1. home Hindi News
  2. business
  3. where are you getting more interest on investment in the new financial year ksl

नये वित्त वर्ष में निवेश पर कहां मिल रहा अधिक ब्याज, कैसे अर्जित कर सकते हैं ज्यादा लाभ, जानें...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Public Provident Fund
Public Provident Fund
Twitter

नयी दिल्ली : नये वित्त वर्ष में यदि आप अपने निवेश पर अधिकतम लाभ कमाना चाहते हैं, तो आपको योजनाबद्ध तरीके से लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) में निवेश कर अधिक लाभ अर्जित कर सकते हैं. इसके लिए आपको महीने की शुरुआत में ही निवेश करना होगा. इससे आपको आपकी जमा राशि पर अधिकतम ब्याज मिलेगा. इसके लिए आपको पांच अप्रैल से पहले ही राशि जमा करनी होगी.

माह की शुरुआत में ही क्यों जमा करें राशि?

निवेश की राशि माह की शुरुआत में क्यों की जाये. यह सवाल आपके मन में आ सकता है. इसे जानने के लिए आपको यह समझना होगा कि ब्याज की गणना कैसे की जाती है. पीपीएफ खाते में न्यूनतम शेष राशि की गणना प्रत्येक माह के पांचवें और अंत के बीच की जाती है. यदि आप माह के शुरुआत में ही पांच तारीख से पहले निवेश की राशि जमा करते हैं, तो आपको ब्याज का भुगतान जमा राशि पर भी मिलेगा. यदि आप ऐसा नहीं करते हैं, तो आपको पिछली माह की शेष राशि पर ही ब्याज राशि मिलती है.

क्या है ब्याज का गणित?

आइए उदाहरण से समझते हैं. मान लें कि आपके पास पीपीएफ खाते में पहले से ही छह लाख रुपये जमा हैं. यदि आप तीन अप्रैल को 50 हजार रुपये का निवेश करते हैं, तो 7.1 फीसदी की वर्तमान दर पर आपका मासिक ब्याज (7.1% / 12 X 6.50 लाख) = 3,845 रुपये होगा. वहीं, यदि आप 10 अप्रैल को 50 हजार रुपये का निवेश करते हैं, तो ब्याज की गणना तीन अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच न्यूनतम राशि पर की जायेगी. ऐसे में आपको 3550 रुपये ही ब्याज मिलेंगे. इस तरह आपको 295 रुपये अधिक ब्याज मिलेंगे. यदि आप प्रत्येक वित्तीय वर्ष के पांच अप्रैल से पहले निवेश करते हैं, तो आप बाद में राशि जमा करनेवालों की तुलना में करीब तीन लाख रुपये ज्यादा कमायेंगे.

कर में छूट के कारण निवेशकों की पसंदीदा निवेश योजनाओं में से एक है PPF

मालूम हो कि कर में छूट के कारण पीपीएफ में निवेश निवेशकों की पसंदीदा निवेश योजनाओं में से एक है. यह उन योजनाओं में से एक है, जो निवेश के सभी चरणों में कर मुक्त है. राशि जमा करने के दौरान निवेशकों को 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक की कटौती मिलती है. उसके बाद परिपक्व होने पर निकासी के समय भी पूरी राशि पर छूट मिलती है. साथ ही यह निवेश योजना निवेशकों को अधिकतम आय दर, निश्चित आय में संप्रभु गारंटी देता है. वर्तमान में पीपीएफ पर 7.1 फीसदी का रिटर्न मिल रहा है. वहीं, फिक्स्ड डिपॉजिट पर करीब 5 से 5.5 फीसदी का औसत रिटर्न मिल रहा है. इसलिए पीपीएफ में किये गये निवेश पर अधिक ब्याज पाने के लिए माह की शुरुआत में ही निवेश करना सही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें