1. home Hindi News
  2. national
  3. rajasthan political crisis cp joshi and ashok gehlot son video viral bjp demands resignation politcal news

Rajasthan Crisis: सीएम अशोक गहलोत के बेटे और सीपी जोशी का वीडियो वायरल, बीजेपी ने मांगा जोशी का इस्तीफा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Rajasthan Crisis: सीएम अशोक गहलोत के बेटे और सीपी जोशी का वीडियो वायरल, बीजेपी ने मांगा जोशी का इस्तीफा
Rajasthan Crisis: सीएम अशोक गहलोत के बेटे और सीपी जोशी का वीडियो वायरल, बीजेपी ने मांगा जोशी का इस्तीफा
Twitter

राजस्थान में जारी सियासी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा, हर दिन यहां कुछ ना कुछ नये खुलासे हो रहे हैं. इस बार ताजा प्रकरण में राजस्थान विधानसभा के स्पीकर सीपी जोशी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव के बीच हुई बातचीत का वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में स्पीकर सीपी जोशी को बोलते हुए सुना जा रहा है कि वो किस तरह से सरकार को बचाने का पूरा प्रयास कर रहे हैं. पर वो यह भी कह रहे हैं कि अगर 30 विधायक चले जाते तो खतरा और बढ़ सकता था.

बता दे कि इससे पहले सरकार में उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने अशोक गहलोत से नाराज होकर पार्टी से विद्रोह कर लिया था. उस वक्त उन्होंने दावा किया था कि उनके साथ 30 और विधायक है, पर सिर्फ 19 विधायक ही उनके पास गये. अगर 30 विधायक पायलट के साथ गये होते तो राजस्थान में कांग्रेस अल्पमत में आ जाती है सरकार गिर जाती.

वायरल वीडियो में सीपी जोशी और वैभव के बीच जो बातचीत हुई है उसके मुताबिक अलग 30 विधायक एक साथ सचिन पायलट के साथ चले जाते तो कुछ नहीं हो सकता था. सीपी जोशी कह रहे हैं कि आप कुछ नहीं कर पाते और सचिन पायलट सरकार गिराने में सफल हो जाते.

टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा जयपुर द्वारा ट्वीट किये गये वीडियो में वैभव गहलोत को कहते हुए सुना गया कि राज्य में वर्तमान हालात हाल ही में संपन्न हुए राज्यसभा चुनाव की तरह हो गये हैं. राज्यसभा चुनाव से पहले भी सभी विधायकों को रिसोर्ट भी शिफ्ट कर दिया गया था क्योंकि मुख्यमंत्री गहलोत को यह आशंका थी कि सचिन पायलट बगावत कर सकते हैं. इस वीडियों को बुधवार को सूट किया गया है जब वैभव सीपी जोशी के आवास में उन्हें जन्मदिन की शुभकामना देने गये थे.

वहीं इस वीडियो के सामने आने के बाद बीजेपी से सीपी जोशी से इस्तीफे की मांग की है. प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि वीडियो में स्पीकर किसी आम इंसान से बात नहीं कर रहे हैं, वो मुख्यमंत्री का बेटा है. इससे यह साफ है कि स्पीकर भी भेदभाव कर रहे हैं और सरकार बचाने की कोशिश कर रहे हैं. स्पीकर का आचरण असंवैधानिक हैं. उन्हें इस्तीफा देना चाहिए.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें