1. home Hindi News
  2. health
  3. more than 3000 thousand people test positive china new virus brucellosis transmission bacterial infection lanzhou symptoms causes treatment coronavirus latest health news in hindi smt

Corona के बाद चीन में नयी बीमारी से 3245 लोग संक्रमित, जानें हवा में फैलने वाली ये बीमारी कितनी है खतरनाक?

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Brucellosis, China, Health News, coronavirus
Brucellosis, China, Health News, coronavirus
Prabhat Khabar Graphics

Brucellosis, China, Health News : चीन में एक बार फिर एक नयी बीमारी ने दस्तक दे दी है. यह भी लोगों को संक्रमित कर रहा है. इधर, कोरोना का कहर समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा, ऊपर से ब्रूसेलोसिस (Brucellosis) नाम के इस बीमारी ने अभी तक करीब 3245 लोगों (3000 people test positive for Brucellosis in Lanzhou) को अपने चपेटे में ले लिया है. दरअसल, उत्तर-पश्चिम चीन के गांसू प्रांत के लान्झोउ में नई बीमारी से लोगों के संक्रमित होने की सूचना मिल रही है. आइये जानते हैं क्या है ये नई बीमारी और कितनी है खतरनाक...

एक रिपोर्ट की मानें तो लान्झोउ वेटरीनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट ने दिसंबर में ही इस बीमारी की सूचना दी थी. खबरों के अनुसार चीन ने गांसू प्रांत में 21,847 लोगों की इस संबंध में जब जांच तो पाया कि इनमें 4,646 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. जिनमें 3245 लोग गंभीर रूप से संक्रमित थे. जबकि, बाकि लोगों में हल्के लक्षण हैं.

बीमारी के लिए व्यवस्था

चीन की मीडिया ग्लोबल टाइम्स में छपी रिपोर्ट की मानें तो ब्रूसेलोसिस (Brucellosis) बीमारी पर निगरानी रखने का काम लान्झोउ वेटरीनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट ने 11 पब्लिक मेडिकल शैक्षणिक संस्थानों और अस्पतालों को सौंपा है. इन अस्पतालों में इस बिमारी से पीड़ित मरीजों का मुफ्त ईलाज किया जा रहा है. यही नहीं कोरोना की तरह इससे बचने के उपाय भी बताए जा रहे है और लक्षणों के बारे में भी समझाया जा रहा है.

कैसे फैली यह बीमारी

गांसू प्रोविंशियल सेंटर फॉर डिजीस कंट्रोल एंड प्रिवेंशन ब्रूसेलोसिस (Brucellosis) बीमारी की सूचना देते हुए बताया था कि यह बीमारी बैक्टिरिया से होने वाली बीमारियों में से एक है. रिपोर्ट के अनुसार 24 जुलाई 2019 से 20 अगस्त 2019 के बीच झोन्गमू लॉन्झोउ बायोलॉजिकल फार्मास्यूटिकल फैक्ट्री द्वारा ब्रूसेला वैक्सीन बनाया जा रहा था. इस दौरान उन्होंने एक्सपायर्ड डिसइंफेक्टेंट का प्रयोग किया. इस वैक्सीन का उपयोग जानवरों जैसे भेड़-बकरियों के ईलाज के लिए होता हैं. लेकिन, कारखाने में रखे फर्मेंटेशन टैंक से बेकार डिसइंफेक्टेंट गैस का रिसाव होने लगा. जिसके बाद टैंक को साफ करके उसमे से तरल पदार्थ बाहर निकाला गया. तरल पदार्थ के बाहर आने पर एक प्रकार का बैक्टीरिया उस टैंक में पाया गया, यही हवा में गैस के जरिये फैल रहा था. जो आज ब्रूसेलोसिस (Brucellosis) बीमारी का कारण बन बैठा है.

कंपनी का लाइसेंस रद्द, जुर्माना भी

जिसके बाद 13 जनवरी 2020 को लॉन्झोउ बायोलॉजिकल फार्मास्यूटिकल फैक्ट्री का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है. कंपनी वैक्सीन तो नहीं बना पा रही साथ ही साथ वहां के आठ लोगों को चीनी सरकार द्वारा जान जोखिम में डालने के लिए सख्त सजा भी दी है.

ब्रूसेलोसिस का दूसरा नाम मेडिटेरेनियन

इधर, 3245 बीमार लोगों में 2773 लोगों का दोबारा जांच किया जा रहा है. ताकि इस बात का अंदेशा हो पाए कि यह कितना खतरनाक साबित होने वाला है. ब्रूसेलोसिस (Brucellosis) को मेडिटेरेनियन फीवर (Mediterranean fever) भी कहा जाता है. यह ब्रूसेला नाम के बैक्टीरिया से होता है.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें