पूर्व सैनिक खुदकुशी मामला: रामकिशन ग्रेवाल ने बैंक से ले रखा था 3.5 लाख का लोन

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली/भिवानी : वन रैंक वन पेंशन को लेकर पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल की आत्महत्या पर दूसरे दिन भी जहां सियासी संग्राम जारी रहा. वहीं एक दूसरी खबर भी सामने आ रही है जिसके अनुसार ग्रेवाल ने बैंक से लोन ले रखा था जिसके कारण व‍ह चिंतित रहते थे.

इस संबंध में आज अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने खबर छापी है जिसमें कहा गया है कि ग्रेवाल के ऊपर 3.5 लाख का लोन था जो उसने भिवानी के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से ले रखा था. अखबार ने खबर दी है कि ग्रेवाल ने यह लोन पिछले साल के अंत में लिया था. अपने पेंशन अकाउंट पर उन्होंने यह लोन लिया था हालांकि इस संबंध में उनके परिवार को जानकारी नहीं थी.
ग्रेवाल के पुत्र ने इस संबंध में कहा कि मुझे और मेरा भाई को उनके बैंक ट्रांजेक्शन और लोन के संबंध में जानकारी नहीं है. ग्रेवाल के पुत्र ने बताया कि अप्रैल से पहले जब ओआरओपी लागू किया गया था, ग्रेवाल ने पेंशन फार्म भरा था जिसकी राशी 21,927 रुपये थी और पिछले महीने उन्होंने 22,608 रुपये का पेंशन फार्म भरा था. पुत्र ने कहा कि उनके पिता ने कहा था कि पेंशन करीब 30 हजार रुपये होनी चाहिए थी, यदि सरकार ठीक से ओआरओपी लागू करती.
इधर, मामले को लेकर गुरुवार को भी राजनीति जारी रही. भिवानी में रामकिशन की अंत्येष्टि में राहुल गांधी व अरविंद केजरीवाल के अलावा हरियाणा के सीएम शामिल हुए. केजरीवाल ने परिजनों को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की.
उधर, जंतर-मंतर पर कैंडल मार्च के लिए शामिल होने जा रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को गुरुवार को पुलिस ने हिरासत में लिया. हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया. राहुल जंतर-मंतर पर रामकिशन की याद में आयोजित कैंडल मार्च में शामिल होने के लिए जा रहे थे. मार्च इंडिया गेट तक जाना था, लेकिन पुलिस ने राहुल को सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए रोक लिया. कुछ देर बाद उन्हें हिरासत में ले लिया. राहुल की हिरासत पर कांग्रेस के मनीष तिवारी ने कहा - हम कह सकते हैं कि यह लोकतंत्र नहीं है.
हिरासत में लिए जाने के बाद राहुल ने कहा, 'मुझे धारा 144 का हवाला देकर हटाया गया. ' उन्होंने कहा, 'मृतक पूर्व सैनिक के परिवार के साथ पुलिस ने बाकी मेरे सामने जो बर्ताव किया वह सही नहीं था. इस तरह के व्यवहार से सीमा पर खड़ी हमारी सेना के हौसले पर असर पड़ता है. हम चाहते हैं कि सरकार मृतक के परिजन से माफी मांगे. मैं यहां बैठा रहूंगा, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता.'

इससे पहले रामकिशन ग्रेवाल का अंतिम संस्कार गुरुवार को हरियाणा में भिवानी जिले में स्थित उनके गांव बामला में किया गया. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अंतिम संस्कार में शामिल हुए. राहु्ल ने रामकिशन की चिता पर लकड़ी रखी. केजरीवाल ने पूर्व सैनिक के परिवार को एक करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की. सेना में सूबेदार पद से सेवानिवृत ग्रेवाल ने मंगलवार को जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी.

ग्रेवाल ने खुदकुशी से पहले कहा था कि वह आत्महत्या कर रहे हैं क्योंकि ओआरओपी पर सरकार उनकी मांगों को पूरा करने में नाकाम रही है. इस बीच, केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने यह कहते हुए नया विवाद खड़ा कर दिया कि रामकिशन कांग्रेस से जुड़े थे और कांग्रेस के टिकट पर ही सरपंच का चुनाव जीता था.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें