1. home Home
  2. national
  3. delhi assembly committee sent summons to kangana ranaut rts

कंगना रनौत को दिल्ली विधानसभा की समिति ने भेजा समन, सिख समुदाय के खिलाफ अपमानजनक बयान देकर फंसी अभिनेत्री

कंगना रनौत सिख समुदाय पर अपमानजनक टिप्पणी देकर एक बार फिर विवादों में आ गई हैं. दिल्ली विधानसभा की एक समिति ने अभिनेत्री को तलब किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अभिनेत्री कंगना रनौत को दिल्ली विधानसभा की समिति ने किया तलब
अभिनेत्री कंगना रनौत को दिल्ली विधानसभा की समिति ने किया तलब
twitter

अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने बॉलीवुड की पंगा क्वीन कंगना रनौत की मुसीबतें एक बार फिर बढ़ सकती हैं. कंगना को दिल्ली विधानसभा की एक समिति ने सिखों पर कथित टिप्पणी को लेकर तलब किया है. उन्हें 6 दिसंबर दोपहर 12 बजे समिति के सामने पेश होने को कहा गया है. बता दें कि पिछले दिनों कंगना ने सिख समुदाय को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की थी जिसके बाद से देश के अलग-अलग हिस्सों में उनका विरोध शुरु हो गया था.

आप नेता राघव चड्ढा की अध्यक्षता वाली दिल्ली विधानसभा की शांति और सद्भाव समिति ने समन जारी किया है. इसके अलावा दिल्ली की सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने भी कंगना रनौत के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. गुरुद्वारा समिति ने इंस्टाग्राम पर सिख समुदाय के खिलाफ कथित टिप्पणी पर कंगना की शिकायत की है. बता दें कि महाराष्ट्र

क्या है मामला

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने हाल ही में किसान आंदोलन कर रहे अन्नदाताओं को कथित तौर पर खालिस्तानी बताया था. जिसके बाद से कंगना के इस बयान का लगातार विरोध होने लगा. इसे लेकर ही अब उनको समन भेजा गया है.

वहीं, पुलिस शिकायत में ये आरोप लगाया गया है कि कंगना रनौत ने जानबूझकर और सोच विचार कर किसानों के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ 1 साल से अधिक समय से जारी विरोध को खालिस्तानी आंदोलन बताया है. साथ ही इन किसानों को खालिस्तानी आतंकवादी भी कहा. दररअसल कंगना पर सिख समुदाय के भावनाओं को चोट पहुंचना और उनके खिलाफ अपमानजनक और आपत्तिजनक भाषा के प्रयोग का आरोप लगाया है. अपने एक पोस्ट में कंगना ने ये साऱी बातें कही है.

महात्मा गांधी पर टिप्पणी पर भी हुआ था बवाल

इससे पहले कंगना ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर भी एक विवादित टिप्पणी की थी. उन्होंने एक इंस्टाग्राम स्टोरी पर एक आर्टिकल शेयर किया था. जिसके हेडलाइन में लिखा था कि या तो आप गांधी के फैन हो सकते है या फिर नेताजी के समर्थक.. आप दोनों के समर्थक नहीं हो सकते. उन्होंने आगे लिखा था कि दूसरा गाल देने से भीख मिलती है, आजादी नहीं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें