1. home Hindi News
  2. business
  3. travel insurance policy protects from financial loss prt

ट्रैवल इंश्योरेंस सुहाने सफर का साथी

यात्रा से पहले अचानक मृत्यु हो जाने या किसी अन्य वजह से ट्रिप कैंसिल हो जाने, बीमारी की वजह से यात्रा में देरी होने या सफर के दौरान किसी दुर्घटना का शिकार होने पर ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी आपको वित्तीय नुकसान से बचाती है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
ट्रैवल इंश्योरेंस सुहाने सफर का साथी
ट्रैवल इंश्योरेंस सुहाने सफर का साथी
Twitter

स्कूलों में गर्मी की छुट्टी का ऐलान होने के साथ ही आपने बच्चों के साथ यात्रा पर जाने का मन बना लिया है, तो होटल की बुकिंग और पैकिंग करने के साथ ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी लेने के बारे में विचार करना न भूलें. यह पॉलिसी यात्रा के दौरान अनजान जगह पर आपको और आपके परिवार को कई तरह की समस्याओं का सामना करने में सहयोग प्रदान करती है.

इन स्थितियों में काम आती है यह पॉलिसी

यात्रा से पहले परिवार में किसी की अचानक मृत्यु हो जाने या किसी अन्य वजह से ट्रिप कैंसिल हो जाने, बीमारी की वजह से यात्रा में देरी होने या सफर के दौरान किसी दुर्घटना का शिकार होने पर यह पॉलिसी आपको वित्तीय नुकसान से बचाती है. ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी यात्रा के बीच आपका सामान या पासपोर्ट चोरी होने की स्थिति में भी कवर देती है. ऐसे में बीमा कंपनी टेम्पररी पासपोर्ट अरेंज करने में आपकी मदद करती है. विदेशी यात्रा के दौरान आपके सामने अगर कोई मेडिकल इमरजेंसी आ जाती है, तो इंश्योरेंस कंपनी आपके इलाज पर बीमित राशि के बराबर का कवर उपलब्ध कराती है.

यह सुविधा घरेलू यात्राओं पर भी मिलती है. यात्रा के दौरान यदि आप किसी ऐसी जगह पर बीमार हो जाते हैं, जहां बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं हैं, तो ट्रैवल इंश्योरेंस कंपनी नजदीकी शहर या देश में आपको पहुंचाकर समय पर इलाज उपलब्ध कराती है. हां, मगर आपको पहले से कोई बीमारी है, तो यह पॉलिसी उसे कवर नहीं करती. इसी तरह यदि आप यात्रा के दौरान किसी खतरनाक गतिविधि का हिस्सा बनते हैं और आपको किसी तरह की चोट लग जाती है, तो इस स्थिति में यह पॉलिसी काम नहीं करती.

समझदारी से करें पॉलिसी का चयन

इंश्योरेंस कंपनियां अलग-अलग नाम से ट्रैवल पॉलिसी ऑफर करती हैं. ऐसे में इन बातों पर ध्यान देना जरूरी है.

अधिकतर इंश्योरेंस कंपनियां 30 से 180 दिन की यात्रा के लिए पॉलिसी ऑफर करती हैं. बेहतर होगा कि आप अपने सफर की अवधि से कुछ दिन बाद तक एक्टिव रहने वाली पॉलिसी का चयन करें. लंबे सफर की अवधि के लिए प्रीमियम की राशि ज्यादा होती है. यदि आपको आये दिन यात्रा पर जाने की आवश्यकता पड़ती है, तो आप सालाना मल्टी-ट्रिप पॉलिसी ले सकते हैं. इनमें कई ट्रिप पर कवर मिलता है.

अगर आप परिवार के साथ सफर कर रहे हैं, तो पॉलिसी लेते वक्त यह देख लें कि उसमें वरिष्ठ नागरिकों का कवर मिल रहा है या नहीं. यदि नहीं, तो आप पॉलिसी को दो हिस्सों में बांट सकते हैं और सीनियर सिटीजन के लिए ट्रैवल इंश्योरेंस प्लान का चयन कर सकते हैं.

ट्रैवल इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए आखिरी समय का इंतजार न करें. ट्रैवल इंश्योरेंस कराने का बेहतर समय यात्रा शुरू करने से 15 दिन पहले का होता है. कुछ कंपनियां 15 दिन पहले ट्रैवल इंश्योरेंस लेने पर कुछ बोनस कवरेज भी देती हैं.

सिर्फ ट्रैवेल एजेंट के बताये कवर पर ध्यान न दें. ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाएं और अपना विकल्प खुद चुनें.

सस्ते ट्रैवल इंश्योरेंस खरीदने से बचें, क्योंकि हो सकता है कि वह आपकी जरूरतों के मुताबिक पर्याप्त न हो.

मेडिकल क्लेम पर दें जोर : ट्रैवल इंश्योरेंस में मेडिकल कवर सबसे अहम होता है. इसलिए जिस देश की यात्रा पर जा रहे हैं, वहां के मेडिकल खर्चों के बारे में पहले से ही जानकारी ले लें.

(प्रस्तुति : प्राची खरे)

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें