1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. gangsters in jail use 4g phones 2g jammers are still installed in jharkhand jails ranchi news prt

4G फोन का है जमाना, जेलों में अब भी लगा है 2G जैमर, जेलों में बंद गैंगस्टर फोन से चला रहे गैंग

राज्य के कुल 28 जेलों में से 17 जेलों में टूजी जैमर 2008 में लगाये गये थे, जबकि गिरिडीह, देवघर, गोड्डा, मधुपुर, साहिबगंज, राजमहल, पाकुड़, बोकारो और घाटशिला सहित 11 जेलों में कोई जैमर ही नहीं हैं.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
जेलों में बंद गैंगस्टर फोन से चला रहे गैंग
जेलों में बंद गैंगस्टर फोन से चला रहे गैंग
Prabhat Khabar

अजय दयाल, रांची : रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा सहित सभी 28 जेल जैमर फ्री हो गये हैं. इससे जेल से ही वाट्सअप कॉल कर अपराधी अपना गैंग चला रहे हैं और बाहर अपराध को अंजाम दे रहे हैं. इससे पुलिस को अपराध नियंत्रण में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. राज्य के कुल 28 जेलों में से 17 जेलों में टूजी जैमर 2008 में लगाये गये थे, जबकि गिरिडीह, देवघर, गोड्डा, मधुपुर, साहिबगंज, राजमहल, पाकुड़, बोकारो और घाटशिला सहित 11 जेलों में कोई जैमर ही नहीं हैं.

वर्ष 2009-10 में थ्री जी मोबाइल सेवा शुरू हो गयी. जिसके बाद जेलों में लगाये गये टूजी जैमर की क्षमता को थोड़ा बढ़ाकर किसी तरह काम चलाया जा रहा था. लेकिन 2014 में फोर जी सेवा लांच होने के बाद जेलों में लगे टूजी जैमर बेकार हो गये. इधर, जेलों से अपराधियों द्वारा धमकी देने और आपत्तिजनक चीजों के इस्तेमाल की सूचना पर प्रशासन लगातार चेकिंग अभियान चलाता है. अक्सर मोबाइल व इससे जुड़े सामान बरामद होते हैं, लेकिन फोर जी जैमर लगाने की पहल अब तक नहीं हुई है.

फोर जी जैमर का प्रस्ताव केंद्रीय कैबिनेट सचिवालय के पास लंबित : राज्य के जेलों में टूजी जैमर लगाने का काम इसीआइएल कंपनी ने किया था, लेकिन टूजी जैमर सेवा की प्रासंगिकता समाप्त होने के बाद जेल मुख्यालय ने आइजी सुमन गुप्ता के समय थ्री जी जैमर लगाने का प्रस्ताव पूर्व में दिया था. इस पर सरकार के स्तर पर निर्णय होता, उससे पहले ही मोबाइल की फोर जी सेवा शुरू हो गयी.

जेल मुख्यालय द्वारा इसीआइएल व बेल कंपनी से सर्वे कराने के बाद अक्तूबर 2020 में राज्य के 28 जेलों में फोर जी जैमर लगाने का प्रस्ताव राज्य सरकार के माध्यम से केंद्रीय कैबिनेट सेक्रेटेरियट को भेजा गया था. वहां से अभी तक इस पर कोई निर्णय लिये जाने की बात सामने नहीं आयी है. यही वजह है कि राज्य के जेलों में फोर जी जैमर नहीं लगाया जा सका है.

जेलों में बंद गैंगस्टर फोन से चला रहे गैंग

अमन करा रहा अपराध

अपराधी अमन साहू जेल से ही अपने गुर्गे से हथियार सप्लाई करा रहा है़ 19 जुलाई को नामकुम से िगरफ्तार कुंदन गिरि अमन के इशारे पर ही हथियार की सप्लाई कर रहा था़ 20 जुलाई को बोड़ेया से गिरफ्तार अमन साहू के कहने पर एक जमीन कारोबारी की हत्या करने आया था़

राजीव के इशारे पर हत्या

रांची जेल में बंद अपराधी राजीव राम के इशारे पर बोकारो के कारोबारी राजू गुप्ता की हत्या कर दी गयी थी, जबकि राजू के भाई सुरेश को जख्मी कर दिया गया था़

दो साल पहले बेल तथा इसीआइएल व बेल कंपनी द्वारा जैमर अपग्रेड करने के लिए सर्वे किया गया था़ अब 2 जी सिम कोई रखता नहीं है़ एेसे में 2 जी जैमर बेकार है. हामिद अख्तर

जेल एआइजी, बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें