1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. coronavirus lockdown jharkhand live

Coronavirus Lockdown Jharkhand: कोरोना वायरस की जांच के लिए दो शिफ्ट में काम करने को तैयार रिम्स के डॉक्टर

By Mithilesh Jha
Updated Date

Coronavirus Lockdown Jharkhand LIVE: हजारीबाग में विष्णुगढ़ के लोगों ने दिया संदेश : कोरोना हारेगा, मेरा गांव जीतेगा, मेरा देश जीतेगा. झारखंड की राजधानी रांची समेत प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में कोरोना वायरस की वजह से घोषित लॉकडाउन का ज्यादा असर नहीं देखा जा रहा है. अब सभी मुहल्लों में भी गश्ती करेगी रांची पुलिस. लॉकडाउन के दौरान बाहर घूम रहे लोगों पर काबू पाने के लिए 3000 जवानों की तैनाती की गयी है. लेकिन, गांवों में पुलिस और प्रशासन इसको लेकर सख्त है. गढ़वा जिला के केतार में मोटर खराब होने की वजह से लोगों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है. फलस्वरूप ग्रामीणों को 300 मीटर दूर से चोरी-छिपे पानी लाना पड़ रहा है. इस बीच, गढ़वा में समाजसेवी युवकों ने घर-घर राशन पहुंचाने का जिम्मा उठाया है. इससे उन गरीब परिवारों को थोड़ी राहत मिली है, जो दैनिक मजदूरी करके अपना पेट पालते थे. सभी मुहल्लों में गश्ती करेगी रांची पुलिस, 3000 जवानों को किया गया तैनात

email
TwitterFacebookemailemail

कोरोना वायरस की जांच के लिए दो शिफ्ट में काम करने को तैयार रिम्स के डॉक्टर

रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग का दावा है कि एक दिन में 35-40 जांच करने की उसकी क्षमता है. जरूरत पड़ी, तो दो शिफ्ट में करेंगे जांच. रिम्स में आ गयी है कोरोना की जांच में इस्तेमाल होने वाली दूसरी रियल टाइम पीसीआर मशीन. हालांकि, अभी कुछ उपकरण आने बाकी हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

पैक्ड दूध की मांग घटी

कोरोना वायरस के डर से झारखंड में पैक्ड दूध की मांग घट गयी है. इससे डेयरी कंपनियां परेशान हैं. उनका कहना है कि पाउडर प्लांट बना होता, तो इतनी परेशानी नहीं होती.

email
TwitterFacebookemailemail

अरसंडे गांव में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक

रांची जिला के अरसंडे गांव में ग्रामीणों ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर लगा दी है रोक. मेन रोड को किया बंद.

email
TwitterFacebookemailemail

हजारीबाग में विष्णुगढ़ के लोगों ने दिया संदेश : कोरोना हारेगा, मेरा गांव जीतेगा, मेरा देश जीतेगा

Coronavirus Lockdown Jharkhand: कोरोना वायरस की जांच के लिए दो शिफ्ट में काम करने को तैयार रिम्स के डॉक्टर

हजारीबाग जिला के विष्णुगढ़ में कोरोना महामारी को फैलने से पहले ही हराने की तैयारी हो गयी है. मड़मो के युवाओं ने लॉकडाउन का समर्थन करते हुए अपने गांव की सड़क को बंद कर दिया है. कोई भी बाहरी व्यक्ति मड़मो में प्रवेश नहीं कर सकता. युवा नारे लगा रहे हैं : कोरोना हारेगा, मेरा गांव जीतेगा, मेरा देश जीतेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

रातू में सादगी से हुई सरहुल पूजा

रातू में सादगी से संपन्न हुआ सरहुल.
रातू में सादगी से संपन्न हुआ सरहुल.
संजय

रातू में प्रकृति पर्व सरहुल शुक्रवार को संपन्न हो गया. कोरोना वायरस की वजह से इस वर्ष जुलूस नहीं निकाला गया. पाहन द्वारा सरना स्थल में पूजा अर्चना की गयी.

email
TwitterFacebookemailemail

हेमंत सोरेन ने दी सरहुल की शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखंड के लोगों को प्रकृति पर्व सरहुल की शुभकामनाएं दीं हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यह पर्व विषम घड़ी में आया है. कृपया अपने-अपने घरों में रहें, सुरक्षित रहें.

email
TwitterFacebookemailemail

सभी मुहल्लों में गश्ती करेगी रांची पुलिस, 3000 जवानों को किया गया तैनात

अब सभी मुहल्लों में भी गश्ती करेगी रांची पुलिस. लॉकडाउन के दौरान बाहर घूम रहे लोगों पर काबू पाने के लिए 3000 जवानों की तैनाती की गयी है.

email
TwitterFacebookemailemail

मजदूरों को 10 किलो चावल दिलवायेंगी नगर पंचायत अध्यक्ष

नगर पंचायत अध्यक्ष विजया लक्ष्मी देवी.
नगर पंचायत अध्यक्ष विजया लक्ष्मी देवी.
विनोद ठाकुर

गढ़वा जिला के श्रीबंशीधरनगर की नगर पंचायत अध्यक्ष विजया लक्ष्मी देवी ने मजदूर वर्ग के उन परिवारों को, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, 10 किलो चावल उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं. ऐसे लोगों को चिह्नित करने की जिम्मेवारी वार्ड पार्षद, सहायक अभियंता व सिटी मैनेजर को दी गयी है.

email
TwitterFacebookemailemail

चुटिया में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं

चुटिया पावर हाउस साईं कॉलोनी के समीप गैस लेने के लिए लंबी कतार लगी है. लोग नहीं कर रहे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन.

email
TwitterFacebookemailemail

चतरा के इटखोरी में बेवजह बाहर निकले लोगों को मिली सजा

चतरा के इटखोरी में लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाया जा रहा है. जो लोग नहीं मान रहे, पुलिस उनसे कान पकड़कर उठक-बैठक करवा रही है. शारीरिक दंड भी भुगत रहे खाली-पीली घूमने वाले. सुबह से ही सख्ती दिखा रही इटखोरी पुलिस.

email
TwitterFacebookemailemail

चतरा में माइक से अनाउंसमेंट कर रहा प्रशासन

कोरोना वायरस से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए प्रशासन कर रहा अपील.
कोरोना वायरस से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए प्रशासन कर रहा अपील.
रवि

चतरा में जिला प्रशासन लाउडस्पीकर से लोगों से अपील कर रहा है कि अनावश्यक घर से बाहर न निकलें. लॉकडाउन का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

जलमीनार का मोटर खराब, चोरी से पानी लाने जाते हैं ग्रामीण

मोटर खराब. प्यास बुझाने के लिए दूर से पानी लाने जाते हैं ग्रामीण.
मोटर खराब. प्यास बुझाने के लिए दूर से पानी लाने जाते हैं ग्रामीण.
संदीप

गढ़वा जिला के केतार प्रखंड में मुख्यमंत्री जल-नल योजना से जलमीनार लगी थी. इसका मोटर खराब हो गया है. चापानल को खोलकर बोर में डाला गया था मोटर. इसके खराब होने की वजह से लॉकडाउन में लोगों को चोरी-छिपे पानी लाने के लिए दूर जाना पड़ता है. ऐसा न करें, तो दर्जनों परिवार प्यासे मर जायेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

गांवों में भी मंदिर बंद


गांवों में भी बंद हैं मंदिरों के ताले.
गांवों में भी बंद हैं मंदिरों के ताले.
धर्मेंद्र

ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रशासन पूरी सख्ती से लॉकडाउन का पालन करवा रहा है. गांव के मंदिरों को भी बंद करवा दिया गया है.

email
TwitterFacebookemailemail

पार्षद के प्रतिनिधि स्लम बस्तियों में लोगों को कर रहे जागरूक

बस्तियों में लोगों को जागरूक करते पार्षद के प्रतिनिधि.
बस्तियों में लोगों को जागरूक करते पार्षद के प्रतिनिधि.
जितेंद्र

गढ़वा नगर परिषद के सहिजना मुहल्ले की स्लम बस्तियों में रश्मि सिन्हा के प्रतिनिधि जितेंद्र सिन्हा एवं उनके सहयोगी कोरोना वायरस के बारे में लोगों को जागरूक कर रहे हैं. उन्हें बता रहे हैं कि सभी लोग अपने घरों में रहें. कहीं भीड़ न होने दें. जरूरी काम न हो, तो घर से न निकलें. बस्ती में साबुन का वितरण करते हुए कहा कि समय-समय पर हाथ धोते रहें.

email
TwitterFacebookemailemail

रांची : झारखंड की राजधानी रांची समेत प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में कोरोना वायरस की वजह से घोषित लॉकडाउन का ज्यादा असर नहीं देखा जा रहा है. लेकिन, गांवों में पुलिस और प्रशासन इसको लेकर सख्त है. गढ़वा जिला के केतार में मोटर खराब होने की वजह से लोगों को पीने का पानी नहीं मिल रहा है. फलस्वरूप ग्रामीणों को 300 मीटर दूर से चोरी-छिपे पानी लाना पड़ रहा है. इस बीच, गढ़वा में समाजसेवी युवकों ने घर-घर राशन पहुंचाने का जिम्मा उठाया है. इससे उन गरीब परिवारों को थोड़ी राहत मिली है, जो दैनिक मजदूरी करके अपना पेट पालते थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें