1. home Home
  2. national
  3. uttar pradesh latest politics news former mp atiq ahmed joined asaduddin owaisis party aimim with his entire family before up election 2022 smb

यूपी चुनाव से पहले पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद पूरे परिवार संग ओवैसी की पार्टी AIMIM में हुए शामिल

UP Chunav 2021यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश में सियासी गतिविधियां तेज हो गई है. इन सबके बीच, उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. विधानसभा चुनाव से ठीक से पहले पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद पूरे परिवार के साथ असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम में शामिल हो गए हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Asaduddin Owaisi handed over Atiq Ahmad membership ticket to his wife
Asaduddin Owaisi handed over Atiq Ahmad membership ticket to his wife
twitter

UP Chunav 2021 यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश में सियासी गतिविधियां तेज हो गई है. इन सबके बीच, उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आ रही है. विधानसभा चुनाव से ठीक से पहले पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद पूरे परिवार के साथ असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) में शामिल हो गए हैं. पूर्व सांसद अतीक अहमद अपनी पत्नी शाइस्ता परवीन को आज एआईएमआईएम की सदस्यता दिलाई गयी.

सियासी गलियारों में चर्चा तेज है कि प्रयागराज पश्चिमी सीट से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम शाइस्ता परवीन को टिकट दे सकती है. एआईएमआईएम को प्रयागराज में गहरी पैठ रखने वाले अतीक अहमद के समर्थन से समाजवादी पार्टी (SP) को नुकसान पहुंच सकता है. राजनीतिक प्रेक्षकों की मानें तो एआईएमआईएम के इस सियासी दांव से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव की परेशानी बढ़ सकती हैं. दरअसल, दोनों पार्टियों की नजर विशेष तौर मुस्लिम वोट बैंक पर है.

बता दें कि पूर्व सांसद अतीक अहमद से समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव पहले ही दूरी बना चुके हैं. फूलपुर लोकसभा सीट से पार्टी से टिकट नहीं मिलने पर नाराज अतीक अहमद ने यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ा था. हालांकि, समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार ने सीट पर जीत हासिल कर ली थी.

पांच बार विधायक रहे अतीक अहमद साल 2004 में एक बार सांसद रहे हैं. दो बार समाजवादी पार्टी में शामिल हो चुके हैं और दो बार डॉ. सोनेलाल पटेल द्वारा शुरू किए गए अपना दल में भी रह चुके हैं. मौजूदा समय में उनका परिवार किसी भी पार्टी में नहीं था. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले समाजवादी पार्टी ने अतीक अहमद को बाहर का रास्ता दिखा दिया था. उन्हें पिछले विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं दिया गया था.

वहीं, पिछले एक साल से अतीक अहमद के खिलाफ तेजी से कार्रवाई चल रही है. कई इलाकों में मौजूद अतीक अहमद की संपत्तियों के अलावा चकिया स्थित उसके और उसके भाइयों व करीबियों सहित रिश्तेदारों के मकान प्रयागराज विकास प्राधिकरण ढहा चुका है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें