1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. mamta banerjee will attend delhi in national convention but will not meet pm modi vwt

दिल्ली के राष्ट्रीय सम्मेलन में शामिल होंगी ममता बनर्जी, लेकिन पीएम मोदी से नहीं करेंगी मुलाकात

अदालतों में लंबित मामलों के विषय पर दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय सम्मेलन में दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के अलावा प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण और हाईकोर्ट के जजों को आमंत्रित किया गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
फोटो: ट्विटर

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली में शुक्रवार को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय सम्मेलन में शिरकत जरूर करेंगी, लेकिन वे वहां पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात नहीं करेंगी. हालांकि, प्रधानमंत्री मोदी भी इस सम्मेलन में मौजूद रहेंगे. पीएम से मुलाकात नहीं करने को लेकर उन्होंने कहा है कि मेरे लिए मजदूर दिवस (एक मई) और ईद पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम ज्यादा महत्वपूर्ण हैं. इसलिए मैंने वापसी का टिकट भी बुक करा लिया है.

बताते चलें कि अदालतों में लंबित मामलों के विषय पर दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय सम्मेलन में दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्रियों के अलावा प्रधान न्यायाधीश एनवी रमण और हाईकोर्ट के जजों को आमंत्रित किया गया है. कोलकाता स्थित राज्य सचिवालय में पत्रकारों से बात करते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मैं शुक्रवार को दिल्ली पहुंच जाऊंगी, लेकिन शनिवार को लौट आऊंगी. उन्होंने कहा कि मेरे टिकट बुक हो गए हैं. यही वजह है कि मैं इस बार पीएम से मुलाकात नहीं कर पाऊंगी. मैंने उनसे मिलने का समय नहीं लिया है.

ईद की नमाज और मजदूर दिवस कार्यक्रम में होंगी शामिल

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ने ममता बनर्जी ने कहा कि वह मजदूर दिवस कार्यक्रमों में शरीक होंगी और दो या तीन मई को रेड रोड पर ईद की नमाज में शरीक होंगी. हालांकि, यह (ईद का) चांद नजर आने पर निर्भर करेगा. उन्होंने कहा कि वह पिछले कई साल से इन कार्यक्रमों में शामिल होती आई हैं. उन्होंने कहा कि मेरे लिए 30 अप्रैल का दिन बहुत अहम होगा. अल्पसंख्यक बंगाल की आबादी का 33 फीसदी हिस्सा हैं और मैं हर साल रेड रोड नमाज में शामिल होती हूं. मुझे इस साल भी शरीक होना होगा और इसके बाद अक्षय तृतीया है. मैं सभी त्योहारों के कार्यक्रमों में शामिल होती हूं.

पेट्रोल-डीजल को लेकर मोदी पर लगाया आरोप

ममता ने आरोप लगाया कि बुधवार को बुलाई गई प्रधानमंत्री की बैठक का एजेंडा कोरोना की स्थिति पर चर्चा करना नहीं था, जैसा कि घोषणा की गई थी, बल्कि पेट्रोल-डीजल की ऊंची कीमतों के लिए राज्य सरकारों को जिम्मेदार ठहराना था. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ईंधन की कीमतें घटाने की अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ना चाहती है. उन्होंने आशंका जताई कि मोदी सरकार जल्द ही कीमतें बढ़ा देगी.

एलपीजी की कीमत में 300 रुपये घटाने की मांग

इसके साथ ही, ममता बनर्जी ने घरेलू रसोई गैस सिलेंडर (एलपीजी) की कीमत फौरन 300 रुपये घटाने की केंद्र सरकार से मांग की. ममता ने बुधवार की बैठक का जिक्र करते हुए कहा, 'मेरा मानना है कि कल कोविड से जुड़ा कोई एजेंडा नहीं था. उन्होंने दावा किया कि केंद्र ने पिछले कुछ महीनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम से कम 14 गुना बढ़ा दी हैं और ऊंची कीमतों के लिए राज्य सरकारों को जिम्मेदार ठहराया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें