1. home Hindi News
  2. business
  3. dinesh kumar khara will be the next chairman of sbi rajneesh kumar will be replaced many challenges have arisen vwt

SBI के अगले चेयरमैन होंगे दिनेश कुमार खारा, रजनीश कुमार की लेंगे जगह, कई चुनौतियां मुंह बाए हैं खड़ीं...

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
एसबीआई के नए चेयरमैन दिनेश कुमार खारा.
एसबीआई के नए चेयरमैन दिनेश कुमार खारा.
फोटो : ट्विटर.

नयी दिल्ली : दिनेश कुमार खारा भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के नए चेयरमैन होंगे. अभी वह एसबीआई में वरिष्ठतम प्रबंध निदेशक हैं. बैंक बोर्ड ब्यूरो (बीबीबी) ने एसबीआई के अगले चेयरमैन पद के लिए खारा के नाम की सिफारिश की है.

रजनीश कुमार का स्थान लेंगे खारा खारा

एसबीआई के मौजूदा चेयरमैन का स्थान लेंगे, जिनका तीन साल का कार्यकाल सात अक्टूबर को पूरा हो रहा है. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थानों के शीर्ष अधिकारियों का चयन करने वाले बैंक बोर्ड ब्यूरो के सदस्यों ने शुक्रवार को एसबीआई के चार प्रबंध निदेशकों का साक्षात्कार लिया. बीबीबी ने बयान में कहा, ''उनके प्रदर्शन और कुल अनुभव के आधार पर ब्यूरो एसबीआई के चेयरमैन के रिक्त होने जा रहे पद के लिए दिनेश कुमार खारा के नाम की सिफारिश करता है. इसके अलावा सी श्रीनिवासुलु शेट्टी इस पद के लिए आरक्षित उम्मीदवार की सूची में होंगे.''

2016 में एमडी नियुक्त किए गए थे

बीबीबी की सिफारिश को अब सरकार को भेजा जाएगा. इस नियुक्ति पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली कैबिनेट की नियुक्ति समिति करेगी. परंपरा रही है कि एसबीआई के चेयरमैन की नियुक्ति बैंक के प्रबंध निदेशकों में से की जाती है. दिलचस्प तथ्य यह है कि खारा 2017 में भी चेयरमैन पद के दावेदारों में शामिल थे. खारा को अगस्त, 2016 में तीन साल के लिए एसबीआई का प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया था. उनके प्रदर्शन की समीक्षा के बाद 2019 में उन्हें दो साल का विस्तार दिया गया था.

1984 में बतौर पीओ एसबीआई में करियर शुरू किया था

दिल्ली विश्वविद्यालय के फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज से पढ़ाई कर चुके खारा एसबीआई के वैश्विक बैंकिंग प्रभाग के प्रमुख हैं. वह बोर्ड स्तर के पद पर हैं और एसबीआई की गैर-बैंकिंग अनुषंगियों के कारोबार को देखते हैं. बैंक के प्रबंध निदेशक पर नियुक्ति से पहले खारा एसबीआई फंड्स् मैनेजमेंट प्राइवेट लि. के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) थे. खारा 1984 में एसबीआई के साथ परिवीक्षाधीन अधिकारी (पीओ) के रूप में जुड़े थे.

चुनौतियों से होगा सामना

नए एसबीआई चेयरमैन के समक्ष एक बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि कोविड-19 महामारी की वजह से बैंकिंग क्षेत्र गंभीर संकट के दौर में है. 30 जून, 2020 तक एसबीआई ने कोविड-19 की वजह से होने वाले संभावित नुकसान के लिए 3,000 करोड़ रुपये का प्रावधान किया था.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें