26.1 C
Ranchi
Tuesday, February 27, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Sikkim Flood: सिक्किम में बाढ़ से अबतक 33 लोगों की मौत, 105 लोग लापता, जारी है तलाश अभियान

Sikkim Flood: तीस्ता नदी में आई अचानक बाढ़ के मलबे से अब तक नौ सैन्य कर्मियों सहित 33 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं जबकि 105 से ज्यादा लापता लोगों की तलाश के लिए खोज अभियान अब भी जारी है.

Sikkim Flood: सिक्किम के तीस्ता बेसिन में बादल फटने से आई बाढ़ के कारण 33 लोगों की मौत हो गई है. बाढ़ से 105 लोग लापता हो गए और 26 घायल हुए है. तीस्ता नदी में आई अचानक बाढ़ के मलबे से अब तक नौ सैन्य कर्मियों सहित 33 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं जबकि 105 से ज्यादा लापता लोगों की तलाश के लिए खोज अभियान अब भी जारी है. सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसएसडीएमए) के मुताबिक बीते बुधवार बादल फटने से आई अचानक बाढ़ से प्रदेश के 41870 लोग प्रभावित हुए हैं. राज्य के अलग-अलग हिस्सों से अभी तक 2563 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. इतना ही नहीं सिक्किम के ज्यादातर इलाकों का संपर्क दूसरे राज्यों से टूट गया है.

https://www.youtube.com/watch?v=pGBv6uBPYNs

सिक्किम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसएसडीएमए)ने बताया कि 122 लापता लोगों की तलाश अब भी जारी है. सिक्किम के पकयोंग जिले में 78, गंगटोक जिले में 23, मंगन में 15 और नामची में छह लोग लापता हैं. अधिकारियों ने बताया कि खोज अभियान में विशेष रडार, ड्रोन और सैन्य कुत्तों को लगाया गया है. अधिकारियों का कहना है कि अभी तक पकयोंग में 21, गंगटोक में छह, मंगन में चार और नामची में एक शव बरामद किया गया है. अधिकारियों के मुताबिक, सिक्किम की जीवन रेखा माने जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 10 पर सड़कों में दरार आने व तीस्ता नदी पर कई पुल क्षतिग्रस्त होने की वजह से आवाजाही बंद है.

केंद्र ने किया राहत राशि का ऐलान
केंद्र सरकार ने अचानक आई बाढ़ से प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करने के लिए सिक्किम को राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (एसडीआरएफ) के केंद्रीय हिस्से से 44.8 करोड़ रुपये की अग्रिम राशि जारी करने की मंजूरी दे दी है. वहीं, शनिवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग ने उत्तरी सिक्किम में आपदा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और क्षतिग्रस्त बुनियादी ढांचे का निरीक्षण किया. उन्होंने जीआरईएफ, बीआरओ के प्रतिनिधियों और संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ तुंग नागा ग्राम पंचायत इकाई के जिला और वार्ड सदस्यों के साथ एक बैठक की भी अध्यक्षता की थी. इसी कड़ी में तमांग ने आईटीआई चाडेय स्थित एक राहत शिविर का भी दौरा किया, जहां प्रभावित क्षेत्रों के 32 परिवारों को आश्रय दिया गया है.

मुआवजे की घोषणा
तमांग ने पहले मृतकों के परिवारों के लिए चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि और शिविरों में शरण लेने वाले सभी लोगों के लिए 2000 रुपये की तत्काल राहत की घोषणा की थी. अब तक, विभिन्न क्षेत्रों से 2563 लोगों को बचाया गया है और 6875 लोगों ने राज्य भर में स्थापित 30 राहत शिविरों में शरण ली है. रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्य में बाढ़ से 1,320 से अधिक मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं और चार जिलों में 13 पुल बह गए. अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि सिक्किम के मंगन जिले के लाचेन और लाचुंग में अचानक आई बाढ़ के बाद फंसे 3000 से अधिक पर्यटक सुरक्षित हैं. 

Also Read: काम किया दिल से, कांग्रेस फिर से… राजस्थान में कांग्रेस का नारा, 16 अक्टूबर से पार्टी करेगी चुनावी शंखनाद

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें