25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

‘वह दिन दूर नहीं जब संसद में एक मुस्लिम की मॉब लिंचिंग होगी’, बिधूड़ी पर ऐसे बरसे ओवैसी

बीजेपी सांसद ने बिधूड़ी मामले को लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि हुजन समाज पार्टी (बसपा) के सांसद दानिश अली ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ ‘अत्यधिक आपत्तिजनक और निंदनीय’ टिप्पणी की थी जिससे बिधूड़ी भड़क गए थे.

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा, हम देखते हैं कि एक बीजेपी सांसद संसद में एक मुस्लिम सांसद को गाली देता है. लोग कह रहे हैं कि उन्हें संसद में यह सब नहीं कहना चाहिए था, वे कह रहे हैं कि उनकी जीभ खराब थी. यह है उस जनता के प्रतिनिधि जिसके लिए आपने वोट दिया. वह दिन दूर नहीं जब देश की संसद में एक मुस्लिम की मॉब लिंचिंग होगी. आपका ‘सबका साथ, सबका विकास’ कहां है? यहां के प्रधानमंत्री देश एक शब्द नहीं बोलेगा.

क्या है मामला? बिधूड़ी के बयान पर क्यों मचा बवाल

दरअसल संसद के विशेष सत्र के दौरान लोकसभा में 21 सितंबर को चंद्रयान-3 की सफलता पर चर्चा की जा रही थी. उसी दौरान दानिश अली के खिलाफ बिधूड़ी ने ‘निंदनीय और सांप्रदायिक’ टिप्पणी की थी. बाद में बिधूड़ी के आपत्तिजनक शब्दों को सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया. बिधूड़ी के बयान के बाद उन्हें निलंबित किये जाने की मांग होने लगी है. विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि वह अपने सांसद को दंडित करने के बजाय उनका बचाव करने की कोशिश कर रही है.

निशिकांत दुबे ने बसपा सांसद दानिश अली पर बिधूड़ी को उकसाने का लगाया आरोप

बीजेपी सांसद ने बिधूड़ी मामले को लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि हुजन समाज पार्टी (बसपा) के सांसद दानिश अली ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ ‘अत्यधिक आपत्तिजनक और निंदनीय’ टिप्पणी की थी जिससे बिधूड़ी भड़क गए थे. भाजपा सांसद रवि किशन शुक्ला और हरनाथ सिंह यादव ने भी रविवार को सभापति को पत्र लिखकर सदन में अली के आचरण पर सवाल उठाया और इसकी जांच की मांग की. दुबे ने रविवार को बिधूड़ी की टिप्पणियों की फिर से निंदा करते हुए कहा कि कोई भी सभ्य समाज इसे स्वीकार नहीं करेगा. लोकसभा अध्यक्ष को लिखे अपने पत्र में शुक्ला ने कहा कि बिधूड़ी ने अली के खिलाफ जो भी शब्द इस्तेमाल किए वे ‘हर तरह से अस्वीकार्य’ थे, लेकिन उन परिस्थितियों की भी जांच करने की जरूरत है जिसके कारण सदन में एक सांसद द्वारा दूसरे सदस्य के खिलाफ ‘ऐसे आपत्तिजनक’ शब्दों का इस्तेमाल किया गया.

Also Read: अखिलेश यादव ने कहा- सांसद रमेश बिधूड़ी पर लगे चुनाव लड़ने की अजीवन पाबंदी

दानिश अली ने ‘लिंचिंग’ की संभावना जताई

दानिश अली ने रविवार को कहा, मैंने निशिकांत दुबे का (बिरला को लिखा) पत्र देखा है. सदन के अंदर मेरी मौखिक ‘लिंचिंग’ की गई और अब सदन के बाहर मेरी लिंचिंग के लिए विमर्श तैयार किया जा रहा है. मैं अध्यक्ष से आधारहीन आरोप की जांच कराने का अनुरोध करूंगा. आधारहीन आरोप से निशिकांत दुबे के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का मामला बनता है.

कांग्रेसी ने बिधूड़ी को निलंबित करने की मांग की

बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी की टिप्पणी पर कांग्रेस ने भी जमकर निशाना साधा. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी बिधूड़ी की अपमानजनक टिप्पणियों पर विवाद का जिक्र किया और आरोप लगाया कि भाजपा जातीय जनगणना की मांग से ध्यान भटकाने के लिए इस तरह की रणनीति अपनाती है. लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि बिधूड़ी ने संसद का अपमान किया है और उन्होंने उनके निलंबन की मांग की है। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा, आपने (रमेश बिधूड़ी) ना केवल एक सांसद का, बल्कि भारतीय संसद का भी अपमान किया है. मैं चकित हूं कि भाजपा उन्हें दंडित करने के बजाय उनका बचाव करने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस प्रवक्ता आलोक शर्मा ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष को बिधूड़ी को तुरंत निलंबित कर देना चाहिए था.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें