22.1 C
Ranchi
Monday, March 4, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Prabhat Khabar Impact: चक्रधरपुर राजघराने की पौत्र वधू का इलाज शुरू, स्वास्थ्य मंत्री ने लिया संज्ञान

चक्रधरपुर के राजा रहे अर्जुन सिंह की पौत्र वधू सुषमा सिंह देवी का इलाज शुरू हो गया है. प्रभात खबर में समाचार प्रकाशित होने के बाद जहां मदद के कई हाथ आगे आये, वहीं स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने संज्ञान में लेते हुए समुचित इलाज का निर्देश दिया. वहीं, 10 महीने बाद उनके घर में बिजली आयी.

Prabhat Khabar Impact: चक्रधरपुर के राजा रहे अर्जुन सिंह की पौत्र वधू सुषमा सिंह देवी की बीमारी का समाचार प्रभात खबर में प्रकाशित होते ही स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने इसे संज्ञान में लेते हुए समुचित इलाज का निर्देश दिया. वहीं, सुषमा देवी की मदद के लिए दर्जनों हाथ सामने आये. सरकार व निजी स्तर से सुषमा देवी को काफी सहयोग मिला. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता के अलावा अनुमंडल पदाधिकारी चक्रधरपुर, बीडीओ चक्रधरपुर, सिविल सर्जन चाईबासा, अनुमंडलीय चिकित्सा पदाधिकारी चक्रधरपुर, विधायक चक्रधरपुर समेत रांची और जमशेदपुर के समाजसेवियों ने मदद के लिए पहल की.

एसडीओ ने लिया सुध

प्रभात खबर में समाचार पढ़ने के फौरन बाद चक्रधरपुर के अनुमंडल पदाधिकारी ललन कुमार ने दूरभाष पर परिवार के सदस्यों से सुषमा देवी की खैरियत ली. पूरी स्थिति जानने के बाद अनुमंडलीय अस्पताल, चक्रधरपुर के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अंशुमन शर्मा को इलाज की हिदायत दिये. प्रखंड विकास पदाधिकारी संजय सिन्हा को भी बीमार का हाल जानने के लिए अस्पताल भेजे.

घर पर हुई सुषमा देवी की जांच

सुबह करीब साढ़े आठ बजे अनुमंडलीय अस्पताल का मेडिकल दल डॉ अंशुमन शर्मा के नेतृत्व में सुषमा सिंह देवी के घर पहुंची. यहां खून का सैंपल लिया गया. इसके बाद एंबुलेंस के जरिए अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती किया गया. इसके बाद इलाज शुरू किया गया. अस्पताल में डॉ जेजे मुर्मू ने जांच कर स्लाइन के माध्यम से दवाई देना शुरू किया.

Also Read: Jharkhand News: चक्रधरपुर राजघराने की बहू अंधेरे कमरे में बीमारी से लड़ने को मजबूर, जानें कारण

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने लिया संज्ञान

प्रभात खबर में समाचार प्रकाशित होने के बाद सुषमा देवी की बीमारी की खबर पढ़कर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने संज्ञान लिया. मंत्री के आप्त सचिव मो बिलाल ने चाईबासा सिविल सर्जन डॉ जुझार मांझी को कॉल कर बेहतर इलाज का निर्देश दिया. जिसके बाद मेडिकल टीम हरकत में आयी और सुषमा देवी का इलाज बेहतर तरीके से होना शुरू हुआ.

विधायक की टीम मदद के लिए अस्पताल पहुंची

विधायक सुखराम उरांव के निर्देश पर सुषमा देवी की मदद के लिए गुरुजी आशीर्वाद योजना के अध्यक्ष सन्नी उरांव, राहुल आदित्य, पीरु हेम्ब्रम, प्रदीप महतो समेत अन्य अस्पताल पहुंच कर मदद शुरू किये. चिकित्सकों द्वारा चार यूनिट खून चढ़ाने की सलाह दी गई थी. विधायक की टीम द्वारा आनन-फानन में चाईबासा सदर अस्पताल जाकर दो यूनिट उपलब्ध कराया, जिसमें से एक यूनिट खून सुषमा देवी को चढ़ाया गया. दूसरा यूनिट शनिवार को चढ़ाया जायेगा. इस टीम के सदस्यों ने अन्य कई तरह से भी मदद किये.

खबर पढ़कर रांची से पहुंचे आरके चौधरी

अनंत प्रयास ट्रस्ट के सीईओ सह बीआईटी सिंदरी एलुमनी एसोसिएशन रांची के पेट्रोन प्रो आरके चौधरी चक्रधरपुर पहुंचे. वह रांची प्रभात खबर में छपी सुषमा देवी की खबर पढ़कर चक्रधरपुर आये थे. अनुमंडलीय अस्पताल में सुषमा देवी और उनके परिजनों से मिले. रिम्स रांची में इलाज के लिए आमंत्रित किया. सहयोग राशि दिये, चिकित्सकों से मिल कर पूरी कैफियत जाने और हर तरह से सहयोग का यकीन दिलाया. अस्पताल में मौजूद सभी मरीजों और उनके परिजनों को बिस्कुट का पैकेट भी दिये. चक्रधरपुर में सुषमा देवी को मिल रहे सहयोग की सराहना भी किये.

Also Read: एक करोड़ के इनामी अनल दस्ते के साथ घंटों चली मुठभेड़, महिला सहित दो नक्सली ढेर, पढ़ें लेटेस्ट अपडेट

बिजली बिल माफ कराने संबंधी पत्र लिखा जाएगा : बीडीओ

अस्पताल में सुषमा देवी से मिलने आये बीडीओ संजय सिन्हा ने स्थिति को जाना. चिकित्सकों से मिलकर इलाज की जानकारी हासिल किये. परिजनों से परेशानी पूछा, तो सुषमा देवी के नाती अमन सिंह ने 10 महीने से कट चुकी बिजली को दोबारा जुड़वाने का आग्रह किया. बीडीओ श्री सिन्हा ने बिजली बिल और आवेदन देने को कहा, जिसे उपायुक्त से पत्रचार कर भुगतान करवाने की बात कही.

सदर अस्पताल से चिकित्सक दल जांच करने पहुंचे

दोपहर करीब साढ़े तीन बजे सिविल सर्जन के निर्देश पर सदर अस्पताल चाईबासा से एक मेडिकल टीम सुषमा देवी को देखने अनुमंडलीय अस्पताल पहुंची. जिसमें मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ बी मार्डी और बंटी सिन्हा शामिल थे. चिकित्सक डॉ मार्डी ने जांच के बाद बताया कि गंभीर अनिमिया हो जाने के कारण सुषमा देवी की हालत खराब है. अभी किसी दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करना खतरनाक है. हालत में सुधार आने के बाद ही रेफर किया जायेगा. पहले इंफेक्शन दूर करना है. खून चढ़ाने का काम शुरू कर दिया गया है.

रांची और जमशेदपुर से मदद मिलेगी

खबर पढ़ने के बाद रांची से समाजसेवी राकेश सिंह ने मदद की पेशकश की है. उन्होंने परिजनों से बात करने के बाद आवेदन देने को कहा है. इसी तरह से जमशेदपुर से वीरेंद्र यादव ने मदद करने के लिए परिजनों का नंबर और बिजली बिल की मांग की है.

Also Read: टास्क फोर्स टीम ने साहिबगंज के पतना में अवैध क्रशर के खिलाफ चलाया अभियान, 50 हजार CFT स्टोन चिप्स जब्त

सुषमा देवी का हेमोग्लोबीन 2.9 हुआ

चिकित्सा प्रभारी डॉ अंशुमन शर्मा ने बताया कि ब्लड टेस्ट में सुषमा देवी का हेमोग्लोबीन 2.9 पाया गया है, जो काफी कम है. चार यूनिट खून चढ़ाया जायेगा. उन्हें सिवियर अनिमिया की शिकायत है. इंफेक्शन भी काफी है. पैर और शरीर में सूजन है, लेकिन हड्डियां सही है. उन्हें इलाज के लिए आईसीयू की आवश्यकता पड़ेगी. सभी जरूरी दवाईयां शुरू कर दी गई है.

एसडीओ के आदेश पर सुषमा के घर आयी बिजली

चक्रधरपुर के अनुमंडल पदाधिकारी ललन कुमार के आदेश पर राजा अर्जुन सिंह के वंशज सुषमा सिंह देवी के घर बिजली पहुंच गया. बिजली बिल बकाया रहने के कारण विगत 10 महीने से सुषमा सिंह देवी का परिवार अंधेरे में जीवन बिता रहा था. प्रभात खबर में समाचार पढ़ने के बाद अनुमंडल पदाधिकारी ललन कुमार ने विद्युत विभाग के कार्यपालक अभियंता को तत्काल पीड़ित परिवार को बिजली उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया तथा बिजली विभाग के अधिकारियों से कहा गया कि बिजली लाइन जोड़ने के बाद तत्काल सूचना दे. एसडीओ के आदेश पर बिजली विभाग ने भी तत्परता दिखाते हुए सुषमा देवी सिंह के घर का बिजली कनेक्शन फिर से जोड़ दिया. इस प्रकार एसडीओ ललन कुमार के प्रयास से 10 महीने के बाद सुषमा देवी का घर रोशन हो गया.

रिपोर्ट : शीन अनवर, चक्रधरपुर, पश्चिमी सिंहभूम.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें