1. home Hindi News
  2. national
  3. maharashtra government shiv sena surats textile businessman launched kangana ranaut print saree manikarnika rjt

Kangana Ranaut: बाजार में आयी 'मणिकर्णिका' प्रिंट वाली साड़ियां, कंगना रनौत का ऐसे समर्थन कर रहे हैं कपड़ा व्यापारी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बाजार में आयी 'मणिकर्णिका' प्रिंट वाली साड़ियां
बाजार में आयी 'मणिकर्णिका' प्रिंट वाली साड़ियां
फोटो - ट्वीटर

इन दिनों बॉलीवुड स्टार कंगना रनौत (Kangana Ranaut) का महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) संग जारी विवाद देशभर में चर्चा का केंद्र बना हुआ हैं. बीएमसी (BMC) द्वारा कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस में की गयी कार्रवाई के बाद पूरे देश में लोग गुस्सा इस बात पर अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं. शिवसेना के साथ हुए विवाद के बाद लोग सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक कंगना के प्रति अपना समर्थन जाहिर कर रहे हैं. . इस बीच सूरत में एक्ट्रेस को लेकर अलग ही तरह का समर्थन देखने को मिला.

महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) और शिवसेना के संग जारी विवाद के बीच टेक्सटाइल नगरी सूरत में भी कंगना रनौत को एक अलग अंदाज में समर्थन मिला रहा है. सूरत के एक स्थानीय कपड़ा कारोबारी ने कंगना रनौत के प्रिंट वाली फेन्सी क्रेप साड़ियां लॉन्च की हैं. जिसमें कंगना रनौत का 'मणिकर्णिका' फिल्म की प्रिंटीग देखने को मिल रही है. साड़ी में अभिनेत्री की तस्वीर के साथ तस्वीर के साथ “I Support Kangana Ranaut” लिखा हुआ है. इस साड़ी के देखने के बाद यह साफ तौर पर जाहिर होता है कि कपड़ा व्यापारी ने ये साड़ी एक्ट्रेस के प्रति अपना समर्थन जाहिर करने के लिए तैयार की है.

वहीं कंगना और शिवसेना के बीच विवाद थमता नहीं दिख रहा है. अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से किये जाने के बाद से उनके और शिवसेना सांसद संजय राउत के बीच जुबानी जंग चल रही है. जो अभी भी जारी है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए एक बार फिर कंगना रनौत पर हमला बोल दिया है. सामना में लिखा है कि जिन लोगों का पेट दर्द हो रहा है, वही लोग मुंबई के खिलाफ बोल रहे हैं. सामना ने अपने संपादकीय में लिखा है कि हमेशा महाराष्ट्र को ही राष्ट्रीय एकता साबित करने के लिए कहा जाता है. महाराष्ट्र ही राष्ट्र है. सामना में आगे लिखा है, अगर महाराष्ट्र का महा मर गया तो राष्ट्र का कुछ नहीं होगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें