1. home Hindi News
  2. national
  3. ncp chief sharad pawar and poll strategist prashant kishor meet for second time in two weeks smb

मिशन 2024 : एक हफ्ते में दूसरी बार प्रशांत किशोर से मिले शरद पवार, बीजेपी के खिलाफ तैयारियों पर चर्चा!

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
प्रशांत किशोर
प्रशांत किशोर
सोशल मीडिया

Prashant Kishor Met Sharad Pawar चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार से एक हफ्ते में दूसरी बार मुलाकात की है. दिल्ली में शरद पवार के आवास पर प्रशांत किशोर और एनसीपी अध्यक्ष की मुलाकात को लेकर सियासी गलियारों में चर्चाओं का बाजार गरम हो गया है. इससे पहले 12 जून को प्रशांत किशोर और शरद पवार के बीच करीब तीन घंटे तक बातचीत हुई थी. बताया जा रहा है कि इन दोनों की मुलाकात के दौरान वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर सियासी रणनीति और पीएम मोदी को चुनौती देने के लिए विपक्ष के संयुक्‍त उम्‍मीदवार के संबंध पर चर्चा किए जाने की बात सामने आ रही है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार से अपनी मुलाकात को व्यक्तिगत बताया है. उन्होंने कहा कि इसे सियासी मुलाकात के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए. प्रशात किशोर ने कहा कि वे चुनावी रणनीतिकार के अपने काम को आगे जारी रखने के मूड में नहीं है. बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ममता बनर्जी के रणनीतिकार थे और उन्‍होंने इस कठिन चुनावी लड़ाई में तृणमूल कांग्रेस को भाजपा की कठिन चुनौती के खिलाफ जीत दिलाई और टीएमसी के तीसरी बार सत्‍ता में आने का मार्ग प्रशस्‍त हुआ.

एनसीपी अध्यक्ष से मुंबई में प्रशांत किशोर की पहली मुलाकात को लेकर शरद पवार के कार्यालय की ओर से इसे शिष्टाचार भेंट बताया था. इस मुलाकात के दौरान दोनों ने साथ में लंच भी किया था. प्रशांत किशोर और शरद पवार के बीच चल रही सीक्रेट बैठक के बाद सियासी गलियारों में अटकलें लगाई जा रही हैं कि दोनों के बीच लोकसभा चुनाव 2024 में पीएम नरेंद्र मोदी को चुनौती देने के लिए विपक्ष उम्मीदवार बनाने को लेकर चर्चा चल रही है.

वहीं, मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि विपक्षी दलों का एक राष्ट्रीय मंच मंगलवार को शरद पवार के आवास पर बैठक करेगा. फोरम के सदस्य के रूप में एक दर्जन से अधिक राजनीतिक दलों के नेता शामिल हैं. फोरम की स्थापना यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा ने की थी. इस दौरान मौजूदा आर्थिक और राजनीतिक हालात पर चर्चा की जा सकती है.

Upload By Samir Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें