38.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Terror Module In Assam: असम में अलकायदा से जुड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, पकड़े गए ये आतंकी

Terror Module In Assam: असम पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अल-कायदा सहित वैश्विक आतंकवादी संगठनों के साथ कथित संबंधों के लिए 11 लोगों को हिरासत में लिया है. हिरासत में लिए गए व्यक्तियों में से एक राज्य में मदरसा शिक्षक भी है.

Terror Module In Assam: पूर्वोत्तर राज्य असम में एक बड़ी कार्रवाई में, भारतीय उप-महाद्वीप (एक्यूआईएस) में अल-कायदा सहित वैश्विक आतंकवादी संगठनों के साथ कथित संबंधों के लिए 11 लोगों को हिरासत में लिया गया. हिरासत में लिए गए व्यक्तियों में से एक राज्य में मदरसा शिक्षक भी है. पुलिस के अनुसार, असम के मोरीगांव, बारपेटा, गुवाहाटी और गोलपारा जिलों से बीते दिनों हिरासत में लिए गए 11 लोगों का संबंध एक्यूआईएस और एबीटी से होने के कारण ‘इस्लामी कट्टरपंथ’ से है. नियमानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.

CM हिमंत बिस्वा ने कही ये बात

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने राज्य में “जिहादी मॉड्यूल” पर भारी पड़ते हुए कहा कि इन गिरफ्तारियों से बहुत सारी जानकारी की उम्मीद है. बिस्वा सरमा ने आगे कहा, “कल से आज तक, हमने असम के बारपेटा और मोरीगांव जिलों में दो जिहादी मॉड्यूल पकड़े हैं और जिहादी मॉड्यूल से जुड़े सभी लोगों को गिरफ्तार किया है. राष्ट्रीय पुलिस एजेंसियों के साथ यह समन्वित कार्रवाई, एक समन्वित प्रयास था और हमें बहुत कुछ इन लोगों से काफी जानकारियां मिलेंगी.”

असम पुलिस ने कही ये बात

असम पुलिस के अनुसार, मुस्तफा उर्फ​मुफ्ती मुस्तफा, जो इस मामले में एक आरोपी है, मोरीगांव जिले के सहरिया गांव का निवासी है, और अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (एबीटी) का एक सक्रिय सदस्य है, जो भारत में अल कायदा से जुड़ा हुआ है. वह भारत में एबीटी मॉड्यूल का एक महत्वपूर्ण वित्तीय माध्यम भी है. पुलिस ने बताया कि मुस्तफा सहरिया गांव में एक मदरसा (जमीउल हुडा मदरसा) चलाता है, जिसे बंदरगाह या सुरक्षित घर होने का संदेह होने के बाद पुलिस ने सील कर दिया है.

ये आतंकी हुए गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार, “मदरसे की गतिविधियों को गैरकानूनी गतिविधियों की आय के माध्यम से वित्त पोषित किया जा रहा था. यह हिरासत में लिए गए व्यक्तियों का एक बंदरगाह या सुरक्षित घर होने का संदेह है.” पुलिस ने मुस्तफा के अलावा 39 वर्षीय अफसरुद्दीन भुइयां को मोरीगांव से गिरफ्तार किया है. पुलिस ने गोलपाड़ा निवासी 22 वर्षीय अब्बास अली को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार, “उसने फरार सदस्यों में से एक महबूबुर रहमान को रसद और आश्रय प्रदान किया.” जोगीघोपा थाने के मामले में वांछित महबूब रहमान उर्फ​महबूब भी अंसारुल्लाह बांग्ला टीम का सदस्य है. उसे बोंगईगांव पुलिस टीम ने 26 जुलाई को गिरफ्तार किया था.

Also Read: पाकिस्तान में सुप्रीम कोर्ट ने कहा- परवेज इलाही हैं पंजाब के नये मुख्यमंत्री, जानें क्या है पूरा मामला
आंतकी के खिलाफ इन धाराओं में मामला दर्ज

गिरफ्तार किए गए अन्य लोगों में जुबैर खान (25), रफीकुल इस्लाम (27), दीवान हमीदुल इस्लाम (20), मोइनुल हक (42), काजीबुर हुसैन (37), मुजीबौर रहमान (50), शाहनूर असलम और सहजन अली (34) हैं. बारपेटा पुलिस ने एक्यूआईएस और एबीटी से संबंध रखने के आरोप में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है. बारपेटा पुलिस स्टेशन में धारा 17/18/18(बी)/19/20 यूए(पी) अधिनियम के साथ धारा 120(बी)/121/121(ए) के तहत मामला (संख्या 763/22) दर्ज किया गया है. पुलिस ने हिरासत में लिए गए लोगों के पास से कई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और आपत्तिजनक दस्तावेज जब्त किए हैं. लिंकेज और नेटवर्क का पता लगाने के लिए आगे की जांच और संचालन किया जा रहा है. विशेष डीजीपी जीपी सिंह ने कहा, “यह असम पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों के लंबे निगरानी अभियान का नतीजा है.”

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें