24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Israel–Hamas War: रफह पर इजराइल के हमले में 45 मरे, नेतान्याहू ने स्वीकार की ‘भयावह गलती’

Israel–Hamas War: इजराइल के हमले में कम से कम 45 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई. नेतान्याहू ने स्वीकार की कि उनकी ओर से ‘भयावह गलती’ हुई है.

Israel–Hamas War: इजराइल को दक्षिणी गाजा के शहर रफह पर हमलों के लिए सोमवार को फिर से निंदा का सामना करना पड़ा. स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि इस हमले में कम से कम 45 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई, जिनमें आग की चपेट में आए तंबुओं में रहने वाले विस्थापित लोग भी शामिल हैं. इजराइल को हमास के खिलाफ अपने युद्ध के चलते बढ़ती अंतरराष्ट्रीय आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. इजराइल के करीबी सहयोगियों खासकर अमेरिका ने नागरिकों की मौत पर नाराजगी जताई है.

इजराइल अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन करता है

इजराइल इस बात पर जोर देता है कि वह अंतरराष्ट्रीय कानून का पालन करता है, जबकि उसे दुनिया की शीर्ष अदालतों में जांच का सामना करना पड़ रहा है. इनमें से एक अदालत ने पिछले हफ्ते इजराइल से कहा था कि वह रफह में हमले को रोक दे. इजराइल ने कहा कि हमास के ठिकानों पर हमला करने और दो आतंकवादियों को मार गिराने के बाद वह नागरिकों की मौत की जांच कर रहा है. गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, रविवार रात का हमला युद्ध के सबसे घातक हमलों में से एक प्रतीत होता है, जिसके कारण युद्ध में मरने वाले कुल फलस्तीनियों की संख्या 36,000 से अधिक हो गई है.

Read Also : Israel Hamas War: हमास का इजराइल पर पांच महीने बाद जोरदार पलटवार, तेल अवीव पर रॉकेट से हमला

गाजा का स्वास्थ्य मंत्रालय इस आंकड़े को तैयार करने में सेनानियों और गैर-लड़ाकों के बीच अंतर नहीं करता है. इजराइल के करीबी यूरोपीय सहयोगी फ्रांस ने कहा कि वह हिंसा से ‘आक्रोशित’ है. फ्रांस के राष्ट्रपति राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘ये अभियान बंद होने चाहिए. फलस्तीनी नागरिकों के लिए रफह में कोई सुरक्षित क्षेत्र नहीं हैं. मैं अंतरराष्ट्रीय कानून के प्रति पूर्ण सम्मान और तत्काल युद्धविराम का आह्वान करता हूं.’’

एक सैनिक की गोली मारकर हत्या

एक अलग घटनाक्रम में मिस्र की सेना ने अधिक विवरण दिए बिना कहा कि रफह क्षेत्र में गोलीबारी के दौरान उसके एक सैनिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इजराइल ने कहा कि वह मिस्र के अधिकारियों के संपर्क में है और दोनों पक्षों ने कहा है कि वे जांच कर रहे हैं. इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का कहना है कि इजराइल को रफह में हमास की आखिरी बची हुई बटालियनों को नष्ट करना होगा. इटली के रक्षा मंत्री गुइडो क्रोसेटो ने कहा कि रफह में बमबारी का इजराइल पर दीर्घकालिक प्रभाव पड़ेगा.

कतर ने क्या कहा

संघर्ष विराम और हमास द्वारा बंधक बनाए गए बंधकों की रिहाई सुनिश्चित करने के प्रयासों में इजराइल और हमास के बीच एक प्रमुख मध्यस्थ कतर ने कहा कि हमले वार्ता को ‘जटिल’ बना सकते हैं, जो फिर से शुरू होती दिख रही है. पड़ोसी देश मिस्र और जॉर्डन ने भी रफह पर हमलों की निंदा की है। मिस्र के विदेश मंत्रालय ने तेल अल-सुल्तान पर हमले को ‘मानवीय अंतरराष्ट्रीय कानून’ के नियमों का स्पष्ट उल्लंघन बताया.

नेतान्याहू ने स्वीकार की ‘भयावह गलती’

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने गजा के रफह शहर में इजराइली हमले में दर्जनों लोगों की मौत के बाद माना है कि “भयावह गलती” हुई है. सोमवार को संसद में अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि इजराइल बीती रात हुए हमले की जांच कर रहा है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें