1. home Hindi News
  2. national
  3. nia arrested swapna and sandeep nair from bengaluru in gold smuggling case

एनआईए ने सोना तस्करी मामले में स्वप्ना और संदीप नायर को बेंगलुरु से किया गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
एनआईए की बड़ी कार्रवाई.
एनआईए की बड़ी कार्रवाई.
प्रतीकात्मक फोटो.

कोच्चि : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोना तस्करी मामले में मुख्य आरोपियों स्वप्ना सुरेश और संदीप नायर को शनिवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर राजनयिक के सामान के जरिये 30 किलोग्राम सोने की तस्करी के मामले में एनआईए ने स्वप्ना समेत चार आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. तिरुवंतपुरम से स्वप्ना, सारिथ और संदीप नायर और एर्णाकुलम के फाजिल फरीद का नाम तस्करी मामले में आरोपियों के रूप में है. एनआईए समेत केंद्रीय एजेंसियों और सीमा-शुल्क विभाग ने केरल उच्च न्यायालय में उसकी (स्वप्ना) अग्रिम जमानत याचिका विरोध किया था.

इसके पहले, कांग्रेस और भाजपा के युवा संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सोना तस्करी मामले में केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन के इस्तीफे की मांग को लेकर जारी विरोध-प्रदर्शनों के दूसरे दिन शनिवार को राज्यभर में प्रदर्शन किये. ये प्रदर्शन कुछ स्थानों पर हिंसक हो गए. वहीं, मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए ऐसे प्रदर्शन आयोजित करने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

उन्होंने कहा कि सरकार किसी के प्रदर्शन करने के अधिकार पर सवाल नहीं उठा रही है. विपक्षी पार्टियां मुख्यमंत्री पर तब से निशाना साध रही हैं, जब यह बात सामने आयी कि मामले में मुख्य संदिग्ध एवं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के वाणिज्य दूतावास की पूर्व कर्मचारी स्वप्ना सुरेश को आईटी विभाग द्वारा संविदा पर नौकरी पर रखा गया था. यह प्रभार विजयन के पास है. महिला को बाद में हटा दिया गया था.

एनआईए ने इस मामले की जांच अपने हाथ में ले लिया है. शुक्रवार को एनआईए ने गैर कानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम के तहत चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी. राज्य की राजधानी में युवा मोर्चा के कार्यकर्ता यह पता चलने पर सचिवालय के पास स्थित फ्लैट परिसर में घुस गए और शीशे का पैनल तोड़ दिया और काला तेल डाल दिया कि फ्लैटों में से एक फ्लैट पूर्व आईटी सचिव एम शिवशंकर के पास है.

इस मामले में एक आरोपी के साथ वरिष्ठ आईएएस अधिकारी का नाम सामने आने के बाद उन्हें दो पदों से हटा दिया गया था. आईएएस अधिकारी मुख्यमंत्री के सचिव भी थे. पुलिस ने कांच का पैनल तोड़ने वाले युवा मोर्चा के पांच कार्यकर्ताओं को वहां से हटाया. पथनमथिट्टा के अडूर में मोर्चा का प्रदर्शन हिंसक हो गया और पुलिस ने कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया. कुछ प्रदर्शनकारी घायल हो गए. कोझिकोड में भी मोर्चा ने प्रदर्शन किया.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें