1. home Hindi News
  2. national
  3. education minister dharmendra pradhan on the path of pm modi now he will work on saturday sunday also vwt

शिक्षा मंत्रालय में अब चढ़ेगा असली पतीला, 'प्रधान' साहेब रोज लेंगे क्लास, शनिचर-इतवार की छुट्टी कैंसिल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
देश के नए शिक्षा मंत्री धर्मंद्र प्रधान.
देश के नए शिक्षा मंत्री धर्मंद्र प्रधान.
फाइल फोटो.

नई दिल्ली : केंद्र की मोदी सरकार में नवनियुक्त शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने अपने मंत्रालय के कामकाज में बदलाव करने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राह पर चलते हुए पेट्रोलियम मंत्रालय से शिक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभालने वाले धर्मेंद्र प्रधान ने शनिवार को ऐलान किया है कि अब शिक्षा मंत्रालय में शनिचर-इतवार को भी काम होगा. इसका मतलब यह हुआ कि शिक्षा मंत्रालय में अब सप्ताह के सातों दिन काम होगा.

मीडिया की खबर के अनुसार, शिक्षा मंत्रालय की ओर से कामकाज के तरीकों में बड़ा बदलाव किया जा रहा है. ऐलान यह किया गया है कि केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय अब सप्ताह के सातों दिन तक काम करेगा. मंत्रालय में अब शनिवार और रविवार को भी काम होगा.

गौरतलब है कि वर्ष 2014 के देश में हुए आम चुनाव के बाद से अब तक प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, डिजिटल मीडिया और सोशल मीडिया पर यह प्रचारित किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक दिन के 24 घंटों में से 18 घंटे केवल और केवल देश के लिए ही काम करते रहते हैं.

अब जबकि पिछले दिनों केंद्रीय कैबिनेट में फेरबदल के बाद पूर्व पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को देश का नया शिक्षा मंत्री बनाया गया है. इनसे पहले रमेश पोखरियाल निशंक शिक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाल रहे थे. पदभार संभालने के बाद प्रधान ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मार्गदर्शन लेकर वे सबसे पहले नई शिक्षा नीति को लागू करवाने पर काम करेंगे.

उन्होंने कहा था कि शिक्षा राज्यों का विषय होता है. हालांकि, केंद्र और राज्य अपनी जिम्मेदारी के तहत नए भारत निर्माण के लिए मिलकर काम करेंगे. उन्होंने कहा था कि देश को 34 सालों के बाद नई शिक्षा नीति मिली है. नई शिक्षा नीति के चलते शिक्षा में बड़ा बदलाव दिखना शुरू हो गया है. अब विद्यार्थी सिर्फ डिग्री के लिए पढ़ाई नहीं करेंगे, बल्कि उन्हें व्यापक विषय का ज्ञान भी होगा.

प्रधान ने कहा था कि इस मंत्रालय से मौलाना अबुल कलाम आजाद का नाम भी जुड़ा हुआ है. वे इस देश के पहले शिक्षा मंत्री थे. इसलिए हमें सबको साथ लेकर शिक्षा को आगे बढ़ाने पर काम करना होगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें