1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand vidhansabha monsoon session due to the bjp stance there is a possibility of uproar in the house on monday smj

झारखंड विधानसभा मानसून सत्र : BJP विधायकों के तेवर तल्ख होने से सोमवार को सदन में हंगामे के बढ़े आसार

झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में 6 सितंबर को हंगामा होने के आसार दिख रहे हैं. सत्र के पहले दिन BJP विधायकों के तेवर तल्ख दिखें, जो सोमवार को भी रहने के आसार हैं. वहीं, सोमवार को अनुपूरक बजट भी पेश होंगे. साथ ही मुख्यमंत्री प्रश्नकाल भी होगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में सोमवार को हंगामे के आसार बढ़े हैं.
झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में सोमवार को हंगामे के आसार बढ़े हैं.
फाइल फोटो.

Jharkhand Vidhansabha Monsoon Session 2021 (रांची) : झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र 3 सितंबर, 2021 से शुरू हो गया है. 4 और 5 सितंबर को अवकाश होने के बाद 6 सितंबर से सदन सुचारू रूप से चलेगी. लेकिन, BJP के तल्ख तेवर को देखते हुए सत्र में हंगामे के आसार बढ़ गये हैं. वहीं, विधानसभा में सोमवार (6 सितंबर, 2021) को अनुपूरक बजट पेश होगा. साथ ही मुख्यमंत्री प्रश्नकाल भी होगा.

सदन में दो दिन अवकाश होने के बाद सोमवार से मानसून सत्र का संचालन होगा. इधर, मानसून सत्र के पहले दिन सदन में BJP का हंगामा रहा. इसको देखते हुए सोमवार को भी सदन में हंगामे की संभावना है. बता दें कि मानसून सत्र के पहले दिन BJP विधायकों की ओर से शोक प्रकाश के दौरान विरोध जताया गया था.

BJP विधायकों ने भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी को बोलने का समय नहीं दिये जाने का मामला उठाया था. दूसरी ओर, विधानसभा की ओर से नमाज अदा करने को लेकर कमरा आवंटित किये जाने पर BJP विधायकों ने एतराज जताया है.

सोमवार को अनुपूरक बजट और मुख्यमंत्री प्रश्नकाल

विधानसभा में मानसून सत्र के दौरान 6 सितंबर को सरकार की ओर से प्रथम अनुपूरक व्यय विवरणी पेश की जायेगी. इसके अलावा मुख्यमंत्री प्रश्नकाल भी होगा. इसमें विधायक मुख्यमंत्री से नीतिगत सवाल पूछ सकते हैं. बता दें कि विधानसभा सत्र के दौरान हर सोमवार को मुख्यमंत्री प्रश्नकाल के लिए समय निर्धारित करने की परंपरा है.

वहीं, पिछले बजट सत्र में मुख्यमंत्री प्रश्नकाल नहीं होने पर BJP विधायकों ने सवाल उठाया था. साथ ही आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री जनता के सवालों से भागना चाहते हैं. वहीं, सत्ता पक्ष का कहना था कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री प्रश्नकाल को नहीं रखा गया था.

इधर, मानसून सत्र के पहले दिन से BJP विधायकों का तेवर तल्ख है. वहीं, विधानसभा में नमाज अदा करने के लिए कमरा अावंटित करने के मामले में BJP विधायकों ने मुखर होकर स्पीकर से इस आदेश को वापस लेने की मांग की है. ऐसे में सदन के पटल पर भी इसका असर दिखेगा. पहले ही भाजपा विधायक दल की बैठक में नियोजन नीति, नेता प्रतिपक्ष, महिला अत्याचार, नगर निगम, लॉ एंड ऑर्डर, घोषणाओं से वादाखिलाफी समेत अन्य मुद्दों पर सरकार को घेरने की रणनीति बनायी है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें