1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jharkhands tradition and culture seen in trade fair minister said new industrial policy prove to be better smj

दिल्ली के ट्रेड फेयर में दिखी झारखंड की परंपरा व संस्कृति की झलक,मंत्री बोले-नई औद्योगिक नीति होगी बेहतर साबित

नई दिल्ली के ट्रेड फेयर में झारखंड दिवस उत्सव 2021 का आयोजन हुआ. इसके माध्यम से झारखंड की पंरपरा व संस्कृति से लोगों को अवगत कराया गया. वहीं, राज्य की नई औद्योगिक नीति बेहतर साबित होने पर जोर दिया गया.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
झारखंड दिवस उत्सव के मौके पर नई दिल्ली के ट्रेड फेयर में झारखंड की परंपरा व संस्कृति की दिखी झलक.
झारखंड दिवस उत्सव के मौके पर नई दिल्ली के ट्रेड फेयर में झारखंड की परंपरा व संस्कृति की दिखी झलक.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News (रांची) : नई दिल्ली के प्रगति मैदान में चल रहे ट्रेड फेयर में बुधवार को झारखंड दिवस उत्सव का आयोजन हुआ. प्रगति मैदान के एम्फी थियेटर में झारखंड की पंरपरा और संस्कृति से लोगों को अवगत कराया गया. वहीं, झारखंड की लोक संस्कृति को प्रदर्शित भी किया गया. इस मौके पर झारखंड के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि सूक्ष्म, लघु और भारी उद्योगों के लिए मील का पत्थर साबित होगी नई औद्योगिक नीति.

झारखंड दिवस उत्सव 2021 के मौके पर शामिल मंत्री मिथिलेश ठाकुर व अन्य.
झारखंड दिवस उत्सव 2021 के मौके पर शामिल मंत्री मिथिलेश ठाकुर व अन्य.
ट्विटर.

उन्होंने पवेलियन में लगे स्टालों में उनके हुनर एवं कार्य प्रगति की सराहना करते हुए कहा कि ट्रेड फेयर राज्य में होने वाले विकास को प्रदर्शित करने का अच्छा मंच है. उन्होंने कहा कि झारखंड भगवान बिरसा मुंडा, सिदो- कान्हू सहित अन्य वीर सपूतों की भूमि है, जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में अहम भूमिका निभायी थी. साथ ही राज्य संस्कृति, पर्यटन, कला, खनिज सभी रूप से परिपूर्ण है. हमारे पास देश की कुल खनिज संपदा का 40% भाग है, जिसमें लोहा, सोना, अभ्रक, यूरेनियम आदि प्रचुर मात्रा में हैं.

मंत्री श्री ठाकुर ने कहा कि हमारे पास तीर्थ स्थलों में बाबा बैद्यनाथ, रजरप्पा मंदिर, इटखोरी मंदिर, मलूटी के मंदिर आदि है. पर्यटन के दृष्टिकोण से राज्य में असीम सम्भावनाएं हैं. बेतला नेशनल पार्क, नेतरहाट, हजारीबाग आदि पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र रहते हैं. प्रदेश के उद्योग विभाग की नई औद्योगिक नीति सूक्ष्म, लघु और भारी उद्योगों के लिए मील का पत्थर साबित होने वाली है.

उन्होंने कहा कि झारखंड खेल के क्षेत्र में भी काफी प्रगति कर रहा है. क्रिकेटर महेंद्र सिंह धौनी, तीरंदाज दीपिका कुमारी के अलावा टाेकयो ओलम्पिक में अपना जौहर दिखाने वाली महिला हॉकी खिलाड़ी निक्की प्रधान, सालिमा टेटे आने वाली पीढ़ी के लिए उदाहरण है.

उद्योग विभाग तथा खान एवं भूतत्व विभाग की सचिव पूजा सिंघल ने कहा कि झारखंड प्रदेश धार्मिक, पर्यटन, खनिज, संस्कृति और उद्योग का साक्ष्य है. प्रदेश के उद्योग विभाग ने उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए नई औद्योगिक नीति का निर्माण किया है, जिससे सभी उद्योगों को प्रोत्साहन मिलेगा. इस नीति में मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों के विकास के लिए खासतौर पर रूरल इंडस्ट्रियल पॉलिसी बनायी है, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को उद्योग स्थापित करने में सुगमता रहे.

झारखंड दिवस उत्सव पर एम्फी थियेटर में झारखंड के प्रभात कुमार महतो द्वारा छऊ नृत्य, अशोक कच्छप द्वारा पाइका नृत्य, झिंगगा भगत मनोरंजन कला संगम द्वारा ओरॉन नृत्य, आरआर मेहता द्वारा मुंदरी नृत्य, झिंगगा भगत द्वारा नागपुरी नृत्य और बबीता मुर्मू द्वारा संथाली नृत्य प्रस्तुत किया गया.

इस अवसर पर झारखंड के श्रम, नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास मंत्री सत्यानंद भोक्ता, झारखंड सरकार के स्थानिक आयुक्त मस्त राम मीणा, ग्रामीण विकास विभाग के सचिव मनीष रंजन, सूचना एवं प्रौद्योगिकी एवं इ गवर्नेंस सचिव कृपानंद झा, सूडा निदेशक अमित कुमार, रेशम निदेशक दिव्यांशु झा, झारक्राफ्ट प्रबंध निदेशक आकांक्षा रंजन, झारखंड टूरिज्म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन प्रबंध निदेशक रोनिता , JSLPS की CEO नैंसी सहाय आदि वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें