29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

देवघर रोपवे हादसा: त्रिकूट पहाड़ रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म, 46 लोग निकाले गये सुरक्षित, 3 लोगों की मौत

देवघर रोपवे हादसा LIVE Updates: देवघर स्थित त्रिकुट पहाड़ रोपवे हादसे में फंसे 46 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. इस दौरान तीन लोगों की मौत हो गयी. इसके साथ ही आज मंगलवार को तीसरे दिन रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो गया.

लाइव अपडेट

रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म

झारखंड के देवघर स्थित त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसा में ट्रॉली में फंसे लोगों में से कुल 46 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया. इस दौरान तीन लोगों की मौत हो गयी. इसके साथ ही आज मंगलवार को तीसरे दिन सेना का रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो गया. वायुसेना, एनडीआरएफ, आईटीबीपी समेत सेना के अन्य जवानों ने कड़ी मशक्कत के बाद जान जोखिम में डालकर ट्रॉली में फंसे लोगों को नयी जिंदगी दी. आपको बता दें कि रविवार को करीब साढ़े चार बजे रोपवे हादसा हुआ था. तब से रेस्क्यू ऑपेरशन जारी था.

रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म

झारखंड के देवघर स्थित त्रिकुट पहाड़ रोपवे हादसे में फंसे 46 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. इस दौरान तीन लोगों की मौत हो गयी. इसके साथ ही आज मंगलवार को तीसरे दिन रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो गया.

एयरलिफ्ट के दौरान गिरी महिला

एक ट्रॉली में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू जारी है. इस बीच एयरलिफ्ट के दौरान एक महिला गिर गयी, जिसे सदर हॉस्पिटल लाया गया है. एनडीआरएफ के अनुसार महिला की सांसें चल रही हैं. ये महिला देवघर की ही है.

रेस्क्यू अंतिम चरण में

देवघर के त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसे में फंसे लोगों में से अब तक 43 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. रेस्क्यू ऑपरेशन अंतिम चरण में है. अब एक ट्रॉली में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए रेस्क्यू किया जा रहा है.

मृतक के परिजनों ने किया सड़क जाम

झारखंड के देवघर स्थित त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसे में फंसे लोगों में से अब तक 43 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. शेष लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए वायुसेना समेत सेना के अन्य जवान रेस्क्यू में जुटे हैं. इस हादसे में अब तक दो लोगों की जान जा चुकी है. मृतक राकेश के परिजन उसकी मौत से आक्रोशित हैं. परिजनों ने सड़क जाम कर दिया है. त्रिकुट पहाड़ जाने के चौराहे को मृतक राकेश के परिजनों ने जाम कर दिया है. आपको बता दें कि आज मंगलवार को 11 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है.

हादसे की होगी उच्चस्तरीय जांच

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने देवघर जिला स्थित त्रिकूट पर्वत के रोपवे का तार टूटने से हुए हादसे पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने कहा है कि घटना की उच्चस्तरीय जांच करायी जायेगी. त्रिकूट पहाड़ पर हुई घटना और इसमें हुई मौतों पर अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. उन्होंने कहा कि हादसे के बाद युद्धस्तर पर राहत और बचाव कार्य किया जा रहा है. एनडीआरएफ और बचाव दल द्वारा लोगों को सकुशल निकालने का प्रयास जारी है. इसमें विशेषज्ञों की भी सहायता ली जा रही है. इस हादसे पर सरकार की पूरी नजर है.

झारखंड का त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसा: वायुसेना का रेस्क्यू ऑपरेशन जारी, 28 लोगों को सुरक्षित निकाला गया

आज सुबह से फिर शुरू हुआ रेस्क्यू

सोमवार को अंधेरा होने के बाद जब एयरफोर्स का हेलीकॉप्टर वापस लौट कर नहीं आया , तो पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन, आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल, एडीजी आरके मल्लिक, पर्यटन सचिव राहुल कुमार सिन्हा, देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री और एसपी सुभाष चंद्र जाट ने आंतरिक बैठक की. आपदा प्रबंधन सचिव ने बताया कि दो ट्रॉली में शेष फंसे हुए लोगों को मंगलवार सुबह ही वायुसेना के हेलीकॉप्टर से निकाला जा सकता है, क्योंकि ट्रॉली काफी ऊंचाई पर है. ऐसी परिस्थिति में रात में मैनुअल तरीके से निकालना काफी मुश्किल होगा. आज मंगलवार सुबह से फिर रेस्क्यू शुरू किया गया.

देवघर त्रिकूट रोपवे हादसा: कैसे हुआ हादसा ? रेस्क्यू जारी Video

त्रिकूट पहाड़ रोपवे: कैसे हुआ हादसा

रेस्क्यू के दौरान राकेश का सेफ्टी बेल्ट खुलकर गरदन के पास आ गया. राकेश ने अपने हाथों से हेलीकॉप्टर को थाम लिया, लेकिन करीब दो मिनट के बाद हाथ छूट गया और वह नीचे खाई में जा गिरा. घटना के बाद मृतक की पहचानवाली महिला अनिता कुमारी बेहोश हो गयी. इस हादसे के बाद रोपवे के नीचे थोड़ी हंगामे की स्थिति हो गयी. इसके बाद प्रशासन ने मोर्चा संभाल लिया. मृतक के शव को खाई से निकाल कर सदर अस्पताल भेज दिया गया. घटना से पहले इसी ट्रॉली से तीन लोगों को ही बाहर निकाला गया था. उसके बाद अंधेरा होने के कारण वायु सेना का रेस्क्यू रोक दिया गया.

झारखंड का त्रिकूट रोपवे हादसा: दिल्ली में गृह मंत्रालय की बैठक, फंसे लोगों को बिस्किट देने की तैयारी

रातभर जमे रहे अधिकारी व पुलिस बल

रविवार की शाम करीब 4:30 बजे घटना के बाद से ही देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री, एसपी सुभाष चंद्र जाट, एसडीओ दिनेश यादव व अन्य अधिकारी रातभर त्रिकूट रोप-वे के नीचे जमे रहे. वहीं सांसद डॉ निशिकांत दुबे खाट लगाकर पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन पर नजर लगाये हुए थे.

झारखंड का त्रिकूट रोपवे हादसा: NDRF के साथ हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू कर रही वायु सेना, अब भी फंसे हैं 48 लोग

स्थानीय पन्नालाल ने संभाला मोर्चा

एयरफाेर्स के हेलीकॉप्टर का रेस्क्यू शुरू होने से पहले सोमवार को स्थानीय ग्रामीणों की टीम ने पूरी सजगता के साथ रस्सी और सेफ्टी बेल्ट के साथ कुर्सी के जरिए दो ट्रॉली से 11 पर्यटकों को खुद रेस्क्यू कर सुरक्षित नीचे उतार लिया. इसमें स्थानीय गांव के रहने वाले पन्नालाल लीड रोल निभाते हुए रस्सी के जरिए ट्रॉली पर गये और एक-एक कर दोनों ट्रॉली से 11 पर्यटकों को महिला व बच्चा समेत सुरक्षित नीचे उतारा. पन्नालाल के साथ करीब आठ अन्य ग्रामीण, एनडीआरएफ तथा आइटीबीपी के जवान सहयोग कर रहे थे.

देवघर में बड़ा हादसा, त्रिकूट रोप-वे का रोलर टूटने से 1 की मौत, दर्जनों घायल, 40 अब भी फंसे

राकेश को किया जा रहा था रेस्क्यू

एक-एक कर ट्रॉली में फंसे पर्यटकों को बाहर निकाला जा रहा था. सोमवार शाम 5:00 बजे वायु सेना के दोनों हेलीकॉप्टर को रेस्क्यू में लगा दिया गया. शाम करीब 5:35 बजे एक ट्रॉली में सवार चार लोगों में से दो लोगों को एक हेलीकॉप्टर से निकाल लिया गया था और दूसरे हेलीकॉप्टर से मृतक की एक पहचान वाली महिला को पहले निकाला गया. उसके बाद राकेश को रेस्क्यू किया जा रहा था.

देवघर के त्रिकुट रोपवे में हादसा, 3 ट्रॉली पत्थर से टकरायी, दर्जनों घायल, मौके पर पहुंची NDRF की टीम

मौत के बाद रुका ऑपरेशन

सोमवार को युवक की मौत के बाद शाम छह बजे रेस्क्यू ऑपरेशन रोक देना पड़ा था. इससे पहले सुबह 11:00 बजे से एयरफोर्स के जवान जहां हेलीकॉप्टर से एयरलिफ्ट करने में लगे थे. वहीं स्थानीय लोगों की मदद से एनडीआरएफ व आइटीबीपी की टीम ने मैनुअल रेस्क्यू कर रस्सी के सहारे पांच बच्चियों सहित 10 लोगों को ट्रॉली से नीचे उतारा. गृह मंत्रालय के निर्देश पर रांची व कलईकुंड से आये वायु सेना के एक-एक हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू शुरू किया गया.

देवघर हादसे में फंसे शुभम ने सुनायी आपबीती, कहा- अब दोबारा रोपवे पर नहीं चढ़ेंगे

खाई में गिरकर एक की मौत

एयरलिफ्ट के दौरान हेलीकॉप्टर में घुसने से पहले एक सेफ्टी बेल्ट खुल जाने के कारण एक युवक 860 फीट खाई में गिर गया, जिससे उसकी मौत हो गयी. इस तरह हादसे में मरनेवालों की संख्या अब तक दो हो गयी है. मृतक राकेश मंडल (36) दुमका जिला के सरैयाहाट थाना क्षेत्र के ककनी गांव का रहनेवाला था. वह शिकारीपाड़ा में रोजगार सेवक के पद पर कार्यरत था.

देवघर रोपवे हादसा: पन्नालाल की हिम्मत देख जाग गये सेना के जवानों के हौसले, फिर ऐसे बचायी लोगों की जान

रेस्क्यू में जुटे जवान

देवघर त्रिकूट रोपवे हादसे में आज सुबह से ही रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है. सबह से चल रहे अभियान में अब तक 9 लोगों को बचा लिया गया है जबकि 7 लोग अब भी फंसे हुए हैं. कुल 42 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. वायुसेना, आईटीबीपी, एनडीआरएफ, पुलिस बल मिलकर लगातार रेस्क्यू में जुटे हैं.

देवघर रोपवे हादसा: डर के साये के बीच कैसे बीती 32 लोगों की जिंदगी, रात भर सो नहीं पाये बच्चे

Trikut Pahar Ropeway AccidentLIVE Updates: झारखंड के देवघर स्थित त्रिकूट पहाड़ रोपवे हादसे में फंसे लोगों में से अब तक 42 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. शेष 7 लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए वायुसेना समेत सेना के अन्य जवान रेस्क्यू में जुटे हैं. इस बीच सेना का एक जवान भी घायल हो गया. आपको बता दें कि इस हादसे में अब तक दो लोगों की जान जा चुकी है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें