1. home Hindi News
  2. video
  3. jharkhand electricity crisis now consumers are also battling with the inadvertent bills pkj

झारखंड बिजली संकट के साथ- साथ अब अनाप-शनाप बिल से भी जुझ रहे हैं उपभोक्ता

झारखंड में एक तरफ बिजली का संकट है, लोड शेडिग जारी है तो दूसरी तरफ अब अनाब शनाब बिल को लेकर भी बवाल जारी है. झारखंड बिजली वितरण निगम के ऊर्जा मित्र समय पर बिजली बिल नहीं तैयार कर रहे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date

झारखंड में एक तरफ बिजली का संकट है, लोड शेडिग जारी है तो दूसरी तरफ अब अनाब शनाब बिल को लेकर भी बवाल जारी है. झारखंड बिजली वितरण निगम के ऊर्जा मित्र समय पर बिजली बिल नहीं तैयार कर रहे.

तकनीकी खामियों की वजह से उपभोक्ताओं को अनाप-शनाप बिल भेजा जा रहा है. ऐसे में वजह से 400 यूनिट से कम बिजली खपत करनेवाले उपभोक्ताओं को भी सब्सिडी का लाभ नहीं मिल पा रहा है. एचइसी इलाके के सैकड़ों उपभोक्ता यह समस्या झेल रहे हैं. इसके अलावा कोकर, दीपाटोली, बरियातू इलाके के उपभोक्ता भी ऐसी ही समस्या झेल रहे हैं.

एचइसी क्षेत्र के प्रभावित उपभोक्ताओं का कहना है कि उनका प्रतिमाह औसत बिल 100-150 यूनिट के बीच आता है. फिलहाल वे ऊर्जा मित्रों की लापरवाही और गलत बिलिंग का खामियाजा भुगत रहे हैं. उपभोक्ताओं ने बताया कि ऊर्जा मित्रों ने इलाकों में 12 फरवरी को मीटर रीडिंग लेकर बिल भेजा.

22 मार्च को मीटर रीडिंग लिये बिना ही उपभोक्ताओं को दो से चार यूनिट का बिल भेज दिया गया. इसके बाद ऊर्जा मित्र 21 अप्रैल को मीटर रीडिंग लेने आये. ऐसे में उपभोक्ताओं को लगभग 70 दिनों में खपत हुई यूनिट को जोड़ कर बिल भेज गया, जो 400 से 444 यूनिट तक है. 400 से अधिक यूनिट का बिल आने की वजह से उपभोक्ता सरकार की ओर से मिलने वाली सब्सिडी से वंचित हो गये हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें