16.1 C
Ranchi
Tuesday, February 27, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Tata Technologies IPO में निवेश का आखिरी दिन, ब्रोकरेज ने कहा – शेयर जाएगा ₹940 के पार, जानें अपडेट

Tata Technologies IPO: बुधवार को टाटा टेक्नोलॉजीज का निर्गम खुलने के चंद मिनटों में ही इसे पूरा अभिदान मिल गया था. इसके लिए 475-500 रुपये प्रति शेयर का मूल्य दायरा तय किया गया है.

Tata Technologies के आईपीओ में निवेश करने का आज आखिरी दिन है. इसमें शाम पांच बजे तक निवेश किया जा सकता है. बृहस्पतिवार को 14.85 गुना अभिदान मिल गया. करीब दो दशक में टाटा समूह की किसी कंपनी का यह पहला आईपीओ है. इसके पहले टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का आईपीओ वर्ष 2004 में आया था. एनएसई के आंकड़ों के मुताबिक, 3,042.5 करोड़ रुपये के आईपीओ में 4,50,29,207 शेयरों की पेशकश पर कुल 66,87,31,680 शेयरों की बोलियां लगाई गई हैं. गैर-संस्थागत निवेशकों के खंड को 31.03 गुना अभिदान मिला है जबकि खुदरा व्यक्तिगत निवेशक खंड को 11.19 गुना अभिदान मिला है. पात्र संस्थागत खरीदारों के खंड को 8.55 गुना अभिदान मिला है. बुधवार को टाटा टेक्नोलॉजीज का निर्गम खुलने के चंद मिनटों में ही इसे पूरा अभिदान मिल गया था. इसके लिए 475-500 रुपये प्रति शेयर का मूल्य दायरा तय किया गया है. यह निर्गम पूरी तरह से बिक्री पेशकश पर आधारित है. इस दौरान 6.08 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश की गई है. निर्गम खुलने से पहले कंपनी ने बड़े (एंकर) निवेशकों से 791 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

क्या कहते हैं ब्रोकरेज फर्म

टाटा के इस आईपीओ के लेकर प्राइमरी मार्केट के साथ, ग्रे मार्केट में भी काफी हलचल है. ब्रोकरेज फर्म का दावा है कि कंपनी के शेयर 940 रुपये प्रति शेयर से ऊपर लिस्ट होंगे. दरअसल, कंपनी ने अपने शेयरों का जो प्राइस बैंड सेट किया है, वो अनलिस्टेड प्राइस से करीब 47 प्रतिशत कम है. अनलिस्टेड मार्केट्स में टाटा टेक्नोलॉजी का शेयर 950 रुपये प्रति शेयर पर ट्रेड कर रहा है. ऐसे में मार्केट को उम्मीद है कि संभावित तिथि पांच दिसंबर को लिस्ट होने के बाद, टाटा ग्रुप के इस शेयर से निवेशकों को बड़ा मुनाफा होने वाला है. इसी कारण से कंपनी के शेयरों पर ग्रे मार्केट में 400 रुपये का प्रीमियम मिल रहा है. इस हिसाब से देखा जाए तो कंपनी शेयर के अपर प्राइस बैंड 500 रुपये प्लस प्रीमियम 400 रुपये यानी शेयरों की कीमत 900 रुपये तक हो सकती है. बाजार के जानकार बताते हैं कि हर हाल में टाटा का ये शेयर अपने अनलिस्टेट प्राइस से ऊपर लिस्ट होगा.

Also Read: Tata Technologies IPO: टाटा में निवेश का आज बेहतरीन मौका, टाटा टेक्नोलॉजी का आईपीओ लेने से पहले जानें सब कुछ

कितना करना होगा निवेश

टाटा ग्रुप के शेयरों में निवेशकों का काफी भरोसा है. ऐसे में टाटा टेक्नोलॉजी में निवेश करने के लिए कई अमेरिकी संस्थान जिसमें Ghisallo Capital, Oaktree Capital, Key Square Capital, ब्लैकरॉक और मोर्गन स्टेनली आदि के साथ, खुदरा निवेशक भी दिलचस्पी दिखा रहे हैं. कंपनी एंकर खरीदारों के लिए 21 नंवबर को सब्सक्रिप्शन खोल रही है. जबकि, खुदरा निवेशक 22 नंवबर से आवेदन कर सकते हैं. टाटा के इस आईपीओं में कम से कम एक लॉट और अधिकतम 13 लॉट अप्लाई करना होगा. एक लॉट में 30 शेयर हैं. इसका अर्थ है कि निवेशक को कम से कम 15 हजार का निवेश इसमें करना पड़ेगा.

रजिस्ट्रर्ड पोर्टल पर आवंटन की स्थिति कैसे जांचें

  • रजिस्ट्रर्ड पोर्टल पर जाएं. उपलब्ध लिंक पर क्लिक करने के बाद आपको पांच लिंक देखने को मिलेंगे, जहां स्टेटस चेक किया जा सकता है.

  • किसी एक लिंक पर क्लिक करके, आईपीओ अनुभाग में ड्रॉपडाउन मेनू से जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड का चयन करें.

  • आवंटन स्थिति की जांच करने के लिए तीन विकल्पों में से किसी एक का चयन करें, यानी आवेदन संख्या, डीमैट खाता या पैन.

  • यदि आपने पहला विकल्प चुना है, तो आवेदन संख्या और कैप्चा कोड टाइप करें, फिर ‘सबमिट’ पर क्लिक करें.

  • यदि आपने डीमैट खाता संख्या के माध्यम से स्थिति जांचने का विकल्प चुना है, तो इसे टाइप करें और ‘सबमिट’ पर क्लिक करने से पहले कैप्चा कोड दर्ज करें.

  • तीसरे विकल्प के लिए अपना पैन नंबर डालें और कैप्चा कोड टाइप करें. ‘सबमिट’ पर क्लिक करें.

बीएसई और एनएसई पर आवंटन स्थिति की जांच कैसे करें

बीएसई के लिए, आधिकारिक साइट पर आवंटन पृष्ठ पर जाएं. अब ‘इश्यू टाइप’ सेक्शन के तहत ‘इक्विटी’ चुनें. ‘इश्यू नेम’ के तहत ड्रॉपडाउन विकल्प से आईपीओ चुनें.

स्थिति जांचने के लिए अपना पैन या आवेदन नंबर दर्ज करें.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की वेबसाइट पर जाएं.

उसे साइन अप करने के लिए क्लिक करें’ विकल्प चुनें और अपने पैन के साथ खुद को पंजीकृत करें. अब यूजरनेम, पासवर्ड और कैप्चा कोड के जरिए लॉगइन करें. खुलने वाले नए पेज पर अपना आईपीओ आवंटन स्थिति जांचें.

सेकेंड हैंड आईपीओ का बाजार है ग्रे मार्केट

ग्रे मार्केट को आसान शब्दों में IPO का सेकेंड हैंड बाजार कहा जा सकता है. इसका अर्थ है कि आईपीओ जारी होने के बाद आप सीधे शेयर बाजार से खरीदारी करने के बजाये किसी निवेशक जिसने पहले से कंपनी में निवेश कर रखा है उससे आईपीओ की खरीदारी करते हैं. इस ग्रे मार्केट में सबसे बड़ी परेशानी ये आती है कि इसमें काम करने वाले सेलर, ब्रोकर और ट्रेडर कहीं भी रजिस्टर्ड नहीं होते हैं. इस बाजार में कोई नियम कानून नहीं है. केवल भरोसे और व्यक्तिगत बातचीत पर कारोबार होता है. वहीं, पैसे फंसने पर रिकवरी भी आपको खुद अपने माध्यम से ही करनी पड़ती है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें