1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal chunav 2021 tmc leader threatens in in anubrata mandal district dont vote for cpim or hands to be chopped pwn

Bengal Chunav 2021: अनुब्रत मंडल के गढ़ में TMC नेता की धमकी, तृणमूल को वोट नहीं करने पर काट देंगे हाथ

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 अनुब्रत मंडल के गढ़ में TMC नेता की धमकी, तृणमूल को वोट नहीं करने पर काट देंगे हाथ
अनुब्रत मंडल के गढ़ में TMC नेता की धमकी, तृणमूल को वोट नहीं करने पर काट देंगे हाथ
प्रभात खबर

बीरभूम/पानागढ़ (मुकेश तिवारी) : बीरभूम जिले के नानूर विधानसभा चुनाव क्षेत्र में तृणमूल के एक नेता ने सार्वजनिक रूप से धमकी देने का आरोप लगा है. इसके कारण यहां पर माहौल तनावपूर्ण हो गया है. बता दें कि टीएमसी नेता अनुब्रत मंडल का गढ़ कहे जाने वाले बीरभूम में आठवें चरण यानी 29 अप्रैल को वोटिंग होनी है.

गुरुवार को एक तृणमूल नेता ने सीपीआईएम नेता को खुलेआम धमकी दी. सीपीआईएम के सूत्रों के अनुसार, हर दिन की तरह नानूर की सीटिंग विधायक और सीपीआईएम उम्मीदवार श्यामली चुनाव प्रचार में निकली थी. चुनाव प्रचार के लिए वह नानूर विधानसभा क्षेत्र के अगटार गांव में गयी जहां उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा. बताया जा रहा है कि इस दौरान तृणमूल कार्यकर्ताओं और क्षेत्र के नेताओं ने उनके चारों ओर घेर कर विरोध जताना शुरू कर दिया.

इतना ही नहीं तृणमूल नेता ने उन्हें उनका हाथ काटने की धमकी दी .तृणमूल नेता नूरमन शेख ने सीपीआईएम उम्मीदवार को जब इस तरह की धमकी तो दोनों ही पक्षों के बीच तनाव उत्पन्न हो गया. इस बयान और धमकी के बाद विवाद छिड़ गया.

इस बीच बहस के दौरान नूरमन शेख ने सीपीआईएम को चुनौती और धमकी दी कि , “यहां सीपीआईएम वोट नहीं है.अगर कोई सीपीएम को वोट देता है, तो मैं उनका हाथ काट दूंगा. प्रचार के दौरान, गांव में घुसते ही तृणमूल नेता नुरमन शेख ने श्यामली को घेर लिया. उस समय, उन्होंने श्यामली प्रधान को संबोधित किया और कहा, “आप जिस सड़क पर चल रहे हैं वह तृणमूल की है.

आप पांच साल से क्या कर रहे हैं? क्या वोट मांगने के लिए उन्होंने पांच साल बाद छोड़ दिया है? ” इस तरह, तृणमूल नेता एक के बाद एक आक्रामक तरीके से सवाल पूछते रहे. हालांकि सीपीआईएम की उम्मीदवार श्यामली प्रधान ने तृणमूल नेता के इस बयान और धमकी पर समझाने की कोशिश की. लेकिन तृणमूल नेता कुछ भी समझना नहीं चाहते थे और कहा, "वह चुनाव के दौरान मुझे धमकाने आए हैं."

बीरभूम की सियासत तो पहले ही गर्म थी लेकिन इस घटना के बाद महौल और तनावपूर्ण हो गया है. जिले के राजनेता चुनाव आयोग के प्रतिनिधियों के सामने विभिन्न सवाल उठा रहे हैं कि कोई व्यक्ति इस तरह से एक उम्मीदवार को कैसे धमकी दे सकता है. सीपीआईएम के सूत्रों ने कहा कि वे इस घटना के मद्देनजर आयोग से शिकायत करेंगे.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें