1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. case rape of 5 year old innocent in ayodhya will resonate in up assembly nrj

अयोध्या में 5 साल की मासूम से रेप का मामला गूंजेगा विधानसभा में, अखिलेश यादव ने दिया परिजनों को भरोसा

अयोध्या के हनुमानगढ़ी चौराहा के पास 16 मार्च 2022 को जब रात्रि 8 बजे बच्ची खेल रही थी तभी किसी हैवान ने उसे अपना शिकार बनाया था. सपा सुप्रीमो ने परिजनों से भरोसा जताते हुए कहा कि वे इस मामले को विधानसभा में भी उठाएंगे.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने जब ली थी विधानसभा में पद और गोपनीयता की शपथ.
नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने जब ली थी विधानसभा में पद और गोपनीयता की शपथ.
Social Media

Lucknow News: अयोध्या में दुष्कर्म की शिकार एक पांच वर्षीय मासूम बच्ची के चाचा और पिता ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से समाजवादी पार्टी के कार्यालय में मुलाकात की. हनुमानगढ़ी चौराहा के पास 16 मार्च 2022 को जब रात्रि 8 बजे बच्ची खेल रही थी तभी किसी हैवान ने उसे अपना शिकार बनाया था. सपा सुप्रीमो ने भरोसा परिजनों से जताते हुए कहा कि वे इस मामले को विधानसभा में भी उठाएंगे. भाजपा राज में बेटियों का अपमान और उनके साथ दुष्कर्म की घटनाओं में वृद्धि से उत्तर प्रदेश की बहुत बदनामी हुई है. कानून व्यववस्था में आई गिरावट से लोग संत्रस्त है.

क्या कहा अखिलेश यादव ने...

इस बारे में जानकारी देते हुए सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि बच्ची के पिता ने बताया कि 16 मार्च 2022 की घटना से आज 15 दिन हो गए. प्रशासन ने कोई मदद नहीं की. उसका एक वर्ष तक इलाज चलेगा. बच्ची ने बताया था कि दुष्कर्म की घटना में तीन लोग शामिल थे. अब तक सभी आरोपितों की गिरफ्तारी भी नहीं हुई है. सरकार ने परिवार की कोई सुध नहीं ली. सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने दुःखी परिवार को ढांढ़स बंधाते हुए कहा कि पवित्र धाम में ऐसी अपवित्र घटना होना दुःखद है और विचलित करने वाली है. पांच वर्ष की मासूम बच्ची मेडिकल कालेज लखनऊ में तड़प रही है. मगर शासन-प्रशासन संवेदनहीन बना हुआ है. अभियुक्त को बचाने में सरकार लगी हुई है. यह निंदनीय है. भाजपा जश्न मनाने में व्यस्त है.

'उत्तर प्रदेश की बहुत बदनामी हुई'

अखिलेश यादव ने पीड़ित परिवार को न्याय दिए जाने की मांग करते हुए सरकार से एक करोड़ रूपए की आर्थिक मदद और आजीविका के लिए परिवार में एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दिए जाने की भी मांग की है. उन्होंने दोषियों की गिरफ्तारी और इलाज की सर्वोत्तम व्यवस्था किए जाने के लिए भी कहा. बता दें कि बच्ची को मारापीटा और धमकाया गया था. इससे वह अभी तक सदमे में है. उसे केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में उसी रात 11 बजे भर्ती कराया गया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें