1. home Hindi News
  2. national
  3. international labour day 2021 date 01 may theme history significance interesting facts about majdoor diwas importance rights in hindi smt

International Labour Day 2021: आज ही के दिन क्यों मनाया जाता है मजदूर दिवस, क्या है इसका इतिहास, मनाने के पीछे उद्देश व इस बार का थीम, जानें सबकुछ

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
International Labour Day 2021, Majdoor Diwas, Workers Day, Theme, History, Significance
International Labour Day 2021, Majdoor Diwas, Workers Day, Theme, History, Significance
Prabhat Khabar Graphics

International Labour Day 2021, Majdoor Diwas, Workers Day, Theme, History, Significance, Interesting Facts: अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस हर वर्ष 1 मई को मनाया जाता है. जिसे लेबर डे, मई दिवस, श्रमिक दिवस आदि नामों से जाना जाता है. किसी भी देश के विकास में वहां के मजदूर का सबसे बड़ा योगदान होता है. ऐसे में यह दिवस उनके हक की लड़ाई उनके प्रति सम्मान भाव और उनके अधिकारों के आवाज को बुलंद करने का प्रतीक है. आइए जानते हैं कैसे हुई थी मजदूर दिवस की शुरुआत क्या है इसका महत्व व इतिहास...

अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस का इतिहास

दरअसल, अमेरिका में एक आंदोलन की शुरुआत 1 मई 1886 में हुई थी. पहले यहां मजदूरों से दिन के 15 घंटे काम लिए जाता था. जिसके खिलाफ 01 मई 1886 के दिन कई मजदूरों अमेरिका की सड़कों पर आ गए और अपने हक के लिए आवाज आवाज बुलंद करने लगे. जिस दौरान पुलिस ने कुछ मजदूरों पर गोली चलवा दी. जिसमें 100 से अधिक घायल हुए जबकि कई मजदूरों की जान चली गयी. इसी को देखते हुए 1889 में अंतर्राष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन की दूसरी बैठक के दौरान 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा गया. साथ ही साथ सभी श्रमिकों का इस दिन अवकाश रखने के फैसले पर और 8 घंटे से ज्यादा काम न करवाने पर भी मुहर लगी.

भारत में कैसे हुई मजदूर दिवस की शुरुआत?

वहीं, भारत के चेन्नई में 1 मई 1923 में लेबर किसान पार्टी ऑफ हिंदुस्तान की अध्यक्षता में मजदूर दिवस मनाने की परंपरा की शुरूआत हुई. इस दौरान कई संगठनों व सोशल पार्टियों का समर्थन मिला. जिसका नेतृत्व वामपंथी कर रहे थे. आपको बता दें कि पहली बार इसी दौरान मजदूरों के लिए लाल रंग का झंडा वजूद में आया था. जो मजदूरों पर हो रहे अत्याचार व शोषण के खिलाफ आवाज उठाने का प्रतिक है.

क्या होता है मजदूर दिवस के दिन?

  • दरअसल, मजदूर दिवस के दिन कई कल्याणकारी योजनाओं की घोषणा की जाती है.

  • विभिन्न कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं.

  • सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में समारोह का आयोजन किया जाता है.

  • हालांकि कोरोनावायरस और लॉकडाउन के कारण इस बार यह गतिविधियां संभव नहीं है.

  • आपको बता दें कि महाराष्ट्र और गुजरात का स्थापना दिवस भी 1 मई को ही मनाने की परंपरा है.

क्या है इस दिवस का उद्देश्य?

  • इस दिवस का मुख्य उद्देश्य है मजदूरों की उपलब्धियों का सम्मान करना. उनके योगदान की चर्चा करना.

  • उनके अधिकारों के लिए आवाज बुलंद करना.

  • मजदूर संगठन को मजबूत करना आदि.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें