1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. delay in acceptance of flyover and service lanes delay due to fresh land acquisition

फ्लाइओवर और सर्विस लेन के स्वीकृत डिजाइन में गड़बड़ी, नये सिरे से जमीन अधिग्रहण होने से देरी तय

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

कुमार आनंद, जमशेदपुर : डिमना-पारडीह चौक के बीच एनएच 33 फोेरलेन, फ्लाइओवर अौर सर्विस लेन के स्वीकृत डिजाइन में गड़बड़ी सामने आयी है. इसमें सुधार किये बिना निर्माण होने से डिमना चौक में शहर में आने-जाने वाले लोगों के लिए ट्रैफिक मूवमेंट पूरी तरह ब्लॉक हो जायेगा. इतना ही नहीं मौजूदा डिजाइन से सर्विस लेन का फायदा मानगोवासियों को नहीं मिलेगा. सूत्रों के मुताबिक डिमना-पारडीह के बीच फोरलेन के साथ सर्विस लेन, दो फ्लाइओवर (डिमना चौक से एक अौर पारडीह चौक से एक) व तीन एलिफेंट कॉरीडोर के निर्माण के लिए धरातल में सभी पहलुओं के अध्ययन किये बिना नक्शा बनाने अौर एनएचएआइ द्वारा डिजाइन की स्वीकृति देने से यह स्थिति उत्पन्न हुई है.

अब हाइकोर्ट कर रहा है मॉनिटरिंग : रांची-बहरागोड़ा फोर लेन रोड निर्माण में लगे मधुकॉन समेत अन्य एजेंसियों की सुस्ती अौर ससमय एनएच 33 फोर लेन का काम पूरा नहीं करने अौर वर्षों से जर्जर हाइवे नहीं बनने को लेकर अब झारखंड हाइकोर्ट इसकी मॉनिटरिंग कर रहा है अौर नियमित रूप से हो रही प्रगति की समीक्षा भी कर रहा है.

ये है नियम : एनएच फोरलेन के निर्माण के लिए पूरी लंबाई में 60 मीटर जमीन की जरूरत है, ताकि हाइस्पीड गाड़ियों का मूवमेंट आसानी से हो सके. वहीं, कम जमीन के अधिग्रहण होने से हाइवे के ठीक बगल में हमेशा सड़क दुर्घटना की आशंका बनी रहेगी. मानक के मुताबिक 60 मीटर जमीन के जद में आने वाले रैयत को भूमि अधिग्रहण नियम से अौर पुनर्वास अधिनियम के तहत मुआवजा का प्रावधान भी है.

1. 45 मीटर चौड़ी जगह में फोरलेन के स्वीकृत डिजाइन के अनुरूप जमीन का अतिरिक्त अधिग्रहण नहीं किया गया, इस कारण रोड के लिए उपलब्ध जमीन में ही दोनों ओर से जलापूर्ति की पाइपलाइन, बिजली के लाइन व पोल लगाये गये हैं. इस कारण रोड के समानांतर सर्विस लाइन के लिए मात्र दो से पांच मीटर जगह बच रही है. इससे हमेशा सर्विस लेन में ट्रैफिक जाम रहेगी.

2. डिमना चौक के फ्लाइओवर की चौड़ाई करीब 29 मीटर है, जबकि मौजूदा वहां जगह करीब 31 मीटर है. ऐसी स्थिति में फ्लाइओवर बनने से करीब दो मीटर जगह में सर्विस लेन बनकर भी इसका फायदा किसी को नहीं मिलेगा.

3. पारडीह चौक पर केवल दायीं लेन में अंडर पास का प्रावधान है, लेकिन बायीं लेन में सर्विस रोड का प्रावधान नहीं है. इस कारण जमशेदपुर से जो गाड़ियां बहरागोड़ा की अोर जायेंगी, उससे हमेशा सड़क दुर्घटना की आशंका रहेगी. यहां दोनों तरफ सर्विस लेन अौर अंडरपास की जरूरत है.

4. पारडीह-डिमना के बीच फोरलेन के स्वीकृत डिजाइन से निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण होने पर कई घर जद में आयेंगे, इससे प्रोजेक्ट का रेट, मुआवजा व जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया में समय लगना तय है.

5. दिसंबर 2020 तक प्रोजेक्ट का पूरा होने का समय है, लेकिन कोविड-19 के कारण छह माह का एक्सटेंशन एनएचएआइ से मिला है, जो जून 2021 तक पूरा करना है. लेकिन प्रोजेक्ट की मौजूदा डिजाइन संशोधित किये बगैर इसका फायदा नहीं मिल पायेगा.

क्या-क्या स्वीकृत डिजाइन में है

1. पारडीह चौक अौर डिमना चौक के समीप एक-एक फ्लाइ ओवर अौर सर्विस लेन

2. डिमना नाला के समीपछोटा ब्रिज.

3. पारडीह कालीमंदिर के समीप व्हीकल अंडर पास (अंडरब्रिज).

4. तीन एलिफेंट पास (किलोमीटर संख्या 234, 237 अौर 244 किलोमीटर पर).

पारडीह-डिमना के बीच एनएच 33 में प्रस्तावित फोरलेन रोड, फ्लाइओवर के निर्माण में स्वीकृत डिजाइन में त्रुटि की बातें सामने आयी हैं. इसके निराकरण के लिए केंद्रीय भूतल एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से बात करेंगे, ताकि जल्द त्रुटि को दूर कर इसमें संशोधन किया जा सके.

विद्युत वरण महतो, सांसद, जमशेदपुर

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें