24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Vastu Tips: कहीं वास्तु दोष के कारण तो नहीं आ रही आपके करियर में बाधा, तुरंत कर लें ये 7 उपाय

जीवन की यात्रा में, एक सफल और संतुष्टिदायक करियर अक्सर एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर होता है. हालांकि, बाधाएं कभी-कभी हमारी प्रगति में रुकावट बन सकती हैं. ऐसे में आपको ये जानकर हैरानी होगी कि वास्तु शास्त्र इन बाधाओं को दूर करने में मदद कर सकता है.

जीवन की यात्रा में, एक सफल और संतुष्टिदायक करियर अक्सर एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर होता है. हालांकि, बाधाएं कभी-कभी हमारी प्रगति में रुकावट बन सकती हैं. ऐसे में आपको ये जानकर हैरानी होगी कि वास्तु शास्त्र इन बाधाओं को दूर करने में मदद कर सकता है.

Undefined
Vastu tips: कहीं वास्तु दोष के कारण तो नहीं आ रही आपके करियर में बाधा, तुरंत कर लें ये 7 उपाय 2

करियर में वास्तु का महत्व

जी हां, वास्तु करियर की संभावनाओं को बढ़ा सकता है और करियर के विकास में आने वाली बाधाओं को दूर कर सकता है. यहां कुछ वास्तु टिप्स दिए गए हैं, जिसे अपनाकर आप अपने करियर में आ रही परेशानियों को दूर कर सकते हैं.

उत्तर दिशा की शक्ति का उपयोग करें

वास्तु करियर के विकास के लिए उत्तर और उत्तर-पूर्व दिशाओं के महत्व पर जोर देता है. सुनिश्चित करें कि आपका कार्यालय या कार्यक्षेत्र इस तरह से उन्मुख है कि उत्तर खुला और निर्बाध हो. इससे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और आपके करियर की संभावनाएं बढ़ती हैं. करियर में वृद्धि या नए अवसरों को आकर्षित करने के लिए उत्तर दिशा में नीली बोतल में मनी प्लांट रखें.

Also Read: Vastu Tips: स्वस्थ, सुखी जीवन के लिए अपनाएं वास्तु के ये 10 टिप्स

डेस्क प्लेसमेंट

आपके डेस्क का स्थान महत्वपूर्ण है. आपका डेस्क आपके कार्यालय के दक्षिण-पश्चिम या पश्चिम भाग में होना चाहिए. यह स्थिति निर्णय लेने की क्षमता और नेतृत्व गुणों को बढ़ाती है, जिससे आपका करियर आगे बढ़ता है.

उत्तर या पूर्व दिशा की ओर मुख करके बैठें

उत्तर दिशा संचार, बुद्धि और व्यापार से जुड़ा है; जबकि पूर्व दिशा नेतृत्व, अधिकार और प्रसिद्धि से जुड़ी है. इसलिए, इन दिशाओं की ओर मुंह करके बैठने से आपको खुद को स्पष्ट रूप से व्यक्त करने, रचनात्मक सोचने और दूसरों को प्रभावित करने में मदद मिल सकती है.

आपकी पीठ के पीछे ठोस दीवार

आपकी पीठ के पीछे एक ठोस दीवार आपके वरिष्ठों, सहकर्मियों और ग्राहकों के समर्थन का प्रतिनिधित्व करती है. यह आपको सुरक्षा और आत्मविश्वास की भावना भी देता है. दूसरी ओर, आपकी पीठ के पीछे खिड़की या खुली जगह होने से आप असुरक्षित और विचलित महसूस कर सकते हैं.

दक्षिण-पश्चिम या पश्चिम दिशा में पहाड़ों की तस्वीर

दक्षिण-पश्चिम दिशा पृथ्वी तत्व से जुड़ी है, जो स्थिरता, फोकस और दृढ़ता का प्रतिनिधित्व करती है. पश्चिम दिशा अंतरिक्ष तत्व और शनि ग्रह से संबंधित है, जो अनुशासन, कड़ी मेहनत और फोकस का प्रतिनिधित्व करता है. इसलिए, इन दिशाओं में पहाड़ों की तस्वीर लगाने से आपको चुनौतियों से निपटने, प्रेरित रहने और अपने प्रतिस्पर्धियों से ऊपर उठने में मदद मिल सकती है.

Also Read: Vastu Tips: घर में इन चीजों को कभी न रखें खाली, वरना कहीं लग गया वास्तु दोष तो सबकुछ हो जाएगा खत्म

सफलता के लिए रंग का महत्व

रंग हमारे मनोविज्ञान और ऊर्जा स्तर पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालते हैं. वास्तु के अनुसार, हरा रंग विकास और सद्भाव से जुड़ा है. अपने कार्यालय की साज-सज्जा में हरे रंग के शेड्स शामिल करें, जैसे हरे रंग की लैंडस्केप पेंटिंग, गमले में लगे पौधे, या हरे रंग की सजावट. यह एक सकारात्मक कार्य वातावरण को बढ़ावा दे सकता है और करियर विकास को प्रोत्साहित कर सकता है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें