1. home Home
  2. national
  3. earthquake hits assam sonitpur and indonesia know about after effect mtj

दिवाली के दिन गुजरात, असम और इंडोनेशिया में भूकंप के झटके, इतनी थी तीव्रता

दिवाली (Diwali 2021) के दिन भारत के दो राज्यों गुजरात (Guajarat) और असम (Assam) के साथ-साथ इंडोनेशिया (Indonesia) में भी भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किये गये.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Earthquake News: असम और इंडोनेशिया में भूकंप के झटके
Earthquake News: असम और इंडोनेशिया में भूकंप के झटके
Image for Representation Only

Earthquake News: दिवाली (Diwali 2021) के दिन भारत के दो राज्यों गुजरात (Guajarat) और असम (Assam) के साथ-साथ इंडोनेशिया (Indonesia) में भी भूकंप (Earthquake) के झटके महसूस किये गये. गुजरात के पश्चिमोत्तर में स्थित द्वारका में दोपहर 3:15 बजे भूकंप के झटके महसूस किये गये. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने यह जानकारी दी है. कहा गया है कि भूकंप का केंद्र द्वारका से 223 किलोमीटर दूर था. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.0 मापी गयी.

असम के सोनितपुर (Earthquake Hits Sonitpur) में 3.7 तीव्रता का भूकंप आया, तो इंडोनेशिया के ‘नॉर्थ मालूकू’ प्रांत (North Maluku Province) के सेराम द्वीप (Seram Island) पर तटीय गांव अमहाई से लगभग 65 किलोमीटर दूर 5.7 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया. इंडोनेशिया के कुछ हिस्से भूकंप की वजह से हिल उठे.

हालांकि, भारत में असम के सोनितपुर में आया भूकंप बहुत हल्के स्तर का था. नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने कहा है कि सुबह 10.19 बजे असम के सोनितपुर में 3.7 तीव्रता का भूकंप आया. इससे जान-माल को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ. दूसरी तरफ, इंडोनेशिया में समुद्र के अंदर आये भूकंप के झटके से कुछ इलाके हिल उठे. लोग डर गये. हालंकि, यहां भी जान-माल का नुकसान नहीं हुआ.

अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण विभाग ने कहा कि समुद्र के अंदर भूकंप के हल्के झटके से पूर्वी इंडोनेशिया के कुछ हिस्सों में कंपन महसूस हुआ. भूकंप से फिलहाल जान-माल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है. ‘नॉर्थ मालूकू’ प्रांत के सेराम द्वीप पर तटीय गांव अमहाई से लगभग 65 किलोमीटर दूर 5.7 तीव्रता का भूकंप आया. भूकंप का केन्द्र समुद्र में लगभग 10 किलोमीटर नीचे था.

इंडोनेशियाई मौसम विज्ञान, जलवायु विज्ञान और भू-भौतिकीय एजेंसी ने कहा कि भूकंप से सुनामी आने का खतरा नहीं है. गौरतलब है कि नॉर्थ मालूकू प्रांत की आबादी करीब 10 लाख है और यह देश की सबसे कम आबादी वाले प्रांतों में से एक है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें