1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. coal scam in jharkhand 5 arrested including owner of hotel le lac ed has already filed a case of money laundering srn

कोयला घोटाले में होटल ली लैक के मालिक समेत 5 गिरफ्तार, ED ने मनी लाउंड्रिंग के आरोप पहले ही दर्ज किया है केस

कोयला में घोटाला होटल ली लैक के मालिक सहित पांच दोषी करार, विनय प्रकाश पर मनी लाउंड्रिंग के आरोप में इडी में भी दर्ज है केस, गलत ब्योरा देकर कोल ब्लॉक करा लिया था आवंटित. इन्होंने शेयर बेचकर सात करोड़ का अनुचित लाभ कमाया

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
कोयला घोटाले में होटल ली लैक के मालिक दोषी करार
कोयला घोटाले में होटल ली लैक के मालिक दोषी करार
instagram

अदालत ने मेसर्स डोमको प्रोजेक्ट को भी दोषी करार दिया है. सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए अदालत ने 15 सितंबर की तिथि निर्धारित की है. विनय प्रकाश के खिलाफ मनी लाउंड्रिंग के आरोप में रांची स्थित प्रवर्तन निदेशालय में भी प्राथमिकी दर्ज है. इडी की प्राथमिकी में विनय प्रकाश की पत्नी को भी अभियुक्त बनाया गया है.

कोयला घोटाले में सीवीसी के आदेश पर हुआ था एफआइआर :

सेंट्रल विजिलेंस कमीशन(सीवीसी) द्वारा दिये गये दिशानिर्देश के आलोक में सीबीआइ दिल्ली ने मेसर्स डोमको प्रोजेक्ट के खिलाफ कोयला घोटाले में प्राथमिकी दर्ज की थी. जांच के बाद सीबीआइ ने दिल्ली स्थित विशेष न्यायाधीश की अदालत में 22 दिसंबर 2015 को आरोप पत्र दायर किया. इसमें डोमको प्रोजेक्ट के एमडी, निदेशकों, सीए और कंपनी को आरोपी बनाया गया.

सीबीआइ द्वारा दायर आरोप पत्र में यह कहा गया था कि कंपनी के निदेशकों ने सुनियोजित साजिश के तहत गलत ब्योरा देकर कोल ब्लॉक आवंटित कराने में कामयाबी पायी थी. मेसर्स डोमको की ओर से पेश किये गये गलत ब्योरे से संबंधित दस्तावेज की जांच के बाद 19 वी स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में लालगढ़ (नाॅर्थ) कैपटिव कोल ब्लॉक आवंटित किया गया.

कोल ब्लॉक आवंटन के बाद विनय प्रकाश व अन्य ने कंपनी के शेयर को बेचकर सात करोड़ रुपये का अनुचित लाभ कमाया. सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश की अदालत में मामले की सुनवाई के बाद 14 सितंबर को न्यायाधीश ने अपना फैसला सुनाया और विनय प्रकाश सहित पांच को दोषी करार दिया. अदालत ने सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए 15 सितंबर की तिथि निर्धारित की है.

अब तक सात करोड़ की संपत्ति जब्त कर चुका है इडी

कोयला घोटाले में दर्ज प्राथमिकी के आधार पर रांची स्थित प्रवर्तन निदेशालय ने विनय प्रकाश, उनकी पत्नी व अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है. इडी की प्राथमिकी में डोमको प्रोजेक्ट के अलावा मेसर्स असलेशा कॉरपोरेशन लिमिटेड को भी अभियुक्त बनाया गया है. रांची स्थित होटल लीलैक का स्वामित्व असलेशा कॉरपोरेशन के पास है. विनय प्रकाश व उनकी पत्नी इस कंपनी से संबंधित हैं. इडी ने अब तक की जांच के दौरान सात करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली है.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें