1. home Hindi News
  2. world
  3. afghan girl 15 years old qamar gul who killed taliban gunmen said ready to fight them again after they killed her parents afghanistan

अफगानिस्‍तान में 15 साल की लड़की ने लिया ऐसा इंतकाम, खौफ में आया तालिबान, बोली- फिर से मारने को हूं तैयार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
लड़की की उम्र महज 15 साल है.
लड़की की उम्र महज 15 साल है.
Twitter

Afghan Girl, Afghanistan, Qamar Gul: बीते कुछ दिनों से क लड़की की तस्वीर इंटरनेट पर वायरल हो रही है जिसने हाथ में असॉल्ट रायफल पकड़ा हुआ है. लड़की की उम्र महज 15 साल है. उसने बीते हफ्ते अपने माता-पिता की हत्या करने वाले दो तालिबान आतंकियों को मार डाला. सोशल मीडिया पर लड़की की बहादुरी की खूब तारीफ हो रही है. ये घटना अफगानिस्तान के गोर प्रांत के गरिवे गांव में 17 जुलाई की रात का है.

एएफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, लड़की ने कहा है कि वह फिर से उन लोगों को मारने के लिए तैयार हैं जो उस पर हमला करेंगे. उसने कहा- मुझे उन लोगों से डर नहीं लगता, मैं लड़ने के लिए तैयार हूं. लड़की घटना वाले दिन के बाद से अपने रिश्तेदार के यहां सुरक्षाकर्मियों की निगरानी में है. उसने बताया कि आधी रात को तालिबानी मेरे घर पहुंचे थे. तब वह अपने 12 साल के भाई के साथ अलग कमरे में सो रही थी.

आवाज होने पर वह उठी तो देखी कि आंतकियों ने उसके पिता को घर के बाहर खींचा और जब उसकी मां ने विरोध करने की कोशिश की तो दोनों को मार दिया. पहले तो वह डर गयी मगर पल भर में ही इतना गुस्सा आया कि उसने घर में रखी एके-47 राइफल उठा ली. आतंकियों की ओर निशाना कर ताबड़तोड़ गोली चलाना शुरू कर दी. उसकी गोली से दो तालिबानी आतंकी मारे गए जबकि कुछ घायल भी हुए. लड़की ने बताया कि उसे उसके पिता ने एके-47 राइफल को चलाना सिखाया था. उसने कहा कि माता-पिता के हत्यारे को मार कर मुझे गर्व है. अगर मैं उन्हें नहीं मारती तो वो मुझे और मेरे छोटे भाई को भी मार देते.

सोशल मीडिया पर हाथों में एके-47 लिए उसकी एक तस्वीर भी शेयर हो रही है.इस घटना के बाद तालिबान के कई और चरमपंथी आए और उन्होंने लड़की के घर पर हमला करने की कोशिश की, लेकिन कुछ गांववालों और सरकार समर्थक हथियारबंद गुटों ने उन्हें संघर्ष के बाद पीछे हटने पर मजबूर कर दिया. अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने लड़की की बहादुरी की प्रशंसा की है. सोशल मीडिया पर कई लोग सरकार से लड़की को पुरस्कृत करने की मांग कर रहे हैं.

तो क्या पति को ही मार दी गोली.....

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, 17 जुलाई की घटी घटना पारिवारिक रंजिश के कारण घटी. लड़की की घर पर हमला करना वाले लोगों में उस लड़की का पति भी शामिल था. लड़की के रिश्तेदारों से प्राप्त दस्तावेजों के मुताबिक, वह लड़की को जबरदस्ती अपने साथ ले जाना चाहता था. इधर, एफपी की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि लड़की के पिता सरकार के समर्थक थे और गांव के मुखिया थे. इससे नाराज तालिबान आतंकी गरिवे गाव में उनके घर आए और हमला कर दिया.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें