1. home Home
  2. national
  3. 24 killed in andhra pradesh rain flood 1316 villages affected crops damaged mtj

आंध्र में बारिश-बाढ़ से तबाही, 24 मरे, 1316 गांव प्रभावित, 2.33 लाख हेक्टेयर में लगी फसल तबाह

आंध्रप्रदेश के 4 शहर, 1316 गांव और 172 मंडल बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. नेल्लोर, अनंतपुर, चित्तूर और कडप्पा में 23,994 की आबादी प्रभावित हुई है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Andhra Pradesh Rain-Flood: नेल्लोर में ऐसे हैं हालात
Andhra Pradesh Rain-Flood: नेल्लोर में ऐसे हैं हालात
PTI

Andhra Pradesh Rain-Flood : तमिलनाडु के बाद अब आंध्रप्रदेश में बारिश ने भारी तबाही मचायी है. मूसलाधार बारिश के बाद आयी बाढ़ में अब तक 24 लोगों की मौत हो चुकी है. कम से कम 17 लोग लापता हैं. 21 गांव पूरी तरह से जलमग्न हो गये हैं. 233450 हेक्टेयर में लगी फसल बर्बाद हो गयी है. बड़े पैमाने पर मवेशियों का भी नुकसान हुआ है. सरकार ने शनिवार देर शाम को यह जानकारी दी.

सरकार की ओर से जारी आंकड़ों में बताया गया है कि राज्य के 4 शहर, 1316 गांव और 172 मंडल बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. नेल्लोर, अनंतपुर, चित्तूर और कडप्पा में 23,994 की आबादी प्रभावित हुई है. यहां 1,549 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं. सरकार ने कहा है कि बारिश और बाढ़ से मकानों के गिरने की वजह से कम से कम 5 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

आंध्रप्रदेश में 488 आवासीय मकानों के नाम-ओ-निशान मिट गये हैं. सबसे ज्यादा नुकसान कडप्पा में हुआ है. यहां 394 मकानों का कोई अता-पता नहीं रह गया है. करीब 4.08 करोड़ रुपये की क्षति हुई है. कडप्पा जिला में 866 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. नेल्लोर में 33, अनंतपुर में 311 और चित्तूर में 106 गांव प्रभावित हुए हैं.

बाढ़ से परेशान लोगों को निजात दिलाने के लिए सरकार ने बड़े पैमाने पर राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया है. इन चार जिलों में कम से कम 243 राहत शिविर लगाये हैं. 20,923 लोगों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र से सुरक्षित निकाला गया है. सभी लोगों को राहत शिविर में रखा गया है. सरकार की ओर से अब तक 53,462 फूड पैकेट बांटे ग9ये हैं. 1,33,867 पानी के पैकेट का वितरण किया गया है. सिर्फ चित्तूर जिला में 500 मीट्रिक टन चावल का मुफ्त आवंटन किया गया है.

ज्ञात हो कि पिछले दिनों तमिलनाडु और केरल में चक्रवातीय बारिश ने भारी तबाही मचायी थी. बड़े पैमाने पर दोनों राज्यों में जान-माल का नुकसान हुआ था. रिपोर्ट्स में बताया गया है कि सिर्फ तमिलनाडु में डेढ़ दर्जन के करीब लोगों की मौत हो गयी थी. चेन्नई में नवंबर के महीने में पिछले साल की तुलना में इस वर्ष 44 फीसदी अधिक वर्षा हुई है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें