Union Leader Balbir S Rajewal
Bhartiya Kisan Union Leader Balbir S Rajewal
ANI

Bhartiya Kisan Union Latest News Updates केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है. इस बीच भारतीय किसान मोर्चा ने मंगलवार को बड़ी घोषणा की है. कृषि कानूनों के खिलाफ किसान मोर्चा ने आज अपने आंदोलन को तेज करने की बात करते हुए चुनावी राज्यों को लेकर अपनी खास रणनीति का भी एलान किया है. किसान मोर्चा के नेता बलबीर राजेवाल ने कहा कि पश्चिम बंगाल और केरल समेत सभी चुनावी राज्यों में संयुक्त किसान मोर्चा की टीम दौरा करेगी. इस दौरान टीम आम जनता से भारतीय जनता पार्टी (BJP) को हराने वाले उम्मीदवार को वोट करने की अपील करेगी.

गौर हो कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का एलान होने के साथ ही राजनीतिक गतिविधियां तेज हो गई है. इसी कड़ी में भारतीय किसान मोर्चा की ओर आज की गयी घोषणा को लेकर चर्चाओं का बाजार गरम हो गया है. भारतीय किसान मोर्चा के नेता बलबीर राजेवाल ने कहा कि टीम के सदस्य किसी पार्टी को अपना समर्थन नहीं देंगे. लेकिन, वोटरों के बीच जाकर उन्हें यह समझाने का प्रयास करेंगे कि वैसे उम्मीदवारों को वोट करें जो भाजपा प्रत्याशियों को हरा सकता है. उन्होंने कहा कि टीम के सदस्य लोगों को यह समझाएंगे कि किसानों के प्रति मोदी सरकार का क्या रुख हैं.

इसके साथ ही बलबीर राजेवाल ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान 6 मार्च को सुबह 11 बजे से केएमपी एक्सप्रेस-वे को 5 घंटे के लिए बाधित करेंगे. राजेवाल ने बताया कि किसान सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक केएमपी एक्सप्रेसवे पर अलग-अलग जगहों पर सड़क बंद करेंगे. वहीं, किसान नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि दस ट्रेड संगठनों के साथ हमारी बैठक हुई है. सरकार सार्वजनिक क्षेत्रों का जो निजीकरण कर रही है उसके विरोध में 15 मार्च को पूरे देश के मजदूर और कर्मचारी सड़क पर उतरेंगे और रेलवे स्टेशनों के बाहर जाकर धरना प्रदर्शन करेंगे.

संयुक्त किसान मोर्चा ने यह भी कहा कि सरकार की तरफ से किसानों के आंदोलन को समाप्त करने का प्रयास किया गया था. केंद्र सरकार में हरियाणा के जो 3 केंद्रीय मंत्री हैं, उन तीन केंद्रीय मंत्रियों का उनके गांव में प्रवेश पर रोक लगा दी जाएगी. गौर हो कि किसान मोर्चा की ओर से 12 मार्च को कोलकाता में किसानों की ओर से एक रैली को संबोधित किया जाएगा और इसके बाद किसान नेता सभी विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के खिलाफ किसानों की चिट्ठी लेकर जाएंगे और उनसे मुलाकात करेंगे.

Upload By Samir Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें