1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. 25th anniversary of prabhat khabar encouragement of prabhat khabar boosts confidence in women prt

प्रभात खबर की 25वीं वर्षगांठ : प्रभात खबर के प्रोत्साहन से महिलाओं में बढ़ा आत्मविश्वास- डॉ. निधि श्रीवास्तव

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
प्रभात खबर की 25वीं वर्षगांठ
प्रभात खबर की 25वीं वर्षगांठ
Prabhat Khabar

डॉ निधि श्रीवास्तव, शिक्षाविद एवं काउंसेलर

मिनी मुंबई कहे जाने वाला लौह नगरी जमशेदपुर इतना सुंदर शहर है कि एक बार जो देख ले, वह बार-बार इसकी खूसबूरती निहारना चाहता है. इस लौह नगरी की अन्य खासियत यहां की मजबूत इरादे वाली महिलाएं हैं. शहर की महिलाएं स्टील की ही तरह मजबूत इरादा रखती हैं. फिर चाहे एवरेस्ट की चोटी छूने वाली देश की पहली महिला पर्वतारोही बछेंद्री पॉल की बात करें, या फिर अधिक आयु में हिमालय के शिखर पर देश का झंडा फहराने वाली प्रेमलता अग्रवाल की. महिलाएं घर संभालने से लेकर टाटा स्टील में ट्रेन चलाने की दक्षता रखती हैं.

हर क्षेत्र में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं. नर्सिंग सेवा के लिए राष्ट्रपति सम्मान से नवाजी गयीं वॉइ शैलजा, खेल के क्षेत्र में बॉक्सर अरुणा मिश्रा, तीरंदाज दीपिका, अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा, तनुश्री दत्ता, संगीत जगत में शिल्पा राव ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है.

इनके अलावा महिलाएं साहित्य, कला, सिनेमा, रंगमंच, कॉरपोरेट सेक्टर, मीडिया, शिक्षा, चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, विज्ञान आदि क्षेत्रों में अपना परचम लहराते हुए शहर का मान और सम्मान बढ़ा रही हैं. बुलंद हौसले, कड़ी मेहनत और लगातार परिश्रम की क्षमता रखने वाली शहर की महिलाएं देश के जिस कोने में जाती हैं, उन्हें स्टील सिटी की स्टील वीमेन के खिताब से नवाजा जाता है. टाटा स्टील की स्थापना के शुरुआती दौर से लेकर अब तक कंपनी को आगे बढ़ाने और शहर के विकास में महिलाओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. टाटा स्टील ने भी महिलाओं को हर क्षेत्र में बढ़ने का मौका दिया.

खेलकूद में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए शहर से लेकर गांव तक महिलाओं को उचित प्रशिक्षण देने की व्यवस्था कंपनी की ओर से की गयी. प्रशिक्षण प्रदान कर कंपनी में पुरुषों के बराबरी पर काम करने का मौका दिया गया. सिलाई, कढ़ाई, ब्यूटीशियन, नृत्य-संगीत आदि में रुचि रखने वाली महिलाओं के लिए सामुदायिक केंद्र में प्रशिक्षण की व्यवस्था की गयी. उचित मंच मिलने पर महिलाओं ने अपने घर-परिवार की जिम्मेदारी संभालते हुए शिक्षा, साहित्य, कला, खेल सभी क्षेत्रों में अपनी काबिलियत के दम पर बेहतर मुकाम हासिल किया. जमशेदपुर देश के विकास में महत्वपूर्ण स्थान रखता है.

साक्षरता के मामले में शहर देश में छठे और राज्य में पहले स्थान पर है. यहां साक्षरता दर 87.50 प्रतिशत है. 92.15 फीसदी पुरुष और 82.47 प्रतिशत महिलाएं साक्षर हैं. राज्य में शहर की महिलाएं पहले स्थान पर हैं. जमशेदपुर एक अत्याधुनिक कॉस्मोपॉलिटन शहर है. यही कारण है कि ऊंचे पदों से लेकर क्रेन चलाने, सिक्युरिटी तक के विभिन्न पदों पर महिलाएं कार्यरत हैं. कुछ दिनों पहले पार्किंग की वसूली जैसे क्षेत्र के काम का टेंडर महिलाओं को मिला है. यह जमशेदपुर की महिलाओं के आत्मविश्वास और हिम्मत को दर्शाता है.

शहर के लोकप्रिय अखबार प्रभात खबर के प्रोत्साहन ने भी लगातार महिलाओं का मनोबल और आत्मविश्वास बढ़ाया है. प्रभात खबर ने न केवल महिलाओं की उपलब्धियों को अपने अखबार में प्रमुखता से उजागर किया, बल्कि समय-समय पर उन्हें एक मंच दिया, जिससे उन्हें अपनी प्रतिभा निखारने, संवारने, खुद को सशक्त बनाने और आत्मविश्वास को सहेजने का अवसर मिला. जमशेदपुर की प्रत्येक महिला की ओर से प्रभात खबर और इसकी टीम को रजत वर्ष की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं.

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें