1. home Hindi News
  2. election
  3. up assembly elections
  4. jaunpur malhani vidhan sabha seat jdu candidate dhananjay singh political journey acy

UP Chunav 2022: बाहुबली धनंजय सिंह को मल्हनी सीट पर अब तक नहीं मिली जीत, जानें कैसा रहा है सियासी सफर

बाहुबली धनंजय सिंह जौनपुर की मल्हनी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. वह अभी तक इस सीट पर जीत हासिल नहीं कर सके हैं. उन्हें पिछली बार सपा के पारसनाथ यादव के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
UP Chunav 2022: बाहुबली धनंजय सिंह को मल्हनी सीट पर अब तक नहीं मिली जीत
UP Chunav 2022: बाहुबली धनंजय सिंह को मल्हनी सीट पर अब तक नहीं मिली जीत
फाइल फोटो

UP Vidhan Sabha Chunav 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के सातवें चरण में 9 जिलों की 54 सीटों पर 7 मार्च को मतदान होगा. इस चरण में पूर्वांचल के बाहुबलियों की भी किस्मत का फैसला होगा. जौनपुर की मल्हनी विधानसभा सीट से पूर्व सांसद धनंजय सिंह चुनावी मैदान में हैं. उन्हें जनता दल (यूनाइटेड) ने अपना प्रत्याशी बनाया है.

2002 में पहली बार बने विधायक

मल्हनी विधानसभा सीट 2012 में अस्तित्व में आयी. पहले इसे रारी के नाम से जाना जाता था. यहां से धनंजय सिंह ने पहली बार 2002 में निर्दलीय चुनाव लड़ा और विधायक बने. उन्होंने सपा के प्रत्याशी पूर्व मंत्री श्रीराम यादव को हराया था. इसके बाद, 2002 और 2007 में धनंजय सिंह जनता दल यूनाइटेड के टिकट पर चुनाव लड़े और दूसरी बार विधायक बने. धनंजय सिंह 2009 में सांसद निर्वाचित हुए, जिसके बाद उन्होंने उप चुनाव में अपने पिता राजदेव सिंह को बसपा के टिकट पर चुनाव लड़वाया. इस चुनाव में राजदेव सिंह की जीत हुई और वे विधायक बने.

मल्हनी सीट पर धनंजय सिंह को नहीं मिली जीत

मल्हनी सीट के अस्तित्व में आने के बाद से इस पर धनंजय सिंह को अभी तक जीत नहीं मिली है. साल 2012 में धनंजय सिंह की पत्नी जागृति सिंह पर नौकरानी की हत्या का आरोप लगा था. इस मामले में धनंजय और उनकी पत्नी को जेल तक जाना पड़ा. इसके बाद साल 2012 में ही जागृति ने मल्हनी से विधायकी का पर्चा भरा, लेकिन हार गईं. राजनीतिक हार का उनका सिलसिला 2020 के उपचुनाव तक भी नहीं थमा.

2012 में जागृति सिंह को मिली हार

2012 में धनंजय सिंह ने अपनी पत्नी जागृति सिंह को चुनावी मैदान में उतारा, लेकिन सपा के दिग्गज नेता पारसनाथ यादव के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा. इसे बाद 2017 में निषाद पार्टी के टिकट पर धनंजय सिंह खुद चुनावी मैदान में उतरे, लेकिन फिर पारसनाथ के हाथों उन्हें हार का सामना करना पड़ा. हालांकि, अपनी पत्नी श्रीकला को धनंजय सिंह ने जिला पंचायत अध्यक्ष जरूर बना दिया.

पिछले चुनाव में धनंजय सिंह को मिली हार

मल्हनी विधानसभा सीट से 2017 में सपा के पारसनाथ यादव ने जीत हासिल की. उन्होंने निषाद पार्टी के धनंजय सिंह को 21,210 मतों से हराया. इस सीट पर 2017 में 60.04 प्रतिशत मतदान हुआ था. इस बार के चुनाव में बीजेपी ने यहां से डॉक्टर केपी सिंह, सपा ने लकी यादव, बसपा ने शैलेंद्र यादव, कांग्रेस ने पुष्पा शुक्ला को प्रत्याशी बनाया है. 2012 में भी पारसनाथ यादव विधायक रहे. वहीं 2020 में उनके निधन के बाद सपा के लकी यादव विधायक निर्वाचित हुए.

मल्हनी विधानसभा में मतदाता

  • कुल मतदाता- 3,40,165

  • पुरुष- 1,80,425

  • महिला- 1,65,414

Posted By: Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें