1. home Home
  2. national
  3. smog wreaking havoc in delhi ncr air quality remains severe for 7 days after diwali vwt

दिल्ली-एनसीआर में कहर बरपा रहा स्मॉग, दिवाली के बाद 7 दिनों से हवा की गुणवत्ता बनी हुई है 'गंभीर'

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसी) के अनुसार, हर साल 1 से 15 नवंबर के बीच दिल्ली में लोगों को बेहद दूषित हवा में सांस लेना पड़ता है. शहर में सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 454 दर्ज किया गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता गंभीर.
दिल्ली-एनसीआर में हवा की गुणवत्ता गंभीर.
फोटो : ट्विटर.

नई दिल्ली : दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में स्मॉग ने अब कहर बरपाना शुरू कर दिया है. शुक्रवार को स्मॉग पहले के मुकाबले कहीं अधिक घना हो गया, जिसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर की दृश्यता घटकर 200 मीटर तक रही गई. मीडिया की खबरों के अनुसार, दिल्ली में नवंबर की शुरुआत से ही प्रदूषण के स्तर में इजाफा हो रहा है और आलम यह कि दिवाली के बाद बीते सात दिनों से यहां की हवा की गुणवत्ता गंभीर बनी हुई है.

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसी) के अनुसार, हर साल 1 से 15 नवंबर के बीच दिल्ली में लोगों को बेहद दूषित हवा में सांस लेना पड़ता है. शहर में सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 454 दर्ज किया गया. गुरुवार को एक्यूआई का 24 घंटे का औसत 411 था. सुबह नौ बजे फरीदाबाद में एक्यूआई 490 रहा.

ग्रेटर नोएडा में सबसे अधिक 476 एक्यूआई

इसके अलावा, एनसीआर के ग्रेटर नोएडा में 476, गुड़गांव में 418 और नोएडा में एक्यूआई 434 दर्ज किया गया. शून्य से 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 से 100 के बीच में संतोषजनक, 101 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 तक खराब, 301 से 400 के बीच में बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर माना जाता है.

सुबह नौ बजे बढ़ गया प्रदूषण

डीपीसीसी के अनुसार, शुक्रवार की सुबह नौ बजे दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण कारक कण पीएम 2.5 की मात्रा 346 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर थी, जो कि 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर की सुरक्षित सीमा से लगभग छह गुना अधिक है. पीएम 10 का स्तर 544 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर दर्ज की गई.

खतरनाक स्तर पर पहुंचा पीएम10

ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (जीआरएपी) के अनुसार, बीते 48 घंटे या इससे ज्यादा समय के दौरान पीएम 2.5 का स्तर 300 माइक्रोग्राम से ज्यादा और पीएम 10 का स्तर 500 माइक्रोग्राम से अधिक होने पर वायु गुणवत्ता को आपातकालीन श्रेणी या खतरनाक स्तर माना जाता है. भारत मौसम विज्ञान विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में सुबह मध्यम स्तर का कोहरा छाया था और उसमें ठंड थी.

दिल्ली के तापमान में गिरावट दर्ज

वहीं, दिल्ली में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 12.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और हवा की गति कम होने के की वजह से प्रदूषण कारक तत्वों की मात्रा अधिक रही. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और सफदरजंग हवाई अड्डे पर कोहरे के कारण दृश्यता 300-500 मीटर रही. आर्द्रता अधिक होने की वजह से शुक्रवार को कोहरा और घना हो गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें