चीन को पछाड़ 8.2 फीसदी पर पहुंची भारत की आर्थिक वृद्धि दर, 15 तिमाहियों की जीडीपी की सर्वाधिक ऊंचाई

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : विनिर्माण एवं कृषि क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन के दम पर चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घरेलू अर्थव्यवस्था 8.2 फीसदी की दर से बढ़ी, जो पिछली 15 तिमाहियों की सर्वाधिक है. सरकार ने शुक्रवार को इसके आंकड़े जारी किये. इस वृद्धि दर से सबसे तेज वृद्धि करने वाली बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में देश की दावेदारी और मजबूत हो गयी. पहली तिमाही के दौरान चीन की वृद्धि दर 6.7 फीसदी रही.

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के जारी बयान में कहा गया है कि 2011-2012 के स्थिर मूल्यों पर चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) 33.74 लाख करोड़ रुपये रहा, जबकि पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह 31.18 लाख करोड़ रुपये था. यह वृद्धि 8.2 फीसदी रही.

बयान के अनुसार, आधारभूत कीमतों के आधार पर तिमाही का सकल मूल्यवर्धन पिछले वित्त वर्ष के 29.29 लाख करोड़ रुपये की तुलना में आठ फीसदी बढ़कर 31.63 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया. इससे पहले 2014-15 की जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी में सर्वाधिक तेज वृद्धि हासिल की गयी. तब जीडीपी की वृद्धि दर 8.4 फीसदी रही थी.

इस दौरान विनिर्माण क्षेत्र का सकल मूल्य वर्धन 13.5 फीसदी की दर से बढ़ा. पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 1.8 फीसदी गिरा था. इस दौरान कृषि, वानिकी और मत्स्यपालन क्षेत्र पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही के तीन फीसदी की तुलना में 5.3 फीसदी की दर से बढ़ा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें