1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. ias officer amit khare appointed as a pm modi advisor first officer from jharkhand cadre know his journey so far srn

अमित खरे प्रधानमंत्री के सलाहकार नियुक्त, झारखंड कैडर से सलाहकार बनने वाले IAS ऑफिसर, जानें उनका अब तक सफर

झारखंड के 1985 बैच के ias ऑफिसर अमित खरे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सलाहकार बने हैं. इस पद पर आने वाले वो झारखंड के पहले अधिकारी हैं. वह बुधवार को अपने पद पर योगदान देंगे.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
अमित खरे PM मोदी के सलाहकार नियुक्त
अमित खरे PM मोदी के सलाहकार नियुक्त
फाइल

Jharkhand News, Ranchi News रांची : भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1985 बैच के सेवानिवृत्त अधिकारी अमित खरे को प्रधानमंत्री का सलाहकार नियुक्त किया गया है. वह बुधवार को अपने पद पर योगदान देंगे. श्री खरे को दो साल या अगले आदेश तक केंद्रीय सचिव के रैंक व वेतनमान पर सलाहकार बनाया गया है. वह झारखंड कैडर के पहले आइएएस अफसर हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री का सलाहकार बनाया गया है. अमित खरे केंद्रीय उच्च शिक्षा सचिव के पद से 30 सितंबर को सेवानिवृत्त हुए. केंद्र सरकार में उन्होंने सूचना प्रसारण सचिव के रूप में भी काम किया.

उच्च शिक्षा सचिव के पद पर रहने के दौरान उन्होंने नयी शिक्षा नीति 2020 बनाने और उसे लागू करने में अहम भूमिका निभायी. वह झारखंड में शिक्षा सचिव, वित्त सचिव, योजना सचिव और विकास आयुक्त के रूप में काम कर चुके हैं. वर्ष 1996 में चाईबासा में डीसी रहते हुए चारा घोटाला उजागर कर चर्चा में आये थे.

रांची के मूल निवासी :

अमित खरे रांची के मूल निवासी हैं. उनका कडरू एजी कॉलोनी में मकान है. उनकी आरंभिक शिक्षा केंद्रीय विद्यालय हिनू (केवी हिनू) से हुई है. उन्होंने संत स्टीफन कॉलेज दिल्ली से ग्रेजुएशन व आइआइएम अहमदाबाद से पीजीएम की पढ़ाई पूरी की.उनकी पत्नी निधि खरे (आइएएस 1992 बैच) वर्तमान में केंद्र में खाद्य व सार्वजनिक वितरण मंत्रालय में उपभोक्ता मामले विभाग की अपर सचिव हैं. अमित खरे के बड़े भाई अतुल खरे (आइएफएस 1984 बैच) को सेवानिवृत्ति के बाद संयुक्त राष्ट्र के काम-काज में सुधार के लिए सुझाव देनेवाले बदलाव प्रबंधन दल (सीएमटी) की जिम्मेवारी दी गयी है.

  • वर्ष 1996 में चाईबासा में डीसी पद पर रहने के दौरान चारा घोटाला किया था उजागर

  • केंद्रीय उच्च शिक्षा सचिव के पद से 30 सितंबर को सेवानिवृत्त हुए

  • केंद्र सरकार की नयी शिक्षा नीति बनाने में भी रहा अहम योगदान

  • संत स्टीफन कॉलेज से ग्रेजुएशन व आइआइएम अहमदाबाद से पीजीएम की पढ़ाई पूरी की

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें