1. home Home
  2. national
  3. punjab cm charanjit singh channi announced entire state cabinet pay obeisance at sri kartarpur sahib on november 18 smb

करतारपुर कॉरिडोर फिर से खुलने पर पंजाब के सीएम चन्नी ने जताई खुशी, बोले- 18 को मत्था टेकेगी पूरी राज्य कैबिनेट

Kartarpur Sahib Corridor केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को करतारपुर साहिब गलियारा को दोबारा खोलने की घोषणा की. करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खुलने पर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने खुशी जाहिर करते हुए बड़ी घोषणा की है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Punjab CM Charanjit Singh Channi
Punjab CM Charanjit Singh Channi
Twitter

Kartarpur Sahib Corridor केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को करतारपुर साहिब गलियारा को दोबारा खोलने की घोषणा की. करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खुलने पर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने खुशी जाहिर करते हुए बड़ी घोषणा की है. सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने के बाद पहले प्रतिनिधिमंडल के एक हिस्से के रूप में पूरा राज्य मंत्रिमंडल 18 नवंबर को श्री करतारपुर साहिब में मत्था टेकेगा.

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि राज्य मंत्रिमंडल के सदस्य उस जत्थे का हिस्सा होंगे, जो 18 नवंबर को पाकिस्तान स्थित ऐतिहासिक स्थल का दौरा करेगा. चरणजीत सिंह चन्नी के अलावा पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू, पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ और शिअद के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी केंद्र सरकार के एक निर्णय का स्वागत किया है.

शिरोमणि अकाली दल (SAD) के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि मुझे बहुत खुशी है कि करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोल दिया गया है. उन्होंने कहा कि हरसिमरत कौर बादल और मैंने पीएम मोदी को पत्र लिखा था. यह अच्छा है कि यह फिर से खुल रहा है. यह बहुत लोगों की मांग थी, जिसे आज पूरा किया जा रहा है.

बता दें कि करतारपुर गलियारा पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत में गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से जोड़ता है. गुरुद्वारा दरबार साहिब वह स्थल है, जहां सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपने प्राण त्यागे थे. कोरोना महामारी के कारण पिछले साल मार्च में करतारपुर साहिब की तीर्थयात्रा को निलंबित कर दिया गया था. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि केंद्र सरकार ने बुधवार से करतारपुर गलियारे को पुनः खोलने का निर्णय लिया है. गुरु नानक की जयंती गुरु पर्व इस साल 19 नवंबर को मनाई जाएगी.

चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर उन्होंने प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृहमंत्री से गलियारे को फिर से खोलने का अनुरोध किया था. चन्नी ने कहा , मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं. चन्नी ने कहा कि पूरा कैबिनेट उस पहले जत्थे का हिस्सा होगा जो 18 नवंबर को जाकर श्रद्धांजलि देगा. चन्नी ने बाद में ट्वीट किया और कहा, श्री गुरु नानक देव जी के 552वें प्रकाश पर्व के पावन अवसर पर श्री करतारपुर साहिब को दोबारा खोलने के निर्णय का मैं गर्मजोशी से स्वागत करता हूं. इस कदम ने लाखों श्रद्धालुओं की इच्छा पूरी की है, जिन्हें कोविड महामारी के कारण दर्शन दीदारे से वंचित रहना पड़ा था.

वहीं, पंजाब कांग्रेस के चीफ नवजोत सिंह सिद्धू ने ट्वीट कर इसे स्वागत योग्य कदम बताया. उन्होंने कहा, अनगिनत संभावनाओं का गलियारा पुनः खुल रहा है, नानक नामलेवा लोगों के लिए अनमोल उपहार. महान गुरु का गलियारा सबको आशीर्वाद देने के लिए खुला रहे। सरबत दा भला. पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को उनके निर्णय के लिए धन्यवाद दिया और कहा, समय पर करतारपुर साहिब गलियारा खोलने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को मेरा धन्यवाद. इससे हजारों श्रद्धालुओं को गुरु नानक देव के गुरु पर्व पर श्रद्धा सुमन अर्पित करने का मौका मिलेगा. बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने भी प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को धन्यवाद दिया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें