1. home Hindi News
  2. national
  3. tik tok ban india live update chinese apps ban in india digital strike on china pm narendra modi govt ban 59 chinese apps amid ladakh faceoff

TikTok ban: भारत में बैन के बाद गूगल प्ले-स्टोर और एपल ऐप स्टोर से TikTok गायब

By Utpal Kant
Updated Date
चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप मोदी सरकार ने बैन किए
चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, टिक टॉक सहित 59 चायनीज ऐप मोदी सरकार ने बैन किए
File

Tik Tok, Chinese Apps Ban in India, Tik Tok ban india, Ladakh faceoff: एलएसी पर तनातनी के बीच केंद्र सरकार ने दुनिया के सबसे पॉपुलर ऐप्स मे से एक टिकटोक सहित 59 चाइनीज मोबाइल ऐप को भारत में बैन कर दिया गया है. सरकार के इस फैसले के साथ ही सोशल मीडिया पर मीम्स की भी बाढ़ आ गई है. लोग इस पर खूब मजेदार मीम्स शेयर कर रहे हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

चीन के ये लोकप्रिय ऐप नहीं हुए हैं बैन

सरकार ने चीन के सभी ऐप को बैन नहीं किया है. अभी भी चीन की कंपनियों के ऐप प्ले स्टोर पर डाउनलोड किए जाने के लिए उपलब्ध हैं.

PUBG Mobile

PUBG Lite

MV Master

AliExpress

TurboVPN

App Lock by DoMobile

email
TwitterFacebookemailemail

कपिल सिब्बल को पसंद नहीं आया मोदी सरकार का फैसला

कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल ने मोदी सरकार के इस निर्णय पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमारी जमीन को वापस लो जबकि आप चीन की ऐप्स बैन कर रहे हैं. सुरक्षा में जो गैप हैं उनको भरने की कोशिश करो, आप पर हमारे भरोसे को टूटने ना दो. हमारे वीर जवानों ने चीनी सेना को वापस भेजकर उन्हें फिर से नया मानचित्र बनाने के लिए मजबूर किया है.

email
TwitterFacebookemailemail

चाइनीज ऐप्स पर बैन परमानेंट या कुछ समय के लिए?

सोशल मीडिया पर कई लोग सवाल पूछ रहे हैं कि कि क्या इन ऐप पर बैन परमानेंट होगा या कुछ वक्त के लिए. हालांकि, सरकार ने इन ऐप से देश की रक्षा, सुरक्षा और निजता को खतरा बताया है, ऐसे में आगे क्या इनसे बैन हटाया जा सकता है ये अनुमान थोड़ा मुश्किल है. लेकिन मद्रास हाई कोर्ट के आदेश पर पिछले साल कुछ दिन के लिए टिकटॉक पर बैन लगाया गया था, लेकिन कोर्ट का आदेश हटते ही ऐप वापस आ गया था.सरकार की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में लोगों से इन ऐप्स को अनइंस्टॉल करने की अपील नहीं की गई है. जिन लोगों के मोबाइल पर ये ऐप्स इंस्टॉल्ड हैं, वे तब तक मौजूद रहेंगे जब वे उन्हें मैनुअली नहीं हटाएंगे. हालांकि,ऐप स्टोर से हट जाने के बाद वे अपने स्मार्टफ़ोन में इस्टॉल किए गए ऐप्स को अपडेट नहीं कर पाएंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

कई औऱ चीनी ऐप पर लग सकता है बैन

केंद्र सरकार ने 59 चाइनीज ऐप पर पाबंदी के गूगल और इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स को भी संबंधित ऐप हटाने के निर्देश दे दिए हैं. इस बीच जानकारी ये भी आ रही है कि सरकार चीन को आगे भी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर झटका दे सकती है.

email
TwitterFacebookemailemail

गूगल प्ले-स्टोर और एपल ऐप स्टोर से TikTok गायब

केंद्र सरकार द्वारा बैन लगाने के 12 घंटे के भीतर भारत में सबसे ज्यादा लोकप्रिय एप टिकटोक गूगल प्ले-स्टोर और एपल के स्टोर से हटा दिया गया है. मंगलवार सुबह तक टिकटोक ऐप दोनों स्टोर्स पर मौजूद था मगर अब यह दिखाई नहीं दे रहा है.प्ले-स्टोर पर सर्च करने पर टिकटोक से मिलते जुलते कई नाम के ऐप्स नजर आ रहे हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

चाइनीज ऐप बंद करने पर टिकटोक के भारत प्रमुख ने क्या कहा

भारत में चाइनीज ऐप बैन होने पर टिकटोक के भारत प्रमुख निखिल गांधी ने ट्विटर पर लिखा- आदेश हम मान रहे हैं. और साथ ही सरकारी एजेंसियों से भी मिल रहे हैं ताकि अपना जवाब और अपनी सफाई दे सकें. उन्होंने कहा है कि टिकटोक भारत के कानून का सम्मान करता है. और टिकटोक ने भारत के लोगों का डाटा न तो चीनी सरकार को और न ही किसी और देश की सरकार को भेजा है. अगर हमसे ऐसा करने को कहा भी जाता है, तो भी हम नहीं करेंगे. आगे कहा कि टिककोट ने इंटरनेट को और लोकतांत्रिक बनाया है. 14 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है. और इस पर लाखों-करोड़ों लोग जिनमें कलाकार, किस्सागो, शिक्षक भी हैं .अपनी रोजी के लिए निर्भर हैं. कम्पनी का दावा है कि इनमें से बहुत सारे लोग पहली बार के इंटरनेट यूजर हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

बैन पर टिकटोक ने क्या कहा

बीबीसी के मुताबिक, भारत सरकार के इस फैसले पर टिकटोक के प्रवक्ता ने कहा है कि भारत सरकार ने 59 ऐप्स पर पाबंदी को लेकर अंतरिम आदेश दिया है. बाइटडांस टीम के 2000 लोग भारत में सरकार के नियमों के हिसाब से काम कर रहे हैं. हमें गर्व है कि भारत में हमारे लाखों यूजर्स हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

स्वागत योग्य कदम

कई भारतीय कंपनियां इसे बैन पर टिकटोक ने क्या कहाभारत सरकार का स्वागत योग्य कदम बता रही हैं. टिकटॉक से प्रतिस्पर्धा में रहने वाले वीडियो चैट ऐप रोपोसो की मालिकाना कंपनी इनमोबी ने कहा कि ये कदम उसके प्लेटफॉर्म के लिए बाज़ार को खोल देगा. वहीं भारतीय सोशल नेटवर्क शेयरचैट ने भी सरकार के इस कदम का स्वागत किया है.

email
TwitterFacebookemailemail

चाइनीज ऐप पर बैन से चीनी मीडिया को लगी मिर्ची

चीनी ऐप बंद होने पर चीनी सरकार ने भले ही अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी हो, लेकिन चीन की सरकारी मीडिया (ग्लोबल टाइम्स) ने भारत के कदम को अमेरिका की नकल करने वाला करार दिया है. चीनी अखबार ने कहा है कि चीन की वस्तुओं के बहिष्कार के लिए भारत भी अमेरिका जैसे ही बहाने ढूंढ रहा है.अखबार ने आरोप लगाया है कि चीन से मालवेयर, ट्रोजन हॉर्स और राष्ट्रीय सुरक्षा का ख़तरा बताकर इस तरह के प्रतिबन्ध लगाए गए हैं. अख़बार के मुताबिक अमेरिका ने भी राष्ट्रवाद की आड़ में इसी तरह चीन के सामानों को निशाना बनाना शुरू किया था. चीनी मीडिया ने फिर दोहराया है कि इस तरह के क़दमों से भारत की अर्थव्यवस्था को ही नुकसान होगा.

email
TwitterFacebookemailemail

सोशल मीडिया पर आ रहे मजेदार ट्वीट्स और रिएक्शंस

email
TwitterFacebookemailemail

भारत सबसे बड़ा ऐप बाजार

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 80 करोड़ से ज्यादा लोगों के पास स्मार्टफोन हैं. बीते साल दुनियाभर में सबसे ज्यादा एप भारत में इंस्टॉल किए गए थे. आंकड़ों के मुताबिक शुरुआती तीन महीने में ही 4.5 अरब से ज्यादा ऐप डाउनलोड किए गए, जिनमें सबसे ज्यादा टिकटोक था. अब भारत सरकार ने सोमवार को चीन के 59 चर्चित एप पर प्रतिबंध लगाकर चीन के नापाक इरादों को जवाब देने के लिए वर्चुअल स्ट्राइक की है. टिकटोक की बात करें तो दुनियाभर में इसके दो अरब से ज्यादा यूजर हैं. इनमें सबसे ज्यादा करीब 30 फीसदी भारतीय हैं. इसके बाद चीन और अमेरिका में इसके यूजर हैं. इस ऐप की कुल कमाई का 10 फीसदी केवल भारत से होता है.

email
TwitterFacebookemailemail

क्यों दिख रहे हैं ये चाइनीज ऐप्स?

सरकार ने इन ऐप को प्रतबंधित तो कर दिया, लेकिन मंगलवार सुबह तक ये ऐप गूगल प्ले स्टोर पर मौजूद हैं. यानी इन ऐप्स को कोई व्यक्ति अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड कर सकता था. जब हमने मंगलवार सुबह प्रतिबंधित ऐप की सूची में शामिल यूसी ब्राउजर को डाउनलोड करना चाहा तो ये ऐप आसानी से डाउनलोड होकर मोबाइल में इंस्टॉल भी हो गया. बता दें कि सरकार द्वारा इन ऐप्स को प्रतिबंधित करने के बाद इसकी सूचना एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म को दी जाती है. सरकार के इस निर्देश पर अमल करने में कंपनियां कुछ समय लेती हैं और इसके बाद इन्हें ऐप प्लेटफॉर्म से हटाया जाता है.

email
TwitterFacebookemailemail

सोशल मीडिया पर सवालों की बौछार

विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मस पर यूजर्स अब लगातार ये सवाल पूछ रहे हैं कि ये किस तरह का बैन है और ये बैन कब से प्रभावी होगा, क्योंकि ऐप तो अब भी काम कर रहे हैं और ये अब तक प्ले स्टोर और ऐप स्टोर में डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं तो फिर इसे कैसे बैन कहा जाए.

email
TwitterFacebookemailemail

डिजिटल एयर स्ट्राइक

भारत सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए टिकटॉक, वीचैट, यूसी ब्राउजर जैसे 59 चीनी एप्स पर एक तरह से ‘डिजिटल एयर स्ट्राइक’ कर दी है. सरकार के इस फैसले के साथ ही सोशल मीडिया पर मीम्स की भी बाढ़ आ गई है. लोग इस पर खूब मजेदार मीम्स शेयर कर रहे हैं. ज्यादातर यूजर्स ने इसे केंद्र सरकार की ओर से लिया गया सही फैसला बताया है.

email
TwitterFacebookemailemail

ट्विटर पर टॉप ट्रेंड्स में टिकटॉक बैन

ट्विटर पर टॉप टेन में ट्रेंड कर रहे 10 हैशटेग, सभी चाइनीज ऐप्स से जुड़े

1. #TikTok

2. #PUBG

3. #59 Chinese Apps

4. #UC Browser

5. #Government of India

6. #Shareit

7. #DigitalAirStrike

8. #ChineseAppsBlocked

9. #Jayaraj_And_Fenix

10. #CamScanner

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें