1. home Home
  2. national
  3. militancy growing in jammu kashmir after abrogation of article 370 omar abdullah said rjh

आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद भी नहीं थमा आतंकवाद, युवा उठा रहे बंदूक : उमर अब्दुल्ला

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हमारे शासन के दौरान जिन इलाकों से आतंकवाद का सफाया हुआ था, वहां आतंकवाद फिर से बढ़ रहा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Omar Abdullah
Omar Abdullah
Twitter

जब जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाया गया, उस वक्त यह कहा गया था कि अंबानी, टाटा और बिरला जम्मू-कश्मीर में इंवेस्ट करेंगे. जम्मू-कश्मीर में रोजगार के कई अवसर उपलब्ध होंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. उक्त बातें नेशनल काॅन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने डोडा में एक सभा को संबोधित करते हुए कही.

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद फिर से बढ़ रहा

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हमारे शासन के दौरान जिन इलाकों से आतंकवाद का सफाया हुआ था, वहां आतंकवाद फिर से बढ़ रहा है. यह चिंता की बात है, गौर करने वाली बात यह है कि ये आतंकवादी बाहर से नहीं आये हैं, बल्कि हमारे अपने युवा है. ये कश्मीर के युवा हैं जो गुस्से और अन्य कारणों से हथियार उठाने को तैयार हैं.

उमर अब्दुल्ला ने कहा कि हमारे शासन के दौरान श्रीनगर में हमने कई बंकर को बर्बाद कर दिया था. आतंकवाद का खात्मा हो गया था, लेकिन आज स्थिति यह है कि श्रीनगर का कोई कोना ऐसा नहीं बचा है जहां आतंकवाद मौजूद ना हों.

आर्टिकल 370 को हटाने के वक्त कहा गया था कि अब जम्मू-कश्मीर में किसी को आतंकवादी बनने क जरूरत नहीं होगी, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ. आज भी कश्मीर के युवा बंदूक उठा रहे हैं और सरकार से उनकी नाराजगी है.

महबूबा मुफ्ती ने आर्टिकल 370 को लेकर दी है चेतावनी

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ महीनों में आतंकवाद बहुत बढ़ा है. गैर कश्मीरियों को निशाने पर लिया जा रहा है, जिसकी वजह से सरकार ने वहां आतंकवादियों के खिलाफ सघन अभियान चला रखा है. पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती ने नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला है और कहा है कि सरकार आतंकवादियों के नाम पर नागरिकों को मार रही है और उनका शव भी नहीं सौंप रही है.

महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार को चेतावनी दी है कि वे आर्टिकल 370 को दोबारा से लागू करें और जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल करें, अगर वे ऐसा नहीं करेंगे तो कश्मीरी भारत में शामिल होने के अपने फैसले को बदल देंगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें