1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. lock upp saisha shinde evicted just before finale munawar faruqui tells i love you slt

Lock Upp : फिनाले से ठीक पहले लॉकअप से बाहर हुईं सायशा शिंदे, मुनव्वर फारुकी ने कहा-'आई लव यू'

लॉकअप के ग्रैंड फिनाले से ठीक पहले सायशा शिंदे घर से बाहर हो चुकी हैं. कम वोट के चलते फैशन डिजाइनर को जाना पड़ा. उनके जाने से घरवाले काफी उदास नजर आए.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Saisha Shinde
Saisha Shinde
instagram

कंगना रनौत का रियालिटी शो लॉकअप स्ट्रीम होने के बाद से ही सुर्खियों में छाया हुआ है. शो की शुरूआत फरवरी में हुई थी, तब से यह शो सुर्खियों में छाया हुआ है. शो में कई नामचीन सेलेब्स ने भाग लिया. इसमें उन्होंने कई सनसनीखेज खुलासे भी किए, जिसे सुनकर हर को दंग रह गया. हालांकि, आज लॉक अप का ग्रैंड फिनाले होना है. जिसको लेकर फैंस काफी ज्यादा एक्साइटेड है, कि किसके सर ताज सजेगा.

सायशा शिंदे हुई एलिमिनेट

हालांकि ग्रैंड फिनाले से ठीक पहले शो से सायशा शिंदे बाहर हो गई है. दरअसल करण ने तेजस्वी का जेल के वार्डन के रूप में स्वागत किया और खुलासा किया कि वह उन सभी प्रतियोगियों को दुष्ट लॉकेट देगी, जिन्होंने इसे फिनाले में बनाया है. कुछ देर कंटेस्टेंट्स को चिढ़ाने के बाद भी सायशा को लॉकेट नहीं दिया और कहा गया कि उन्हें सबसे कम वोट मिले हैं. जिसके बाद सायशा शो से बाहर हो गई. आपको बता दें कि इससे पहले, होस्ट कंगना रनौत के साथ लड़ाई के बाद सायशा को शो से बाहर होना पड़ा था. बाद में उन्होंने करणवीर बोहरा के साथ फिर से एंट्री की थी.

मुनव्वर फारूकी ने कहा 'आई लव यू'

सायशा जेल से बेघर होने के बाद ज्यादा निराश नहीं दिखाई दीं और उन्होंने मुस्कान के साथ फैसला स्वीकार कर लिया. उन्होंने शो में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए मंच और अपने सह-प्रतियोगियों को थैंक्यू कहा. इसके बाद सभी ने उन्हें गले लगाया. जब सायशा ने मुनव्वर फारूकी को गले लगाया, तो मुनव्वर ने उन्हें 'आई लव यू' कहा और उसने जवाब दिया कि वह भी उससे प्यार करती है.

सायशा ने मुनव्वर के लिए कही ये बात

इससे पहले सायशा ने शो में मुनव्वर के लिए अपनी भावनाओं को कबूल किया था. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि वह अच्छी तरह जानती थी कि वह उसकी भावनाए एकतरफा है. हाल ही में मुनव्वर ने अंजलि अरोड़ा से कहा था कि वह सायशा को 'आई लव यू' कह सकते हैं, लेकिन अंजलि को नहीं, क्योंकि इसकी अलग तरह से व्याख्या की जाएगी.

मुनव्वर ने बताया अपने जीवन का संघर्ष

शो के बारे में अपने अंतिम शब्द कहने के लिए पूछे जाने पर, मुनव्वर ने कहा, "मैंने केवल पांचवीं कक्षा तक पढ़ाई की और जल्द ही काम करना शुरू कर दिया. फिर, मैंने अपनी मां को खो दिया और पिताजी को लकवा मार गया. उन्हें 10-11 साल तक लकवा मार गया और मैंने उसी तरह काम करना जारी रखा. लोग केवल यही करते हैं. मुझे कभी नहीं लगा कि मुझे किसी और चीज की जरूरत है, लेकिन, यहां आने के बाद, मुझे इतनी कीमती चीजें मिलीं. मुझे ऐसे महान दोस्त मिले, जैसे अंजलि और सायशा. अंजलि बहुत देखभाल करने वाली है और सायशा वह है जो कभी नहीं करेगी मुझे गलत रास्ते पर चलने दो."

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें