1. home Hindi News
  2. national
  3. india standoff china ban chinese products 321 alternative india china latest news

India China News: मोबाइल, कैमरा और एसी सहित 321 सामान चीन से नहीं होगा आयात, केंद्र सरकार बना रही है वैकल्पिक सूची

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
India China News: मोबाइल,कैमरा और एसी सहित 321 सामान चीन से नहीं होगा आयात, केंद्र सरकार बना रही है वैकल्पिक सूची
India China News: मोबाइल,कैमरा और एसी सहित 321 सामान चीन से नहीं होगा आयात, केंद्र सरकार बना रही है वैकल्पिक सूची
PTI

India china news : मोदी सरकार चीनी सामानों की बड़े पैमाने पर पाबंदी लगाने की तैयारी में है, इसको लेकर कार्य शुरू हो चुका है. बताया जा रहा है कि सरकार जल्द ही इस संबंध में आदेश जारी कर सकता है. वहीं सामानों की सूची और उसके अल्टरनेटिव सामान ढूंढा जा रहा है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार केंद्र सरकार चीनी सामानों पर प्रतिबंध लगाने के मकसद से 321 सामानों की सूची तैयार की है, इसके साथ ही सरकार इन सामानों के अल्टरनेटिव भी ढूंढ रही है. अल्टरनेट सामान मिलते ही सरकार बैन की कार्यवाही शुरू करेगी. भारत-चीन सीमा पर तनाव से जुड़ी हर Latest News in Hindi से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

मोबाइल और तकनीक सामान अधिक- बताया जा रहा है कि सरकार जिन समानों को बैन करने की तैयारी में है, उनमें सबसे अधिक मोबाइल और तकनीक का सामान है. केंद्र सरकार की कोशिश है कि इन क्षेत्रों में बैन लगाकर आत्मनिर्भर भारत को आगे बढ़ाया जाए. हालांकि यह प्रक्रिया कब शुरू होगी, इसपर अभी संशय है.

रक्षा क्षेत्र में बैन- रक्षा उत्‍पादन के स्‍वदेशीकरण को बढ़ावा देने के लिए 101 रक्षा उत्‍पादों के आयात पर प्रतिबंध लगाया जाएगा और इन्‍हें स्‍वदेशी स्‍तर पर बनाया जाएगा. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस फैसले की घोषणा करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने पांच स्तंभों- अर्थव्यवस्था, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, प्रणाली, जनसांख्यिकी और मांग के आधार पर आत्‍मनिर्भर भारत का आह्वान किया है. साथ ही इसके लिए विशेष आर्थिक पैकेज की भी घोषणा की है.

इससे पहले, केंद्र सरकार ने केंद्र सरकार ने टिक-टॉक, यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीज ऐप को देश में बैन कर दिया था. केंद्र सरकार ने इसे देश की संप्रभुता, एकता और रक्षा के लिये खतरा बताया था. सरकार ने अलग-अलग तरीके के 59 मोबाइल ऐप को देश की संप्रभुता, अखंडता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए पूर्वाग्रह रखने वाला बताते हुए उन पर प्रतिबंध लगा दिया, जिसमें चीन के एप टिकटॉक, शेयरइट और वीचैट जैसे एप भी शामिल हैं.

Posted By : Avinish Kumar Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें