1. home Hindi News
  2. business
  3. mukesh ambani played an important role in taking reliance industries from floor to sky vwt

Mukesh Ambani Birthday: मुकेश अंबानी आज 65 साल के हुए, रिलायंस इंडस्ट्रीज को ऐसे पहुंचाया फर्श से अर्श तक

बताते चलें कि मुकेश अंबानी ने केमिकल इंजीनियरिंग में पढ़ाई पूरी करने के बाद 1981 में अपने पिता धीरूभाई अंबानी के साथ रिलायंस पेट्रो केमिकल की शुरुआत की. इसके बाद 1985 में कंपनी का नाम रिलायंस टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज लिमिटेड से बदलकर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड कर दिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Mukesh Ambani
Mukesh Ambani
फोटो : ट्विटर

Mukesh Ambani Happy Birthday: रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी का आज जन्मदिन है. आज 19 अप्रैल 2022 को वे 65 साल के हो गए हैं. मुकेश अंबानी भारत के प्रमुख उद्योगपति धीरू भाई अंबानी और कोकिला बेन के बड़े बेटे हैं. इसके साथ ही, दुनिया के टॉप अरबपतियों की सूची में मुकेश अंबानी का नाम भी शामिल है. शेयर बाजार में उनकी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) करीब 17 लाख करोड़ से अधिक है. उनकी रिलायंस इंडस्ट्रीज मार्केट कैप के हिसाब से दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनियों की सूची में 42वें स्थान पर है. पिता धीरू भाई अंबानी के बाद मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमान संभाली. आज उनके संरक्षण में यह कंपनी फर्श से अर्श पर चढ़कर पूरी दुनिया में अपना परचम लहरा रही है.

मुकेश अंबानी के पास कुल संपत्ति 96.6 अरब डॉलर

दुनिया के टॉप-10 अरबपतियों की सूची में मुकेश अंबानी 10वें पायदान पर हैं. फिलहाल, उनकी नेटवर्थ 96.6 अरब डॉलर है. इस मुकाम तक पहुंचने के लिए मुकेश अंबानी ने काफी मशक्कत की. उनके पिता धीरूभाई अंबानी जहां रिलायंस इंडस्ट्रीज को छोड़कर गए थे, वहां से अंबानी कंपनी को ऐसे मुकाम पर ले गए, जहां देश-दुनिया की बड़ी-बड़ी कंपनियां उससे काफी पीछे हैं.

कैसे की कैरियर की शुरुआत

बताते चलें कि मुकेश अंबानी ने केमिकल इंजीनियरिंग में पढ़ाई पूरी करने के बाद 1981 में अपने पिता धीरूभाई अंबानी के साथ रिलायंस पेट्रो केमिकल की शुरुआत की. इसके बाद 1985 में कंपनी का नाम रिलायंस टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज लिमिटेड से बदलकर रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड कर दिया. पेट्रोलियम के अलावा मुकेश अंबनी ने टेलीकॉम क्षेत्र में भी अपने कदम आगे बढ़ाए और रिलायंस कम्युनिकेशंस लिमिटेड की स्थापना की.

पिता के निधन के बाद भाई से हो गया बंटवारा

पिता धीरू भाई अंबानी के 6 जुलाई 2002 के निधन के बाद मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमान अपने हाथ में ली. हालांकि, पिता का निधन होते ही उनके छोटे भाई अनिल अंबानी के बीच संपत्ति को लेकर विवाद शुरू हो गया. ये विवाद बंटवारे तक पहुंचकर रुका. बंटवारे के बाद रिलायंस इंफोकॉम छोटे भाई अनिल अंबानी के पास चली गई, जबकि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड मुकेश अंबानी के पास आ गई.

रिलायंस इंडस्ट्रीज को बनाया सबसे मूल्यवान कंपनी

मुकेश अंबानी ने अपने दम पर रिलायंस इंडस्ट्रीज को देश की सबसे बड़ी मूल्यवान कंपनी बना दिया. वर्ष 2002 में रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप 75,000 करोड़ रुपये था, जो अब बढ़कर 17 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया है. वहीं, छोटे भाई अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कैपिटल अब भारी कर्ज की वजह से बिकने को तैयार है.

ऐसे कर्जमुक्त हुई रिलायंस इंडस्ट्रीज

मुकेश अंबानी की कार्यकुशलता से रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने महज 58 दिनों में जियो प्लेटफॉर्म्स की एक चौथाई से कम हिस्सेदारी बेचकर 1.15 लाख करोड़ रुपये और राइट इश्यू के जरिए 52,124.20 करोड़ रुपये जुटाए. इसके दम पर कंपनी तय समय से करीब नौ महीने पहले ही पूरी तरह से कर्जमुक्त हो गई. रिलायंस पर 31 मार्च 2020 की समाप्ति पर 1,61,035 करोड़ रुपये का कर्ज था और कंपनी ने 31 मार्च 2021 तक चुकाने का लक्ष्य रखा था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें