28.8 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Haryana violence: हरियाणा में हिंसा के पीछे की वजह इंटरनेट ? सरकार ने लिया ये फैसला

Haryana violence : बजरंग दल के कार्यकर्ता प्रदीप शर्मा की दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गयी है. शर्मा उन 50 से अधिक लोगों में शामिल थे जो सोमवार को नूंह में खेड़ला मोड़ के पास विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की जलाभिषेक यात्रा पर हुए हमले में घायल हो गये थे. जानें ताजा हालात

Haryana violence : गुरुग्राम में आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं जारी रहने के बीच हरियाणा सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश की खट्टर सरकार की ओर से बयान जारी करके बताया गया है कि शांति और सार्वजनिक व्यवस्था बनाए रखने के लिए नूंह, फरीदाबाद और पलवल जिलों के अधिकार क्षेत्र में और गुरुग्राम जिले के सोहना, पटौदी और मानेसर उप-मंडलों के अधिकार क्षेत्र में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को 5 अगस्त तक के लिए बंद कर दिया गया है.

मोबाइल इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं के निलंबन को पांच अगस्त तक बढ़ाने का आदेश अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) टी वी एस एन प्रसाद ने बुधवार शाम जारी किया. आदेश के अनुसार, मोबाइल फोन और एसएमएस पर व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर आदि जैसे विभिन्न सोशल मीडिया मंचों के माध्यम से गलत सूचना और अफवाहों के प्रसार, आंदोलनकारियों और प्रदर्शनकारियों की भीड़ को संगठित होने से रोकने के लिए मोबाइल इंटरनेट निलंबन की सीमा को बढ़ाया जा रहा है.

केंद्रीय बलों की चार और कंपनियों की मांग

इस बीच सरकार ने केंद्रीय बलों की चार और कंपनियों की मांग की है. इधर, अस्पताल में बजरंग दल के एक कार्यकर्ता की मौत हो गयी, जिससे निकटवर्ती नूंह से शुरू हुई सांप्रदायिक हिंसा में मरने वालों की संख्या छह हो चुकी है. मंगलवार देर रात गुरुग्राम जिले में पांच गोदामों में आग लगा दी गयी और मांस की दो दुकानों में तोड़फोड़ की गयी. अधिकारियों ने कहा कि पुलिस के पहुंचने से पहले ही भीड़ तितर-बितर हो चुकी थी. बुधवार को दो झुग्गियों में आग लगा दी गयी और एक चाय की दुकान में तोड़फोड़ की गयी. एक अन्य झुग्गी बस्ती में कुछ झोंपड़ियों में तोड़फोड़ की गयी.

बजरंग दल कार्यकर्ता की मौत

बजरंग दल के कार्यकर्ता प्रदीप शर्मा की दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गयी है. शर्मा उन 50 से अधिक लोगों में शामिल थे जो सोमवार को नूंह में खेड़ला मोड़ के पास विश्व हिंदू परिषद (विहिप) की जलाभिषेक यात्रा पर हुए हमले में घायल हो गये थे. नूंह में भड़की हिंसा में मरने वालों में दो होम गार्ड सहित पांच लोग मारे गये हैं. पड़ोसी गुरुग्राम में एक धार्मिक स्थल पर भीड़ के हमले में एक इमाम मारा गया. इस घटना के संबंध में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है. नूंह हमले को लेकर विहिप और बजरंग दल ने राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में आज विरोध प्रदर्शन किया. हरियाणा सीमा पर धरने के कारण लंबा जाम लग गया, जिससे दिल्ली और फरीदाबाद के बीच आवाजाही बाधित हो गयी.

Undefined
Haryana violence: हरियाणा में हिंसा के पीछे की वजह इंटरनेट? सरकार ने लिया ये फैसला 4

सुप्रीम कोर्ट हुआ सख्त

सुप्रीम कोर्ट ने भी बुधवार को संवेदनशील इलाकों में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती बढ़ाने और नफरत फैलाने वाले भाषण पर कार्रवाई करने का आदेश दिया. हालांकि, न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति एसवी भट्टी की पीठ ने दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दो हिंदू संगठनों द्वारा प्रस्तावित रैलियों को रोकने से इनकार कर दिया. दिल्ली की सीमा से लगे गुरुग्राम जिले में सोमवार को नूंह में हुई झड़प के बाद आगजनी और तोड़फोड़ के कई मामले सामने आए हैं. अधिकारियों का कहना है कि यहां एक धार्मिक स्थल को निशाना बनाए जाने के बाद कोई हताहत नहीं हुआ है. लेकिन कुछ इलाकों में एक खास समुदाय के कामगारों का कहना है कि उन्हें धमकियां मिली हैं और वे घर वापस जाने पर विचार कर रहे हैं.

Undefined
Haryana violence: हरियाणा में हिंसा के पीछे की वजह इंटरनेट? सरकार ने लिया ये फैसला 5
Also Read: Nuh Violence: नूंह हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, हेट स्पीच पर तुरंत कार्रवाई का दिया निर्देश

केंद्रीय बलों की 20 कंपनियां हरियाणा में तैनात

हरियाणा पुलिस के अलावा केंद्रीय बलों की 20 कंपनियां हरियाणा में तैनात हैं जिनमें से 14 नूंह में, तीन पलवल में, दो गुरुग्राम में और एक फरीदाबाद में है. हरियाणा सरकार ने कानून-व्यवस्था और शांति एवं सुरक्षा बनाए रखने के मद्देनजर बुधवार को दूसरी इंडिया रिजर्व बटालियन (आईआरबी) के मुख्यालय को पुलिस परिसर भोंडसी से नूंह जिले में तुरंत स्थानांतरित करने का फैसला किया. इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव (गृह) टी वी एस एन प्रसाद ने एक आदेश जारी किया. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार ने केंद्र से चार और कंपनियों की मांग की है और हरियाणा स्थित इंडिया रिजर्व बटालियन की एक बटालियन भी तैनात की जाएगी. उन्होंने कहा कि राज्य में अब तक 116 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 90 लोगों को हिरासत में लिया गया है तथा 41 मामले दर्ज किये गये हैं.

Undefined
Haryana violence: हरियाणा में हिंसा के पीछे की वजह इंटरनेट? सरकार ने लिया ये फैसला 6

हिंसा भड़काने वाला वीडियो पोस्ट करने का मामला दर्ज

स्थानीय पुलिस ने कहा कि सिर्फ गुरुग्राम में अब तक 50 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें ‘जय भारत माता वाहिनी’ संगठन का प्रमुख दिनेश भारती भी शामिल है.दिनेश पर कथित तौर पर सांप्रदायिक हिंसा भड़काने वाला वीडियो पोस्ट करने का मामला दर्ज किया गया है. जिला पुलिस ने आपत्तिजनक सामग्री वाले 50 सोशल मीडिया अकाउंट की पहचान की है. गुरुग्राम में मंगलवार रात जलाए गये तीन गोदाम टिकली गांव के पास स्थित हैं और अन्य दो पालम विहार और सेक्टर 70 ए में स्थित हैं. नखडोला गांव के पास झुग्गियों में कुछ युवकों के एक समूह ने तोड़फोड़ की. बादशाहपुर में मांस की दो दुकानों को निशाना बनाया गया.

Also Read: Haryana Nuh Violence: नूंह हिंसा के गुनाहगारों पर होगी सख्त कार्रवाई, खट्टर सरकार वसूलेगी मुआवजा

नूंह, गुरुग्राम और अन्य प्रभावित जिलों में निषेधाज्ञा लागू

हिंसा किस वजह से हुई, इस बात पर खट्टर और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला असहमत दिखे. चौटाला ने मंगलवार को कहा कि जलाभिषेक यात्रा के आयोजकों ने अपेक्षित भीड़ का उचित अनुमान नहीं दिया और संभवतः यही नूंह में हुई घटना का कारण बना. बुधवार को मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने इसका खंडन किया. उन्होंने कहा कि स्थानीय अधिकारियों ने जलाभिषेक यात्रा से एक दिन पहले ‘‘दोनों पक्षों’’ के साथ बैठक की थी और उन्हें आश्वासन दिया गया था कि कार्यक्रम शांतिपूर्ण तरीके से होगा. नूंह, गुरुग्राम और अन्य प्रभावित जिलों में निषेधाज्ञा लागू है.

भाषा इनपुट के साथ

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें