1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. monsoon session of jharkhand assembly begins adjourned till 11 am on monday amid uproar by opposition smj

झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, विपक्ष के हो- हंगामे के बीच सोमवार 11 बजे तक के लिए हुआ स्थगित

झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र 3 सितंबर से शुरू हो गया. सत्र के पहले दिन शुक्रवार को विपक्ष का जमकर हो- हंगामा हुआ. विपक्ष का आरोप है कि बाबूलाल मरांडी को अब तक विपक्ष के नेता के तौर पर मान्यता नहीं दी गयी है. वहीं, हो-हंगामे के बीच सदन सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र सोमवार (6 सितंबर, 2021) की सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित हुआ.
झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र सोमवार (6 सितंबर, 2021) की सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित हुआ.
फाइल फोटो.

Jharkhand Vidhansabha Monsoon Session 2021 (रांची) : झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र की शुरुआत होते ही विपक्ष का सदन में हो-हंगामा हुआ. सत्र के पहले ही दिन शुक्रवार (3 सितंबर, 2021) को बाबूलाल मरांडी को विपक्ष का नेता नहीं मानने पर सदन में जमकर हंगामा हुआ. वहीं, शोक संदेश में बाबूलाल मरांडी को पढ़ने का मौका नहीं देने पर विपक्ष का हंगामा रहा. इसके बाद स्पीकर ने सदन की कार्यवाही सोमवार (6 सितंबर, 2021) की सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया.

3 सितंबर (शुक्रवार) को शुरू हुई मानसून सत्र के पहले दिन शोक प्रस्ताव पढ़े जाने के दौरान विपक्ष ने काफी हो-हंगामा किया. विपक्ष का आरोप है कि भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को सदन में शोक प्रस्ताव पढ़ने के लिए नहीं दिया गया. भाजपा का आरोप है कि अब तक सदन में विपक्ष के नेता के तौर पर बाबूलाल मरांडी को मान्यता नहीं दी गयी है.

सदन शुरू होते ही भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने बाबूलाल मरांडी को विपक्ष का नेता की मान्यता नहीं देने संबंधी मामला उठाया और सदन से पूछा कि आखिर श्री मरांडी को विपक्ष का नेता की मान्यता क्यों नहीं दी गयी. इस पर स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने बाद में बात करने की बात कही. शाही के समर्थन में भाजपा के विरंची नारायण, अनंत ओझा, नीलकंठ सिंह मुंडा एवं पूर्व विधानसभाध्यक्ष सीपी सिंह भी आ गये.

इस दौरान स्पीकर श्री महतो ने भाजपा के विधायकों को शांत होकर शोक प्रस्ताव पर चर्चा करने की सलाह दी, लेकिन भाजपा विधायक नहीं माने और हो-हंगामा करते रहे. इस पर स्पीकर ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि यह अच्छी परंपरा नहीं है. बता दें कि सदन में स्पीकर श्री महतो और CM हेमंत सोरेन कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर में लोगों की मौत पर शोक व्यक्त कर रहे थे. इसी बीच भाजपा विधायकों ने हो-हंगामा शुरू किया.

इधर, शोक संदेश पढ़ते हुए CM हेमंत सोरेन ने बजट सत्र के बाद अब तक दिवंगत हुए लोगों का नाम लेकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित किया और उनके परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की. साथ ही टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन की प्रशंसा की और कहा कि इन खिलाड़ियों ने देश का गौरव बढ़ाया. इसमें झारखंड की हॉकी खिलाड़ियों निक्की प्रधान एवं सलीमा टेटे भी शामिल थीं.

वहीं, स्पीकर रवींद्र नाथ महतो के साथ पक्ष और विपक्ष ने मिल्खा सिंह, सोली सोराबजी, पंडित राजन मिश्र, दिलीप कुमार, चंदन मित्रा, जगन्नाथ पहाड़िया, आरएल भाटिया समेत तमाम अन्य दिवंगत हस्तियों को श्रद्धांजलि दी जिसके बाद विधानसभा की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गयी.

बता दें कि 3 सितंबर से शुरू हुआ झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र आगामी 9 सितंबर तक चलेगा. सोमवार (6 सितंबर) को सदन में अनुपूरक बजट पेश हो सकता है. वहीं, मुख्यमंत्री प्रश्नकाल में भी सवाल पूछे जा सकते हैं. इसके लिए मुख्यमंत्री ने कई मंत्रियों को विभागवार जिम्मेवारी भी सौंपी है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें